Bonafide Certificate in Hindi – बोनाफाइड सर्टिफिकेट के लिए आवेदन कैसे करें

5/5 - (1 vote)

Bonafide Certificate in Hindi: भारत में जो व्यक्ति रहता है उसे अपने मूल निवास स्थान का एक प्रमाण पत्र बनाना पड़ता है अर्थात एक वास्तविक प्रमाण पत्र जो इस बात की पुष्टि करें कि आप भारत में कहां रहते है। बहुत सारे जगहों पर आपसे आपके निवास स्थान का प्रमाण पत्र मांगा जाता है इस वजह से भारत के सभी नागरिकों के लिए यह आवश्यक है कि वह अपना मूल निवास प्रमाण पत्र बनाए जिसे हम बोनाफाइड सर्टिफिकेट कहते हैं। 

अगर आप यह नहीं जानते कि बोनाफाइड सर्टिफिकेट क्या होता है तो आज इस लेख में हम आपको बताएंगे Bonafide Certificate in Hindi के बारे में और आपको यह भी बताएंगे कि आपको इस सर्टिफिकेट की जरूरत कहां पड़ेगी और इसे आप कैसे बना सकते हैं। 

बोनाफाइड सर्टिफिकेट क्या है

साधारण तौर पर बोनाफाइड सर्टिफिकेट एक दस्तावेज है जो इस बात को सत्यापित करता है कि आप कहां के निवासी है। अगर आप एक छात्र है तो आप अपनी पढ़ाई करने के लिए अपने निवास स्थान से दूर या कहीं और जाकर पढ़ाई कर सकते है मगर वहां आपको अगर किसी प्रकार का कार्यालय या सरकारी काम करना पड़ता है तो आपको यह बताना पड़ेगा कि आप कहां के निवासी है। 

इसके अलावा बहुत सारे ऐसे कार्य है जहां छात्र का बोनाफाइड सर्टिफिकेट मांगा जाता है जिसे लेने के लिए आप छात्र के विद्यालय जा सकते है खासतौर पर जब आप किसी स्कॉलरशिप के लिए आवेदन करते है तो आपका मूल निवास प्रमाण पत्र मांगा जाता है इसके अलावा जब आप अपनी पढ़ाई पूरी कर लेंगे किसी कंपटीशन एग्जाम की तैयारी करेंगे तब भी सरकारी कार्यालय में आपको अपना बोनाफाइड सर्टिफिकेट देना होगा जिसे हिंदी में मूल निवास प्रमाण पत्र या वास्तविक प्रमाण पत्र कहते हैं। 

बोनाफाइड सर्टिफिकेट के लिए जरूरी दस्तावेज

बोनाफाइड सर्टिफिकेट के लिए अब दो प्रक्रिया से आवेदन कर सकते हैं पहला ऑनलाइन और दूसरा ऑफलाइन। 

जब आप ऑनलाइन आवेदन करेंगे तब भी आपको उन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी बस आपको उन दस्तावेज के फोटो कॉपी को स्कैन करके ऑनलाइन अपलोड करना होगा मगर जब आप ऑफलाइन आवेदन करेंगे तो इन सभी दस्तावेज के फोटो कॉपी को तहसीलदार के पास लेकर जाना होगा। 

Bonafide certificate बनाने के लिए आपको जिन जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता है उनके बारे में नीचे बताया गया है उन सभी दस्तावेजों को ध्यानपूर्वक पढ़ें। 

  • दो पासपोर्ट साइज फोटो
  • पैन कार्ड 
  • राशन कार्ड या वोटर आईडी
  • दसवीं का मार्कशीट (अगर मौजुद है तो)
  • 12वीं का मार्कशीट (अगर मौजूद है तो)

मूल निवासी प्रमाण पत्र के आवेदन करने के लिए ऊपर बताए सभी दस्तावेजों को जरा ऑक्स करवा कर अपने पास तैयार रखें। 

