स्पीड पोस्ट कैसे करे (8 स्टेप्स में) जानिए हिंदी में

दोस्तों आप सभी भारतीय डाक को तो जानते ही होंगे आज के समय में भारतीय डाक अपनी सेवाएं काफी हद तक पहले के मुकाबले बेहतर बना चुका है। भारतीय डाक द्वारा प्रदान की जाने वाली एक सबसे लोकप्रिय सेवा स्पीड पोस्ट है और आप इसके जरिए अपने किसी भी सामान को समय रहते भारत में कहीं पर भी डिलीवर करवा सकते हो और अगर आप जानना चाहते हो कि स्पीड पोस्ट क्या है? और Speed Post Kaise Kare तो आज का हमारा यह महत्वपूर्ण लेख इसी विषय पर विस्तार पूर्वक से प्रस्तुत किया जा रहा है।

अनुक्रम दिखाएँ

आप भी भारतीय डाक की स्पीड पोस्ट सेवा को लेकर अपने किसी भी पोस्ट को समय रहते देश में कहीं भी आसानी से सेंड कर सकते हो। दोस्तों हम आपको आज के इस विषय पर पूरी कंप्लीट जानकारी प्रदान करने वाले हैं ताकि आप भी स्पीड पोस्ट आसानी से कर सको। हमारे द्वारा दी गई जानकारी को आप शुरू से अंतिम तक जरूर पढ़ो ताकि आपको स्पीड पोस्ट करने में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना ना करना होगा। 

और ना ही किसी और से स्पीड पोस्ट करने के तरीकों के बारे में पूछने की आवश्यकता हो। अगर आप लेख में दी गई जानकारी को मिस कर दोगे तो आपको स्पीड पोस्ट करने का तरीका समझ में नहीं आएगा और आप जब भी स्पीड पोस्ट करने जाओगे तो आपको प्रॉब्लम होगी इसीलिए लेख में कंप्लीट जानकारी को पूरा अवश्य पढ़ें।

स्पीड पोस्ट क्या है

भारतीय डाक हमें एक ऐसी सुविधा प्रदान कर आती है , जिसके माध्यम से हम किसी भी वस्तु को जल्द से जल्द किसी भी स्थान पर भेज सकते हैं , भारतीय डाक की इस सर्विस को स्पीड पोस्ट कहते हैं। इसके माध्यम से हम किसी भी वस्तु की फास्ट डिलीवरी ( fast delivery ) करते हैं। पहले के समय में स्पीड पोस्ट करने पर भी 5 से 7 दिन का समय लगता था , परंतु अब यदि हम स्पीड पोस्ट करते हैं , तो वह सिर्फ 2 से 3 दिनों में ही deliver हो जाता है।

यदि आप स्पीड पोस्ट करते हैं , तो आपको एक पर्ची मिलती है , जिस पर ट्रैकिंग नंबर भी लिखा रहता है , इस नंबर की मदद से आप अपने स्पीड पोस्ट को ट्रैक कर सकते हैं। यह सुविधा बिल्कुल ही सरल एवं सुगम है।

हम आपकी जानकारी के लिए बता देना चाहते हैं , कि भारत में पोस्ट ऑफिस की शुरुआत सन 1986 ई० हुई थी। पहले के समय में कंप्यूटर नहीं थे , इसके कारण पोस्ट को करने में बहुत ही ज्यादा समय लगता था , परंतु अब के समय में प्रत्येक पोस्ट ऑफिस में कंप्यूटर की सुविधा उपलब्ध है , जिसके कारण प्रत्येक कार्य बड़ी ही आसानी से और जल्दी से हो जाता है। अब जब स्पीड पोस्ट करते हैं , तो आपको यह बता दिया जाता है , कि डिलीवरी होने में कितना समय लगेगा।

स्पीड पोस्ट करने के लिए रिक्वायरमेंट 

दोस्तों स्पीड पोस्ट करने से पहले आपको कौन-कौन चीजों की रिक्वायरमेंट होगी इस जानकारी को जानना बेहद जरूरी है क्योंकि आपको उस दौरान इसकी बेहद आवश्यकता होगी इसीलिए चलिए आगे जानते हैं कि स्पीड पोस्ट करने के लिए क्या क्या रिक्वायरमेंट है? जिसकी जानकारी नीचे हमने पॉइंट के माध्यम से आपको समझाई हुई है।

