RAM kya hai in hindi | रेम की पूरी जानकारी

RAM kya hai in hindi :-

RAM CPU का एक अहम भाग। (RAM An important part of CPU)

RAM कंप्यूटर का एक ऐसा भाग हैं, जिसके बिना कंप्यूटर को चलाया भी नही जा सकता, RAM Memory कंप्यूटर के PART CPU को गति प्रदान करती हैं। अपने इस लेख में हम आज RAM के बारे में पूरी जानकारी आपको देंगे। अंत आपसे आप इस लेख को पूरा पढें।

RAM को समझने से पहले है Computer और CPUको समझना होगा ताकि आप RAM के बारे में पूरी जानकारी हो सके।

क्या होता हैं COMUTER ? (What is Computer)

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस होता हैं जिसके माध्यम से घंटो का काम मिनटों में हो जाता हैं। कंप्यूटर यूजर से इनपुट लेता है ओर फिर उसे प्रोसेस कर यूजर को आउटपुट देता है। इनपुट लेने व आउटपुट देने की इस प्रक्रिया को कंप्यूटर में Processingकहते है। कंप्यूटर के CPU में Processer लगा होता हैं जो कंप्यूटर को प्रोसेस करता हैं ।इस प्रोसेसर की स्पीड निर्धारित करने में RAM का अहम योगदान होता हैं।

क्या होता हैं CPU? (What is CPU)

CPU कम्प्यूटर का एक भाग है साधारण सी भाषा मे इसे कम्पयूटर का दिमाग भी कहा जाता है। CPU कम्प्यूटर मे प्राप्त सूचनाओ का विशलेषण करता है साथी कम्प्यूटर मे जुडे अन्य भागो जैसे MOUSE, Keyboard, ROM, RAM इत्यादी को भी कंट्रोल करता है इसी वजह से इसे कंट्रोल यूनीट (सेंन्ट्रोल प्रोसेसिंग यूनिट Central Processing Unit) कहा जाता है। सीपीयू मे कई अलग-अलग Parts होते है जिसमे से एक RAM भी है।

क्या होती है RAM? (RAM kya hai in hindi)

RAM कम्प्यूटर की एक मुख्य मेमोरी ईकाई होती है जो कम्प्यूटर मे किये गये सारे कार्यो को स्टोर करने का कार्य करती है। RAMCPU का ही एक भाग है इसलिए इसमें स्टोर सारा डाटा डायरेक्ट एक्सेस किया जा सकता है। RAM के अलग-अलग सेल मे डाटा स्टार होता है ओर इसकी खास बात यह है की यह बिना Sequent के होता है इसी विशेषता के कारण कम्प्यूटर की इस ईकाई का नाम RAM रखा गया है। RAM की एक और बात हैकियह एक Volatile प्रकार की मेमोरी होती है जिसमे डाटा कम्प्यूटर के ON (Power on) रहने तक ही रहता है जैसे की कम्प्यूटर का पावर कट हो जाता है वैसे ही इसमे स्टोर सारा डाटा नष्ट हो जाता है।

Volatile Memory का एक उहाहरण (An example of Volatile memory)  :अगर आप कम्प्यूटर मे कुछ टाइप करते है तो जब तक लाईट हे तब तक वह आपको दिखाई देता है क्योकि व कम्प्यूटर की RAM मे स्टोर रहता है जैसे की कम्प्यूटर बंद हो जाता है तो वह सारा डाटा नष्ट हो जाता है।

RAM का पुरा नाम (Full form of RAM)

RAM का पूरा नाम Random Access Memory होता है, जैसा की नाम से लगता है की यह इसके रैण्डम डाटा को आसानी से एक्सेस किया जात सकता है।

RAM की खौज (Founded of RAM)

RAM कम्प्यूटर की इस मुख्य ईकाई की खोज 1960 के अंत मे और 1970 मे आरम्भ की गई थी इस वजह से RAM की खोज 1970 मे मानी जाती है। RAM की खोज Robert Heath Dennard द्वारा की गई थी। Robert Heath Dennard अमेरिका के Electrical Engineer है जिनका जन्म 1932 मे अमेरिका मे हुआ था।

RAM की विशेषताएँ (Features of RAM)

RAM की कुछ मुख्य विशेषताएँ

  • RAM CPU का ही एक भाग होती जो एक प्रकार की Volatile Memory होती है।
  • CPU RAM मेमोरी के बिना कुछ नही कर सकता अर्थात RAM के बीना CPU किसी भी काम का नही होता।
  • रैम मेमोरी कम्प्यूटर की प्राथमिक मेमोरी है जो कम्प्यूटर का टेम्पेरेली डाटा स्टोर करता है।
  • रैम की मेमोरी मे उपलब्ध डाटा Randomly Access कर सकते है।
  • कम्पयूटर की स्पीड का निर्धारण भी रैम ही करता है। जितनी मेमोरी की स्पीडी होगी उसी के आधार पर कम्प्यूटर के प्रोसेसिंग की स्पीड होगी।