इसे भी पड़े

BPO Full Form In Hindi ? | टेलीकॉलर में बीपीओ का क्या मतलब होता है।

Bonafide certificate के लिए आवेदन प्रक्रिया

अगर आपको बोनाफाइड सर्टिफिकेट की आवश्यकता है और आप इसे किस प्रकार ऑनलाइन आवेदन कर सकते है तो इस बात को विस्तार पूर्वक नीचे समझाया गया है उसे ध्यान से पढ़ें। 

Bonafide certificate बनाने की ऑफलाइन प्रक्रिया 

आप मूल निवास प्रमाण पत्र या वास्तविक प्रमाण पत्र के लिए ऑफलाइन किस प्रकार अपने पंचायत या तहसील कार्यालय में जाकर आवेदन कर सकते हैं इस बात को विस्तार पूर्वक बताया गया है। 

Step 1 – सबसे पहले आपको अपने मूल निवास स्थान के पंचायत में जाकर बोनाफाइड सर्टिफिकेट के लिए आवेदन करने वाला आवेदन पत्र लेकर आना है। 

Step 2 – उस आवेदन पत्र में विस्तार पूर्वक सभी जानकारी सही से भरने के बाद उसे अपने पंचायत सदस्य या सरपंच का हस्ताक्षर करवाना है उसके बाद किसी एक ग्रेड ऑफिसर से उस पर साइन कराना है जिसे अटेस्टेड करवाना भी कहते हैं। 

Step 3 – याद रखें आवेदन पत्र पर दो साक्षी हस्ताक्षर करवाना आवश्यक है उसके बाद इस आवेदन पत्र में अपने सभी दस्तावेज को जोड़ लें और पासपोर्ट साइज फोटो चिपका दें। 

Step 4 – उसके बाद आपको अपना आवेदन पत्र और सभी दस्तावेज लेकर तहसील जाना है अपने इलाके का तहसील ऑफिस कहां है यह पता लगाएं और उस तहसील ऑफिस में एक काउंटर बना होता है जहां इस प्रकार के आवेदन पत्र को जमा किया जाता है वहां जाकर अपना आवेदन पत्र सभी दस्तावेज के साथ जमा कर दें। 

Step 5 – जमा होने के बाद आपको 10 से 15 दिन का इंतजार करना है मूल निवास प्रमाण पत्र आने में 10 से 15 दिन का वक्त लगता है वह सभी प्रकार की जानकारी ले लें और 10 से 15 दिन बाद तहसील के कार्यालय में जाकर अपना मूल निवास प्रमाण पत्र ले आए। 

Bonafide certificate के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

अगर आपको बोनाफाइड सर्टिफिकेट अकेली है ऑनलाइन आवेदन करना है तो नीचे बताए हुए जरूरी निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करें। 

Step 1 – सबसे पहले अपने मोबाइल या कंप्यूटर में किसी भी प्रकार का ब्राउजर खोलें और ऑनलाइन ना बोनाफाइड सर्टिफिकेट बनाने की ऑफिशियल वेबसाइट को सर्च करें। 

Step 2 – इस बात का ध्यान रखें कि हर राज्य के लिए अलग-अलग ऑफिशियल वेबसाइट होती है अर्थात अगर आप बिहार से हैं तो आपके लिए अलग ऑफिशियल वेबसाइट होगी और पश्चिम बंगाल के व्यक्ति के लिए अलग ऑफिशियल वेबसाइट होगी तो अपने राज्य अनुसार बोनाफाइड सर्टिफिकेट के ऑफिशियल वेबसाइट खोज लें। 

Step 3 – उसके बाद उस ऑफिशियल वेबसाइट पर अपना एसएसओ अकाउंट बना ले। 

Step 4 – जब आप अपना एसएसओ अकाउंट बना लेंगे तब आपसे ईमित्र आईडी मांगी जाएगी अगर आपके पास ई-मित्र आईडी नहीं है तो अपने नजदीकी कैसे में जाएं जहां यह सारे कार्य होते हैं ज्यादातर कैसे में बोनाफाइड सर्टिफिकेट बनाने का कार्य किया जाता है वहां वो लोग अपना ईमित्र आईडी डाल कर एक नया पेज ओपन करेंगे। 