  • आपको भारतीय गवर्नमेंट द्वारा निर्धारित किए गए निर्धारित एनवेलप जरूरत होगी।
  • आपको जहां भी स्पीड पोस्ट करना है उस जगह का कंपलीट एड्रेस पता होना चाहिए और आपको वही एड्रेस एनवेलप पर भी लिखना होगा।
  • एड्रेस के साथ-साथ आपको एनवेलप पर अपना मोबाइल नंबर और जहां पर आप को स्पीड पोस्ट भेजना है उनका मोबाइल नंबर लिखना चाहिए ताकि डिलीवरी के दौरान कूरियर बॉय को कोई प्रॉब्लम ना हो।
  • आप अगर कोई भारी समान स्पीड पोस्ट कर रहे हो तो आपको उसका वजन करवाना होगा और उसी अनुसार आपको उसकी फीस भी देनी होगी।
  • आपका सामान जितने भी वजन का है उतना फीस देने के बाद आपको स्पीड पोस्ट का भी चार्ज देना होगा।
  • इसके बाद आपको काउंटर से अपनी रसीद प्राप्त करनी होगी ताकि अगर डिलीवरी में कोई प्रॉब्लम हो या फिर आपको कोई कंप्लेंट करनी हो तो आपके पास रशीद पहले से मौजूद हो।

इसे भी जाने

स्पीड पोस्ट कैसे करें

दोस्तों अगर आपको स्पीड पोस्ट करने का तरीका नहीं मालूम है और आप जानना चाहते हो तो कोई बात नहीं यहां पर हम आपको स्पीड पोस्ट करने का पूरा कंपलीट तरीका बताने वाले हैं। बस आपको स्पीड पोस्ट करने से पहले हमारे इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ना होगा और नीचे दी गई जानकारी को समझना होगा ताकि आप स्पीड पोस्ट आसानी से कर सको और आपको स्पीड पोस्ट करना आ जाए।

1. पहले स्टैंडर्ड साइज का एनवेलप ले 

दोस्तों किसी भी चीज को कहीं भी भेजने के लिए सबसे पहले हमें एनवेलप की जरूरत होती है और आपको स्पीड पोस्ट करने के लिए एक स्टैंडर्ड साइज का जो गवर्नमेंट के द्वारा निर्धारित किया गया साइट है उस साइज का  एनवेलप ले लेना है ताकि आप स्पीड पोस्ट  कर सको।

2. सेंडर और रिसीवर का एड्रेस लिखें

अब आपको उस एनवेलप पर From और To address को सही सही लिखें मतलब की आपको सेंडर और रिसीवर का कंपलीट ऐड्रेस एनवेलप पर लिखना होगा ताकि आप स्पीड पोस्ट कर सको।

3. सेंडर और रिसीवर का मोबाइल नंबर लिखें

दोस्तों कभी कभी रिसीवर को उसका स्पीड पोस्ट नहीं मिलता है और स्पीड पोस्ट किन्ही कारणों से वापस आ जाता है। ऐसी सिचुएशन में अगर आपने अपने एनवेलप पर अपना और स्पीड पोस्ट रिसीवर का मोबाइल नंबर लिखा होगा तो किसी भी प्रकार की प्रॉब्लम आने पर आपको स्पीड पोस्ट के तरफ से कॉल किया जा सकता है ताकि आप की डिलीवरी सही से एवं समय रहते हो सके और आपका स्पीड पोस्ट वापस ना आने पाए।

4. अपने एनवेलप पर स्पीड पोस्ट जरूर लिखें

दोस्तों आपको स्पीड पोस्ट करने के दौरान एक सबसे महत्वपूर्ण बात पर ध्यान देना बेहद जरूरी है और वह है कि आपको अपने एनवेलप पर स्पीड पोस्ट लिखना होगा ताकि आपको इंडियन पोस्ट स्पीड पोस्ट की सर्विस प्रदान कर सके और उसे मालूम हो सके कि आप आखिर कौन सी इंडियन पोस्ट की सर्विस ले रहे हो।

