Keyboard kya hai in hindi full details

Keyboard क्या है ? Keyboard kya hai  :- क्या आप जानते है कंप्यूटर के दो हाथ होते हैं, पहला हाथ Mouse को कहा जाता है और दूसरा हाथ Keyboard को, जिस तरह किसी इंसान का एक हाथ खराब हो जाए तो वो दुसरे हाथ से अपने आप को कंट्रोल कर सकता है वैसा ही सिस्टम है कंप्यूटर का है।

अगर किसी कारण से माउस खराब हो जाए तो कीबोर्ड कंप्यूटर को कंट्रोल करने में मदद करता है। आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे की Keyboard क्या है ? यह काम कैसे करता है और यह कितने प्रकार का होता है। हम आमतौर पर किस प्रकार का कीबोर्ड उपयोग करते है। यह सभी जानकारी आपको इस आर्टिकल में मिलेगी। तो आर्टिकल पूरा पढ़ें और जाने की Keyboard क्या है ?

Keyboard क्या है ? Keyboard kya hai :-

Keyboard कंप्यूटर का एक इनपुट device है। यह दिखने में बिलकुल टाइपराइटर की तरह होता है। इसपर अनेक Buttons होते है जिनकी मदद से हम कंप्यूटर को निर्देश दे सकते है और उसमे डाटा टाइप कर सकते हैं। कीबोर्ड अनेक कुंजियों का ग्रुप होता है, इसकी मदद से हम कंप्यूटर में किसी भी तरह का डाटा टाइप कर सकते हैं। इसमें कुछ ऐसी Key भी मौजूद होती है जो कंप्यूटर को Mouse की तरह कंट्रोल करने में भी मदद करती है।

Keyboard फुल फॉर्म हिंदी में

कीबोर्ड को हिंदी में ‘कुंजीपटल’ कहते है, यानि एक ऐसा पटल जिसपर अनेक कुंजियाँ (Buttons) मौजूद है। Keyboard की फुल फॉर्म कुछ इस तरह है –

Keyboard FullForm
KKeys
EElectronic
YYet
BBoard
OOperating
AA to Z
RResponse
DDirectly

Keyboard का इतिहास – कीबोर्ड के जनक कौन थे ?

कंप्यूटर का प्रमुख अंग ‘कीबोर्ड’ टाइपराइटर का ही सुधरा हुआ डिजिटल रूप है। आधुनिक कीबोर्ड का पेटेंट Christopher Latham Sholes के नाम है क्योंकि उन्होंने 1868 में इसका पेटेंट अपने नाम करवाया था। इसलिए इन्हें कीबोर्ड का जनक कह सकते हैं। क्योंकि इन्होने ही पहली बार आधुनिक कीबोर्ड को तैयार किया था।

कीबोर्ड कितने प्रकार के होते हैं ? Keyboard के layout के अनुसार

दोस्तों आज के समय में अनेक प्रकार के कीबोर्ड उपयोग में लिए जाते हैं। आज अनेक तरह के नए तकनीक के कीबोर्ड मौजूद है। लेकिन अगर हम इनके Layout के अनुसार विभजित करें तो यह मुख्य तौर पर दो तरह के होते हैं।

  1. QWERTY Keyboard Layout
  2. Non QWERTY Keyboard Layout

Qwerty Keyboard layout क्या है ?

आम तौर पर सबसे ज्यादा उपयोग में लिया जाने वाला कीबोर्ड QWERTY लेआउट Keyboard है। दुनिया में सबसे ज्यादा इसी का उपयोग किया जाता है। QWERTY Layout Keyboard को चार भागों में बांटा गया है या हम कह सकते हैं की इसे चार अलग-अलग Layout के साथ बनाया गया है। यह इस तरह है –

QWERTY – इस तरह के Layout कीबोर्ड सबसे ज्यादा उपयोग में लिए जाते हैं, आप अपने कीबोर्ड लेआउट में पहले 6 अक्षर देख सकते हैं आपको (Q,W,E,R,T,Y )लिखा नजर आएगा। यह आमतौर पर हम सभी भारतीय उपयोग करते है और विश्व के अन्य देशों में भी इसका उपयोग किया जाता है।

