computer monitor kya hai in Hindi

मॉनिटर क्या है ? , मॉनिटर कैसे काम करता है ? और यह कितने प्रकार के होते हैं। computer monitor kya hai

Monitor full information in Hindi: दोस्तों हमने अपने पिछले लेख में कंप्यूटर क्या है ? और कंप्यूटर से संबंधित बेसिक जानकारी आपको प्रदान की थी। आज हम अपने इस लेख के माध्यम से आप सभी लोगों को कंप्यूटर के ही 1 मुख्य भाग मॉनिटर के बारे में बताने वाले हैं। आज का आधुनिक समय है और लगभग सभी प्रकार के डिजिटल कार्य कंप्यूटर के सहायता से ही किए जा रहे हैं।

ऐसे में तो कंप्यूटर एक प्रकार से फैमिलियर रूप में गिना जाता है, परंतु ज्यादातर लोग कंप्यूटर के बारे में एवं कंप्यूटर से जुड़े हुए अन्य चीजों के बारे में जानकारी नहीं जानते हैं। आप जिस कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं और कंप्यूटर आपके सामने जो कि दृश्य प्रस्तुत करता है, वह दृश्य मॉनिटर की सहायता से ही दिखाए जाते हैं। यदि हम कंप्यूटर में से मॉनिटर को निकाल दे तो हम कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे, क्योंकि हमें उस में कुछ दृश्य नहीं दिखाई देगा, तो हम कौन सा काम कर पाएंगे।

आज हम अपने इस लेख में आप सभी लोगों को मॉनिटर क्या है मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं मॉनिटर कैसे कार्य करता है और मॉनिटर से जुड़े हुए कुछ अन्य महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे। आज के हमारे इस महत्वपूर्ण लेख यानी कि मॉनिटर क्या है ? एवं इसके प्रकार से संबंधित जानकारी हासिल करने के लिए इसे अंतिम तक अवश्य पढ़ें।

मॉनिटर क्या है ? (What is computer monitor  kya hai in Hindi)


Definition of computer monitor in Hindi: यह कंप्यूटर और सीपीयू के बीच एक प्रकार से माध्यम का कार्य करता है, तो इसे हम एक इलेक्ट्रानिक यंत्र कहते हैं। यह जानकारियों को वीडियो टेक्स्ट और फोटो के माध्यम से हमें प्रदर्शित करने का कार्य करता है। एक प्रकार से हम इसे कंप्यूटर सिस्टम का आउटपुट डिवाइस भी कह सकते हैं। इसके अतिरिक्त इसे विजुअल डिस्प्ले यूनिट के नाम से जाना जाता है, ऐसे लोग शॉर्टकट में विडिऊ ( VDU ) कहते हैं। यदि कंप्यूटर में मॉनिटर का इस्तेमाल ना किया जाए तो कंप्यूटर उपभोक्ता किसी भी प्रकार के कार्य को कंप्यूटर की सहायता से करने में विफल रहेगा।

मॉनिटर का फुल फॉर्म क्या होता है ? ( Full form about computer monitor in Hindi )


Computer monitor full form information in Hindi: अब आइए आप सभी लोगों को कंप्यूटर मेंसभी प्रकार की जानकारियों को प्रदर्शित करने का कार्य करने वाले मॉनिटर शब्द का फुल फॉर्म जानते हैं।

Monitor : –

  • M = Machine
  • O = outputs
  • N = number of
  • I = information
  • T = to
  • O = organize
  • R = report

मॉनिटर कैसे कार्य करता है ? ( How to work computer monitor in Hindi )


Computer monitor work information in Hindi: मॉनिटर कंप्यूटर उपभोक्ताओं को किसी भी प्रकार की जानकारी को विजुअल रूप में प्रदर्शित करने का रियल टाइम में काम करता है। यदि मॉनिटर ना हो तो कोई भी कंप्यूटर उपभोक्ता कंप्यूटर के साथ अपना संपर्क नहीं जोड़ सकता है।

मॉनिटर की विशेषताओं को देखते हुए ऐसे लोग अलग-अलग नामों से जानते हैं जैसे कि :- screen, display unit, visual unit, video display, video screen आदि और भी नामों के माध्यम से हम इसे जानते हैं।