5. अपना स्पीड पोस्ट काउंटर पर सबमिट करें

अब आपका स्पीड पोस्ट भेजने के लिए पूरी तरीके से रेडी है और आप इसे भेजने हेतु सबसे पहले अपने नजदीकी इंडियन पोस्ट ऑफिस में चले जाइए और वहां पर काउंटर पर अपने स्पीड पोस्ट को सबमिट कर दीजिए।

6. अब आपके स्पीड पोस्ट का वजन होगा

प्रत्येक स्पीड पोस्ट का वजन किया जाता है और उसी अनुसार सर्विस लेने वाले व्यक्ति से चार्ज किया जाता है ताकि वजन के हिसाब से वह अपनी सर्विस को बेहतर तरीके से आपको प्रदान कर सकें और अब आपको अपना स्पीड पोस्ट का वजन करवाना होगा। काउंटर पर स्पीड पोस्ट जमा करते ही आपका सबसे पहला काम वजन कराने का पूरा किया जाएगा।

7. स्पीड पोस्ट की फीस जमा करें 

आपके स्पीड पोस्ट के वजन के अनुसार काउंटर पर आपको फीस जमा करवानी होगी और साथ ही में आपको स्पीड पोस्ट सर्विस लेने के लिए भी फीस देना होगा और आपको इन दोनों ही फीस का भुगतान वजन कंप्लीट हो जाने के पश्चात काउंटर पर कर देना है।

8. रसीद प्राप्त करें 

जैसे ही आप ऊपर बताए गए सभी प्रोसेस को पूरा कर लेते हो वैसे ही आपको फीस का भुगतान करने के पश्चात स्पीड पोस्ट काउंटर पर इसकी रसीद प्रदान की जाएगी और आपको इसमें ‘consignment number’ लिखा हुआ नंबर मिल जाएगा और आप इस नंबर का उपयोग अपने स्पीड पोस्ट से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या या फिर कंप्लेंट के लिए एवं अपने आर्डर को ट्रैक करने के लिए भी कर सकते हो। 

ध्यान दें – जब तक आपका स्पीड पोस्ट सामने वाले को यानी कि रिसीवर को प्राप्त ना हो जाए तब तक आपको रसीद को सुरक्षित रखना है क्योंकि यही रसीद आपको किसी भी प्रकार की कंप्लेंट करने हेतु या फिर अन्य प्रॉब्लम का सलूशन पाने के लिए काफी ज्यादा उपयोगी साबित होगी। 

इसे भी जाने

स्पीड पोस्ट कैसे ट्रैक करें

What is speed post in Hindi
  • यदि आप अपने स्पीड पोस्ट को ट्रैक ( track ) करना चाहते हैं , तो आपको सबसे पहले भारतीय डाक विभाग की वेबसाइट ( website of Indian dakia department ) पर जाना होगा।
  • आप जैसे ही इस वेबसाइट को ओपन ( open) करते हैं , तब आपको स्पीड पोस्ट ट्रैक ( speed Post track) का ऑप्शन ( option) मिल जाता है।
  • इस ऑप्शन पर क्लिक ( click) करने के बाद आपको और right side में ट्रैकिंग आईडी ( tracking id ) या कंसाइनमेंट नंबर ( consignment number ) का ऑप्शन मिलेगा।
  • यदि आपके पास ट्रैकिंग आईडी ( tracking id ) है , तो आप ट्रैकिंग आईडी का ऑप्शन को सिलेक्ट करें और यदि आपके पास कंसाइनमेंट नंबर है , तो आप कंसाइनमेंट नंबर का ऑप्शन सेलेक्ट कीजिए।
  • इतना करने के बाद आप जिस ऑप्शन को सिलेक्ट करते हैं , वह नंबर डालें और कैप्चा ( captcha code ) कोड भरकर ट्रैक के ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए।
  • आप जब ट्रैक के बटन पर क्लिक कर देते हैं , तो आपके सामने आपके पोस्ट कार्ड स्टेटस आ जाता है , आप यहां पर देख सकते हैं , कि आपका पोस्ट कहां पहुंचा है।

SMS के माध्यम से स्पीड पोस्ट कैसे ट्रैक करें ?