QWERTZ – इस कीबोर्ड उपयोग सबसे ज्यादा जर्मन (मध्य यूरोप) में किया जाता है। इसमें कीबोर्ड की पहली लाईन में Q,W,E,R,T,Z लिखा देखने को मिलेगा। माना जाता है की जर्मन भाषा में Y से ज्यादा Z का उपयोग किया जाता है।

AZERTY- इस कीबोर्ड लेआउट को फ्रेंच (फ्रांस) के लोग सबसे ज्यादा उपयोग करते है। इस कीबोर्ड की पहली लाइन के अक्सर A,Z,E,R,T,Y होते है। यानि Q और W को A और Z से Replace कर दिया गया है। यह फ्रांस के लोगों का सबसे पसंदीदा कीबोर्ड लेआउट है।

QZERTY – यह कीबोर्ड Layout इटली के लोगों के लिए बनाया गया है। इसमें कीबोर्ड की पहली लाईन में W की जगह Z को Replace कर दिया गया है। स्वीटजरलैंड और इटालियन भाषा का प्रयोग करने वाले लोग QZERTY Keyboard Layout का उपयोग सबसे ज्यादा करते हैं।

Non QWERTY Keyboard Layout क्या है ?

यह QWERTY कीबोर्ड लेआउट से बिलकुल अलग तो नहीं है पर इसमें उन अक्षरों को ज्यादा अहमियतता दी गई है जो सबसे ज्यादा उपयोग में लिए जाते है। यह यूजर के डाटा इनपुट स्पीड को बढाने के लिए बनाया गया कीबोर्ड Layout है। इसे मुख्य तीन भागो में बांटा गया है जैसे –

Dvorak – इस कीबोर्ड का अविष्कार अमेरिका के रहने वाले August Dvorak ने 1930 में किया था। इसे यूजर की Fingers Movements कम करने के डिजाईन किया गया है। यह QWERTY कीबोर्ड से आसान और जल्दी डाटा टाइप करने वाला कीबोर्ड होता है। हालाँकि इसका उपयोग हमारे भारत में बहुत कम होता है। इसमें उन अक्षरों को मध्य में रखा जाता है जो सबसे ज्यादा उपयोग किये जाते हैं। जैसे अगर हम P को सबसे ज्यादा उपयोग करते है तो P को मध्य में रखा जाएगा। इनका उपयोग ज्यादातर वैज्ञानिक या एक्स्प्रिमेंट कार्यशालाओं में होता है।

Colemak – यह लैटिन-लिपि वर्णमाला का कीबोर्ड होता है, इसे Shai Coleman ने 2006 में बनाया था। यह QWERTY और Dvorak का सुधरा हुआ वर्जन है। आज अनेक बड़ी कंपनियां इसी कीबोर्ड का उपयोग करती है और मैक और लिनक्स में यह कीबोर्ड पहले से इनस्टॉल हुआ मिलता है। इसे यूजर लगातर बढ़ते जा रहे हैं।

Workman – Workman कीबोर्ड भी Non QWERTY कीबोर्ड है। इसका उपयोग सबसे ज्यादा प्रोग्रामिंग करने वाले करते हैं। यह उन्ही की भाषा के According बना होता है। अगर एक अच्छा सॉफ्टवेर प्रोग्रामर ( डेवलपर) किसी अच्छे कीबोर्ड का उपयोग करता है तो वह Workman कीबोर्ड का ही उपयोग करता है। यह समान्य से कुछ अलग होता है।

Keyboard के कितने Buttons (Keys) होते हैं ?

एक फुल Size QWERTY कीबोर्ड में 105 से 108 Keys (Buttons) होते हैं। नार्मल कीबोर्ड जो हम उपयोग करते हैं उनमे 100 से उपर ही कीबोर्ड होते है और इन सभी कीबोर्ड का एक विशेष कार्य होता है। इन Key’s को हम 5 भागों में बाँट सकते हैं। और इन्हें आसानी से समझा जा सकता है जैसे –

  1. Alphanumeric Keys
  2. Numeric Keys
  3. Function Keys
  4. Special Keys
  5. Navigation Keys

Alphanumeric Keys – कीबोर्ड का पहला और मुख्य कुंजी भाग अल्फानमेरिक है। यह कंप्यूटर में डाटा इनपुट करने में मदद करता है। इसमें अल्फाबेट A to Z और इनके ठीक उपर Number 0 – 9 दिए गये होते हैं। इन्ही Numeric Keys में कुछ Special Character होते है जैसे !,@,#,$,%।।।)( होते हैं। इनका उपयोग डाटा इनपुट में किया जाता है।