RAM के Advantages 

  • अगर आप कम्प्यूटर मे कुछ भी टाईप करते है तो वो Temprory Memory मे सेव होता रहता है जिसे RAM कहते है, अगर कम्प्यूटर मे RAM न हो तो कुछ भी सेव करना मुश्किल होता है।
  • कम्पयूटर की गति का निर्धारण करता है जिससे कम्प्यूटर के डाटा को इनपूट व आऊटपुट के प्रोसेस मे कम समय लगता है।
  • अगर आपके कम्प्यूटर के सीपीयू मे RAM जितनी अच्छी होगी उतनी ही स्पीड से कम्प्यूटर को हार्ड डिस्क, सी.डी इत्यादी से डाटा READ करने मे आसानी होगी।
  • RAM सीपीयू का ऐसा भाग है जो पावर कर्म खर्च करके भी अच्छी स्पीड से कार्य करता है।
  • RAM के सारे पार्ट्स फिक्स है इसमे से किसी भी Parts को आसानी से Move करना मुशकिल हो जाता है।

RAM के Dis-Advantages 

  • यह एक प्रकार की वोलेटाईल मेमोरी है जिसमे कम्प्यूटर का डाटा टेम्परेरी रूप से स्टोर किया जाता है।
  • यह दिखने मे छोटी व काफी एक्पेंसिव भी होती है।
  • यह CPU cache से धीमा होता है।

RAM के प्रकार ? (Types of RAM)

वैसे तो मुख्यतः दो प्रकार की होती है परन्तु हम इसे और भी कई भागो मे बांट सकते है।

2 प्रमुख भाग

  • SRAM
  • DRAM

SRAM :यह एक स्टेटिक मेमोरी होती है जो की CMOS प्रकार की तकनीक से बनी होती है। इस प्रकार की मेमोरी के निर्माण के लिए दो Cross-CoupledInverter का इस्तेमाल होता है। इसका पुरा नाम स्टेटीक रैण्डम एक्सेस मेमोरी (Static Random Access Memory) है।

SRAM की कुछ विशेषताएँ (Features of SRAM)

  • इस मेमोरी की स्पीड तेज होता है।
  • इस मेमोरी का आकार छोटा होता है।
  • यह मेमोरी थोडी महंगी पडती है।
  • यह एक प्रकार की कैस मैमोरी है।
  • इस मेमोरी का बिट मान 0 है।

DRAM :यह एक डायनेमिक प्रकार की मैमोरी होती है, जो की केपेसिटर व कुछ ट्रांसमीटर मे बनी होती है। इसका पुरा नाम डायनेमिक रैण्डम एक्सेस मेमोरी (Dynamic Random Access Memory) है।

DRAM की कुछ विशेषताएँ (Features of DRAM)

  • इस मेमोरी की स्पीड कम होता है।
  • इस मेमोरी का आकार बडा होता है।
  • यह मेमोरी थोडी महंगी सस्ती है।
  • यह एक प्रकार की मैन मैमोरी है।
  • इस मेमोरी का बिट मान 1 है।

SRAM व DRAM मे तुलना (Compare between SRAM and DRAM)

तुलना का आधारSRAMDRAM
स्पीडतेजधीमा
आकारछोटाबडा
लागतमहंगासस्ता
उपयोगकैश मैमोरीमैन मेमोरी
घनत्वकम घनत्वअत्यधिक घनत्व
निर्माणजटिलसरल
मेमोरी मे सिंगल ब्लाॅक6 ट्रांसमिटर1 ट्रांसमीटर
चार्ज लीट प्रोपर्टीउपस्थिति नहीपावर रिफ्रेश की आवश्यकता नही
बिजली की खपतकमज्यादा

SRAM व DRAM मे अन्तर

  • SRAM साईज मे छोटा होते है वही DRAM साईज मे बडा होता है।
  • SRAM की स्पीड तेज होती है वही DRAM की स्पीड धीमी होता है।
  • SRAM दाम के आधार पर महंगा हो सकता है वही DRAM दाम के आधार पर सस्ता हो सकता है।

कुछ मुख्य बिंदू (Some Important Points)

  • आजकेसमयमेबजारमेमुख्यतः 2 प्रकारकीरैममिलतीहैजिसमे DDR3 & DDR4 मुख्य है।
  • अपनेकम्प्यूटरकीक्षमताकेअनुसारहीरैमकाउपयोगकरेअर्थातआपकाकम्प्यूटरअगर 4GBRAMकोस्पोर्टकरताहैतोउसमे 8GB RAMकाइस्तेमानबिलकुलनकरे।
  • रैमकोजितनाहोसके 2 भागोमेउपयोगकरेजैसेआपकेकम्प्यूटरमे 8GBकेरैमकीक्षमताहैतोउसमेआप 4GB-4GBकी 2 रैमडालेतोकम्प्यूटरअपनाकामऔरभीस्पीडसेकरसकताहै।

निष्कर्ष

इस लेख मे हमने RAM से जुडी सभी प्रकार की जानकारी देने का प्रयास किया है। इस लेख मे काॅलेज के व स्कूल के सैलेबस के आधार पर इसको समझाने का प्रयास किया है। उम्मीद करते है, की आपको यह लेख अच्छा लगा होगा।

laptop ya computer main android app kaise chalaye

कंप्यूटर से ऑनलाइन फॉर्म कैसे करे

 

Leave a Comment