Step 5 – जब ई मित्र का नया पेज ओपन होगा तो सर्च बार में मूल निवास प्रमाण पत्र या बोनाफाइड सर्टिफिकेट सर्च कर ले जिसके बाद आपके सामने मूल निवास प्रमाण पत्र का एप्लीकेशन ओपन हो जाएगा। 

Step 6 – वहां आप न्यू रजिस्ट्रेशन का विकल्प चुनें और अपना रजिस्ट्रेशन करने के बाद पूछी हुई सभी जानकारी को विस्तार पूर्वक भर दें। 

Step 7 – सभी जानकारी सही पूर्वक आभार देने और अपने दस्तावेज को अपलोड करने के बाद आपको सबमिट कर देना है जिसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जहां आपको रजिस्ट्रेशन की कुछ है फीस देनी होगी। 

Step 8 – उस फीस का भुगतान कर दें और आपका जो एप्लीकेशन नंबर है उसे लिख ले आपका मूल निवास प्रमाण पत्र बना है या नहीं या कब तक बन जायेगा यह चेक करने के लिए इस एप्लीकेशन नंबर की जरूरत पड़ेगी। 

Bonafide certificate के फायदे 

  • मूल निवास प्रमाण पत्र का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप अपने आप को यह साबित कर सकते हैं कि आप उस जगह के निवासी हैं। 
  • आप अपना हक भारत के किस निवास स्थान से मांग रहे है इस बात की पुष्टि करने के लिए मूल निवास प्रमाण पत्र की आवश्यकता पड़ती है। 
  • जब आप किसी नौकरी के लिए आवेदन करेंगे तब आपको यह बात साबित करनी होगी कि आप भारत के निवासी हैं जो मूल निवास प्रमाण पत्र से आसानी से साबित हो सकता है। 
  • इन सबके अलावा छात्रों को सरकार की ओर से बहुत सारी लाभ दिए जाते हैं जिनका फायदा आप मूल निवास प्रमाण पत्र होने के बाद ही उठा सकते हैं। 

Frequently Asked Questions (FAQ)

Q. Bonafide certificate का Hindi क्या होता है?

Ans. Bonafide certificate को हिंदी में मूल निवास प्रमाण पत्र या वास्तविक प्रमाण पत्र कहते हैं।

Q. मूल निवास प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कैसे कर सकते हैं?

Ans. आप अपने राज्य के आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपने मूल निवास प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं इसके लिए आपको जिस जरूरी दस्तावेज की आवश्यकता है वह पैन कार्ड, वोटर आईडी, मार्कशीट और पासपोर्ट साइज फोटो है।

Q. मूल निवास प्रमाण पत्र का ऑफलाइन आवेदन करने के लिए किस कार्यालय में जाना चाहिए?

Ans.  मूल निवास प्रमाण पत्र का आवेदन करने के लिए आपको अपने इलाके के तहसील कार्यालय में जाना चाहिए।

Q. मूल निवास प्रमाण पत्र क्या बोनाफाइड सर्टिफिकेट क्या होता है?

Ans. मूल निवास प्रमाण पत्र एक ऐसा दस्तावेज है जिससे आप इस बात का सत्यापन कर सकते हैं कि आप भारत के किस स्थान के मूल निवासी हैं।

निष्कर्ष

आज के इस महत्वपूर्ण लेख में हमने आप सभी लोगों को Bonafide Certificate in Hindi के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है। हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई आज की जानकारी आपके लिए काफी हेल्पफुल और यूज़फुल रही होगी।

अगर आपको हमारी यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। ताकि आप के माध्यम से अन्य लोगों को भी इस विषय पर जानकारी मिल सके।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे। हमारे इस लेख को शुरू से अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद और आपका कीमती समय शुभ हो।

Share on:

मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं?, आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। धन्यवाद Gmail ID - [email protected]

Leave a Comment