Numeric Keys – कीबोर्ड के Right Side 0-9 तक नंबर्स दिए गये होते हैं। इन्हें Numeric Keys कहते हैं। इनमे एक Num Lock Keys भी होती है जो इन Keys को कंट्रोल करती है। यह एक Calculator की तरह होता है। जो गणना करने में उपयोगी होते हैं।

Function Keys – कीबोर्ड के टॉप यानि सबसे उपर एक लाइन होती है जो F1 से F12 तक होती है। इन्हें Function Keys कहते है। यह कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। सभी Keys का एक विशेष और अलग कार्य होता है।

Special Keys – Keyboard में कुछ ऐसे Keys भी होते है जिनका एक मुख्य कार्य होता है उन्हें Special Keys कहा जाता है। इनका कार्य भी बहुत अलग होता है। यह कंप्यूटर में बहुत से काम आसान करने का कार्य करते है। Keyboard Special Keys यह है – Alt, Shift, Tab, Insert, Prt sc, Delete, Esc, Enter, home, backspace और Space इत्यादि।

Special KeysUse
Escयह कंप्यूटर में चल रहे किसी भी टास्क को Cancel करने में उपयोग लिया जाता है।
ShiftAlphanumeric Keys में Special Character को टाइप करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।
Tabएक लाइन से दूसरी लाइन में जाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।
Insertकिसी भी डाटा को इन्सर्ट करने के लिए शोर्टकट बटन के रूप में उपयोग लिया जाता है।
Homeहोम मेन्यु में दुबारा जाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।
Prt Scकंप्यूटर की स्क्रीन का स्क्रीनशॉट लेने के लिए इस Key का उपयोग किया जाता है।
Deleteकिसी भी सिलेक्टेड टेक्स्ट, फ़ाइल, फोल्डर इत्यादि को डिलीट करने के लिए।
Enterयह Agree बटन और दूसरा पेराग्राफ लिखने के उपयोग में होता है। समान्यतौर पर इसका उपयोग Ok के लिए किया जाता है।
BackspaceडॉQमेंट बनाते वक्त अगर किसी भी तरह की टेक्स्ट में गलती होती है तो इसकी मदद से तुरंत उस एक टेक्स्ट को बिना सेलेक्ट किये डिलीट किया जा सकता है। यह एक Back Space के लिए उपयोग लिया जाता है।
Spaceयह आकार में सबसे बड़ा बटन होता है। किसी भी टेक्स्ट को पूरा करने के बाद बिच में स्पेस देने के लिए इसका उपयोग होता है।

 

Navigation Keys – किसी भी साधारण QWERTY कीबोर्ड पर चार Navigation Keys होती है। इन Keys पर Arrow का निशान बना होता है। यह Up key , Down Key , Left Key और Right Key होते हैं। यह कर्सर को दायें-बाएं, ऊपर-निचे लेजाने और वेबपेज को उपर निचे करने इत्यादि में हमारी मदद करते हैं। अक्सर गेमिंग में भी इनका उपयोग होता है।

आज कितने प्रकार के Keyboard उपलब्ध है ?

जरूरत के हिसाब से कीबोर्ड बनाये जा रहे है, आज मार्किट में अनेक तरह के कीबोर्ड हमें देखने को मिल सकते हैं। यदि आप लैपटॉप या कंप्यूटर पर काम करते हो तो आपने नार्मल कीबोर्ड QWERTY का ही उपयोग किया होगा। पर आपको जानकार हैरानी होगी की आपको Gaming, Programming और अन्य कामों के लिए अलग-अलग कीबोर्ड मिल सकते हैं। आइये बाजार में उपलब्ध मुख्य Keyboard के बारें में जानते है –

Gaming Keyboard

जो कंप्यूटर पर रोजाना गेम खेलते है उनके लिए कीबोर्ड कंपनियों ने अलग-अलग कीबोर्ड बना रखे है। इन कीबोर्ड पर गेम से संबधित कुछ Key’s होती है जो उनका गेम आसान कर देती है। एक Gaming Keyboard की कीमत 1000 से 20,000 रूपए तक होती है। यह कीमत डिपेंड करती है की आप कौनसा गेम खेलते हैं।