जब हम कंप्यूटर पर किसी भी प्रकार का कमांड वर्क करते हैं, तो सीपीयू हमारे द्वारा दिए गए कमांड की प्रोसेसिंग करता है और उसके बाद वह आउटपुट डिवाइस की सहायता से हमें अपनी जानकारी को विजुअल करता है।

कंप्यूटर में एक वीडियो ग्राफर कार्ड को लगाया जाता है, जो ग्राफिक की सहायता से सभी प्रकार की जानकारियों को विजुअल रूप में कन्वर्ट करके हमें मॉनिटर के माध्यम से प्रदर्शित करने का कार्य करता है।

कंप्यूटर मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं ? (How many types of computer monitor in Hindi)


Type of computer monitor information in Hindi: जैसे जैसे समय और टेक्नोलॉजी में बढ़ोतरी होती गई वैसे वैसे ही कंप्यूटर मॉनिटर के टेक्नोलॉजी में भी काफी ज्यादा एडवांस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाने लगा है। आज के जमाने के अनेकों प्रकार के एडवांस मॉनिटर मौजूद हैं, जिनकी अपनी अलग विशेषताएं हैं। चलिए जानते हैं, कंप्यूटर मॉनिटर कितने प्रकार के मौजूद हैं और आज के जमाने में कौन सा कंप्यूटर मॉनिटर इस्तेमाल किया जा रहा है ? । हमने कंप्यूटर मॉनिटर के प्रकार का वर्णन इस प्रकार से निम्नलिखित रुप में किया है।

  • सीआरटी मॉनिटर ( CRT monitor ) :-

    इस वाले प्रकार के मॉनिटर में जानकारियों को विजुअल रूप में प्रदर्शित करने के लिए कैथोड रे ट्यूब (cathode ray tube) का इस्तेमाल किया जाता है। एलसीडी मॉनिटर की तुलना में सीआरटी मॉनिटर कॉपी ज्यादा बड़े आकार के होते थे और इन्हें इस्तेमाल करने में काफी ज्यादा बिजली का बिल उपयोग करना पड़ता था। इस प्रकार के मॉनिटर को कहीं भी ले जाने आने में समस्याओं का सामना करना पड़ता है। 1970 के दशक में कंप्यूटर मॉनिटर ब्लैक एंड व्हाइट स्क्रीन पर विजुअल डिस्प्ले करता था।
  • एलसीडी मॉनिटर (LCD monitor) :-
    एलसीडी मॉनिटर के निर्माण में लिक्विड क्रिस्टल का इस्तेमाल किया जाता है और यह सीआरटी मॉनिटर के मुकाबले काफी ज्यादा पतले और कई गुना हल्के होते हैं, जिसकी वजह से इन्हें कहीं भी आसानी से ले जाया जा सकता है। इसकी विशेषताओं देखते हुए इसे लिक्विड क्रिस्टल डिस्पले (liquid crystal display) के नाम से जाना जाता है। लैपटॉप का किया जाने लगा तब लैपटॉप डिस्पले में एलसीडी डिस्पले का इस्तेमाल किया जाता था और यह बहुत ही कम बिजली की खपत में आसानी से चलते हैं।
  • टीएफटी मॉनिटर (TFT monitor) :-

    टीएफटी मॉनिटर , एलसीडी मॉनिटर के तुलना में काफी अच्छी क्वालिटी का विजुअल डिस्प्ले करता है। आज के समय में जो डेक्सटॉप कंप्यूटर होते हैं, उनमें ज्यादातर लोग टीएफटी डिस्पले का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे लोग थिन फिल्म ट्रांसिस्टर ( thin film transistor) के नाम से भी जानते हैं। यह भी बहुत ही कम बिजली की खपत में चलता है।
  • प्लाज्मा मॉनिटर ( plasma monitor) :-

    प्लाज्मा मॉनिटर अच्छे क्वॉलिटी के कंट्रास्ट वाले डिस्प्ले होते हैं। यह हमारे विजुअल एक्सपीरियंस तो काफी अच्छा बनाते हैं, क्योंकि यह कलर और ब्राइटनेस में भी काफी बेहतरीन होते हैं। यह प्लाज्मा डिस्चार्ज के सिद्धांत पर काम करता है, जो आईडियली ग्लास के फ्लैट पैनल में डिस्चार्ज कर आता है। आज मार्केट में लगभग प्लाज्मा डिस्प्ले आपको नहीं मिलेगा, क्योंकि यह काफी ज्यादा एलसीडी के मुकाबले में महंगा होता है।
  • एलसीडी मॉनिटर (LED monitor) :-