यदि आप बिना इंटरनेट के स्पीड पोस्ट को ट्रैक करना चाहते हैं , तो नीचे लिखे गए स्टेप्स को ध्यानपूर्वक पढ़ें ।

  • सबसे पहले आपको अपने मोबाइल का मैसेज बॉक्स ओपन करना है।
  • अब आपको यहां पर post track और consignment number लिखना होता है।
  • इतना करने के बाद आपको 51969 या 166 पर इस मैसेज को भेज देना है , आपके मोबाइल से साधारण मैसेज का चार्ज ( normal message charge ) ही कटता है।
  • यदि आप जब मैसेज भेज देते हैं , तो आपके मैसेज इनबॉक्स में स्पीड पोस्ट का स्टेटस मिल जाता है।

स्पीड पोस्ट करने में कितना चार्ज लगता है

स्पीड पोस्ट में लगने वाला चार्ज निम्नलिखित है :-

वजनस्थानीय200 कि.मी. तक201 से 1000 कि.मी.तक1001 से 2000 कि.मी.. तक2000 कि.मी. के ऊपर
50 ग्राम तकरु. 18रु. 41रु. 41रु. 41रु. 41
51 ग्राम से 200 ग्राम तकरु. 30रु. 41रु. 47रु. 71रु. 83
51 ग्राम से 200 ग्राम तकरु. 35रु. 59रु. 71रु. 94रु. 106
501 ग्राम से 1000 ग्राम तकरु. 47रु. 77रु. 106रु. 142रु. 165
1001 ग्राम से 1500 ग्राम तकरु. 59रु. 94रु. 142रु. 189रु. 224

स्पीड पोस्ट के लाभ क्या है

  • हम किसी भी समय स्पीड पोस्ट कर सकते हैं , क्योंकि स्पीड पोस्ट की सुविधा 24 घंटे उपलब्ध रहती है।
  • यदि आप सदैव स्पीड पोस्ट का ही उपयोग करते हैं , तो आपको छूट मिल जाती है।
  • स्पीड पोस्ट का सबसे अच्छा फायदा यही है, कि यह cash on delivery की भी सुविधा प्रदान कर आती है।
  • स्पीड पोस्ट को पते पर पहुंचने के बाद आपके दिए गए mobile number पर SMS के द्वारा सूचित किया जाता है।
  • यह सुविधा बहुत ही fast होती है , इसके माध्यम से आपका डाक 3 से 4 दिन में ही पहुंच जाता है।
  • इन सभी लाभ के साथ – साथ आप को सबसे बड़ा लाभ यह होता है , कि आपका काफी समय बच जाता है।

स्पीड पोस्ट के नुकसान

कई सारे लोग स्पीड पोस्ट करने से पहले सोचते हैं कि क्या इसका कोई नुकसान है या फिर नहीं तो हम आपको बताना चाहेंगे कि स्पीड पोस्ट इंडियन पोस्ट की एक बेहतर सर्विस है और इससे ज्यादा सुरक्षित एवं किफायती कोई और सर्विस नहीं हो सकती इसीलिए स्पीड पोस्ट करने का कोई भी अपना नुकसान नहीं है बल्कि इसका फायदा ही फायदा है और हम तो आपको यही कहेंगे कि आप ज्यादा से ज्यादा भारतीय पोस्ट सर्विस का इस्तेमाल करें ताकि हम अपने आप को स्वदेशी बना सके और स्वदेशी सेवाओं का उपयोग करके देश को अंदर से मजबूत कर सके।

स्पीड पोस्ट कैसे करे के बारे में FAQ

Q. हमें स्पीड पोस्ट करने के लिए कितना चार्ज देना होता है?

स्पीड पोस्ट करने के लिए हमें निर्धारित शुल्क ही देना होता है , यह शुल्क वजन और दूरी पर निर्भर करता है।

Q. क्या हम अपने डाक को ट्रैक कर सकते है?

जी हां ! हम अपने डाक को consignment number के माध्यम से ट्रैक कर सकते हैं।

निष्कर्ष

आज के समय में प्रत्येक व्यक्ति अपना समय बचाने के लिए स्पीड पोस्ट का उपयोग करता। स्पीड पोस्ट का उपयोग करके हम किसी भी डाक को भारत के किसी भी कोने में बड़ी ही आसानी से भेज सकते हैं। स्पीड पोस्ट करने के लिए हमें अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस में जाना होता है। स्पीड पोस्ट का उपयोग करके हम अपना समय और पैसा दोनों बचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.