लैपटॉप कीबोर्ड

वैसे तो आमतौर पर लैपटॉप keyboard QWERTY वर्जन का ही होता है, पर आज कल अलग-अलग कंपनियां कुछ एक्स्ट्रा keys भी शामिल कर रही है।

Programming Keyboard

यदि आप प्रोग्रामिंग (डेवलपमेंट) के क्षेत्र में कार्य करते है तो आपको Workman Layout कीबोर्ड भी मार्किट में मिल जाएगा। यह आपके प्रोग्रामिंग के काम को आसान कर देगा। क्योंकि इसपर सभी Keys प्रोग्रामिंग से जुड़ी होती है।

Rollup Keyboard

जिन्हें लेटेस्ट टेक्नोलॉजी पसंद है वो यह Rollup Keyboard खरीद सकते है। यह रोल किया जा सकता है और इसे रोल करने के बाद यह कहीं पर भी आसानी से लेजाया जा सकता है। यह उन लोगों की सबसे ज्यादा पसंद है जो ज्यादा घूमना पसंद करते है। उन्हें यह Carry करने में आसान होता है।

Infrared Keyboard

यह आज की दुनिया का लेटेस्ट और सबसे ज्यादा आकर्षक कीबोर्ड है। इसकी लेजर लाईट टेबल पड़ती है तो टेबल पर कीबोर्ड बन जाता है। आप सिर्फ टेबल को टच करके ही कंप्यूटर में डाटा इनपुट कर सकते हैं। यह बहुत महंगा कीबोर्ड है।

Keyboard कैसे काम करता है और कंप्यूटर में कैसे कनेक्ट किया जाता है ?

कीबोर्ड कंप्यूटर में जोड़ने के लिए पहले PS.2 कनेक्टर का उपयोग किया जाता था लेकिन आज के समय में Keyboard को USB की मदद से कनेक्ट किया जा सकता है। आप कीबोर्ड की USB टाइप वायर को CPU के USB पोर्ट में कनेक्ट करके कीबोर्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं।

कीबोर्ड काम कैसे करता है – कीबोर्ड सर्किट्स,स्विच और प्रोसेसर से मिलकर बना हुआ होता है, इसका खुद का एक Processors होता है। जैसे हम किसी भी कुंजी को दबाते है तो वह सर्किट क्लोज होता है और CPU को संदेश देता है। CPU प्रोसेसर उसके संदेश को समझता है और फिर हमारे द्वारा टाइप किये गये अंक या अक्षर को कंप्यूटर के अंदर OUTPUT करके हमें दर्शाता है।

निष्कर्ष

उम्मीद है आप कीबोर्ड क्या है ? के बारें में अच्छे से समझ गये होंगे। यदि आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी है तो अपने आस-पड़ोस और दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें। आपका कंप्यूटर या कीबोर्ड से संबधित कोई सवाल है तो आप हमसे पूछ सकते हैं। हम जल्द ही आपके सवालों का जवाब देंगे।

FAQ’s

  • Q.1 कंप्यूटर के कीबोर्ड में कितने बटन होते हैं ?

उत्तर। एक साधारण कंप्यूटर कीबोर्ड में 104 बटन हो सकते हैं।

  • Q.2 कीबोर्ड में Function Keys कितनी होती है ?

उत्तर। 12 होती है, F1 से F12 तक।

  • Q.3 कीबोर्ड में कितने Numeric Keys होते है ?

उत्तर। 10 Numeric Keys होते हैं।

  • Q.4 कीबोर्ड में Alphabetic Keys कितने होते हैं ?

उत्तर. 26 alphabetic keys होते हैं।

  • Q.5 Keyboard में कितने Symbols होते हैं ?

उत्तर. QWERTY कीबोर्ड में लगभग 40 सिम्बल्स होते हैं।

  • Q.6 भारत में सबसे ज्यादा उपयोग कौनसा कीबोर्ड किया जाता है ?

उत्तर. भारत में QWERTY कीबोर्ड का उपयोग सबसे ज्यादा होता है।

laptop ya computer main android app kaise chalaye

कंप्यूटर से ऑनलाइन फॉर्म कैसे करे

Leave a Comment