    एलसीडी मॉनिटर हमारी आंखों को प्रभावित नहीं करते हैं और यह बहुत ही कम बिजली के खर्चे पर चलते हैं। LCD display किसी भी इमेज या फिर डिस्प्ले वीडियो को दिखाने के लिए पिक्सेल के रूप में light emitting diodes का उपयोग करते हैं। आजकल अन्य मॉनिटर के मुकाबले एलसीडी डिस्पले का ही उपयोग किया जाता है।
  • ओलेड मॉनिटर ( Oled monitor ) :-

    आज डिस्पले टेक्नोलॉजी में ओलेड डिस्पले सबसे नया और अच्छी टेक्नोलॉजी के साथ आ रहा है। आज के समय में इसकी पिक्चर क्वालिटी काफी बेहतरीन है और यह आंखों को भी काफी आराम पहुंचाता है। इस प्रकार के डिस्प्ले में बहुत ही कम बिजली की खपत होती है और यह आपको काफी अच्छा विजुअल एक्सपीरियंस प्रदान करता है। इसका फुल फॉर्म organic light emitting diodes होता है। आज के समय में यह लेटेस्ट डिस्प्ले की टेक्नोलॉजी काफी महंगी है, परंतु आने वाले कुछ समय में यह काफी सस्ते दामों में भी उपलब्ध होने लगेगा।

निष्कर्ष :-

हमें उम्मीद है, कि आप सभी लोगों को आज का हमारा लेख मॉनिटर क्या है एवं इसके प्रकार बहुत ही पसंद आया होगा। यदि हमारा यह लेख आप सभी लोगों को पसंद आया हो तो इसे आप अपने मित्र जन एवं परिजन के साथ अवश्य साझा करें। आपके कोई विचार या सुझाव है, तो हमें कमेंट बॉक्स में बताएं।

FAQ :

  1. प्रश्न: मॉनिटर का आविष्कार कब और किसने किया था ? (When and who invented the monitor)

    उत्तर :- सबसे पहले कैथोड रे मॉनिटर का आविष्कार कार्ल फर्डीनांड ब्राउन (Karl Ferdinand Braun) ने 1897 में किया था।
  2. प्रश्न: मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं ? (How many types of monitor)

    उत्तर :- मॉनिटर के प्रकार इस प्रकार से निम्नलिखित हैं।
  • CRT monitor
  • TFT monitor
  • LCD monitor
  • LED monitor
  • Plasma monitor
  • Oled monitor
  1. प्रश्न: आज के जमाने में सबसे लेटेस्ट मॉनिटर कौन सा है ? ( What is the latest monitor of today )

    उत्तर :- आज के जमाने का सबसे लेटेस्ट मॉनिटर ओलेड है।
  2. प्रश्न: क्या हम बिना मॉनिटर के कंप्यूटर पर किसी भी विजुअल को देख सकते हैं ? ( Can we watch any visuals on the computer without a monitor )

    उत्तर :- जी बिल्कुल भी नहीं हम बिना किसी मॉनिटर की सहायता से कंप्यूटर पर विजुअल नहीं देख सकते हैं।
  3. प्रश्न: क्या मॉनिटर कंप्यूटर का ही एक मुख्य अंग है ? (Is the monitor the main part of the computer)

    उत्तर :- जिस प्रकार के कंप्यूटर के अन्य मुख्य अंग हैं, उसी प्रकार से मॉनिटर भी कंप्यूटर का एक मुख्य अंग है, जिसके बिना हम कंप्यूटर पर किसी भी प्रकार का विजुअल कार्य नहीं कर सकते।

CPU Kya Hai in Hindi सीपीयू क्या है संपूर्ण जानकारी।

RAM kya hai in hindi | रेम की पूरी जानकारी

Keyboard kya hai in hindi full details

Share on:
About deepak yadav

Leave a Comment