2021 ki janganana mein Apna Naam online kaise Check Karen| ओबीसी सूची ऑनलाइन कैसे देखें।

5/5 - (1 vote)

हमारे देश में बेहतर विकास के लिए और लोगों के कुल संख्या की गणना करने के लिए प्रत्येक 10 वर्ष में जनगणना भारत सरकार द्वारा कराई जाती है। आज से 10 साल पहले 2011 में जनगणना हुई थी और अब वर्ष 2021 में सरकार जनगणना करवाने वाली है और इस जनगणना में भारत सरकार ओबीसी की श्रेणी में आने वाले लोगों का एक संपूर्ण डाटा एकत्रित करने वाली है। 

वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के होने के बाद भारत सरकार ने देश में फाइनल ओबीसी के श्रेणी में आने वाले लोगों का डाटा तैयार करने का निश्चय किया था और उन्हें स्पेशल लाभार्थियों की सूची में और आरक्षण प्रदान करने पर विचार किया था। 

आज के इस लेख में हम आप सभी लोगों को 2021 ki janganana mein Apna Naam online kaise hain?, एवं 2021 की जनगणना में ओबीसी की सूची ऑनलाइन कैसे देखें?, से संबंधित विस्तार पूर्वक से जानकारी देंगे और आप आज के हमारे इस लेख को फॉलो करके अपना नाम 2011 की जनगणना में ऑनलाइन कैसे देखें चेक कर पाएंगे।

Table of Contents

2011 और 2021 जनगणना की जानकारी – 2011 and 2021 SECC Details in Hindi

परिचयपरिचय बिंदु
नामSECC जनगणना
शुरुआतवर्ष 1990
दोबारा से शुरू की गईतत्कालीन सरकार के जरिए
हेल्पलाइन नंबर9868914555
टोल फ्री नंबर14555
लाभार्थीसंपूर्ण देश के नागरिक
आधिकारिक वेबसाइट क्लिक हेयर

भारत के जनगणना का इतिहास – Indian census history in Hindi

अगर हम भारत के जनगणना के इतिहास के बारे में बात करें तो जब वर्ष 1990 में वीपी सिंह की सरकार थी, तब  उन्होंने 1980 के आयोग मंडल से ओबीसी के लिए 27% आरक्षण की मांग की थी। इसके बाद इसकी सूची सन 1931 में समय में की गई जनगणना के डाटा के अनुसार तैयार की गई। 

वर्ष 2011 की जनगणना के बारे में जानकारी –  census information of 2011 in Hindi

वर्ष 2011 में जब यूपीए की सरकार थी तब इन्होंने सामाजिक, आर्थिक और जाति जनगणना के डाटा को कलेक्ट करने का आदेश जारी किया था।15 जुलाई वर्ष 2015 को वर्तमान एनडीए सरकार द्वारा जारी करने का कार्य किया गया था। 28 जुलाई वर्ष 2015 को जाति जनगणना के डाटा में सरकार ने कुल 8.19 करोड़ गलतियां निकाली हुई थी। इन कुल गलतियों में से 6.73 करोड़ गलतियों को दोबारा से सुधारा गया। इतनी गलतियों को सुधारने के पश्चात भी  करीब 1.45 करोड़ गलतियों को सुधारना बाकी ही रह गया।

जनगणना 2021 में ओबीसी जाति के लिए आयोजित डाटा को क्यों कलेक्ट किया जाएगा – Why 2021 census for important OBC data in Hindi

वर्ष 2021 की जनगणना आयोजित की जाएगी और इस जनगणना में ओबीसी की श्रेणी में आने वाले सभी लोगों का डाटा एकत्रित करने का कार्य पूरा किया जाएगा। 2021 की जनगणना सर्वे में आवासीय और गैर आवासीय ओबीसी की श्रेणी में आने वाले लोगों की सारी जानकारी सरकार को प्राप्त हो सकेगी, जिसके जरिए भारत सरकार पूरे भारत देश के ओबीसी की श्रेणी में आने वाले लोगों की सूची को तैयार करने में आसानी हो सकेगी और सूची भी सटीकता से तैयार की जाएगी।

2021 की जनगणना की आयोजित हो जाने के पश्चात अंतिम 3 वर्षों के बाद इस जनगणना को अंतिम प्रारूप प्रदान किए जाने का कार्य किया जाएगा। पहले के समय में जनगणना के पूरे डाटा को तैयार करने में करीब 7 से 8 सालों का उस समय लग जाता था, परंतु गृह मंत्री जी ने इस जनगणना को 2024 तक पूरा करने का रोड मैप तैयार करने की मांग की हुई है।

इसीलिए सरकार ने जनगणना की पूरी डिजाइन और इससे जुड़े हुए विभिन्न तकनीकों पर सुधार करवाने का कार्य भी प्रारंभ कर दिया है, ताकि वर्ष 2024 तक इस जनगणना को अंतिम प्रारूप शीघ्रता से और बिना किसी गलती के प्रदान किया जा सके।

वर्ष 2021 की जनगणना कब प्रारंभ होगी – When will started 2021 census in Hindi

2021 jangarna ki date: जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं, कि हमारे देश में प्रत्येक 10 वर्ष बाद देश के सभी नागरिकों के हित के लिए जनगणना आयोजित की जाती है। 2011 के जनगणना के बाद वर्ष 2021 में जनगणना शुरू होने वाली थी, परंतु कोरोनावायरस से इस महामारी के कारण देश में जनगणना का कार्य समय पर प्रारंभ ना सका और इसमें काफी देर हो चुकी है। 

जम्मू और कश्मीर में 1 अक्टूबर वर्ष 2020 से जनगणना प्रारंभ हो चुकी थी और 1 जनवरी वर्ष 2021 से देश के अन्य राज्यों एवं अन्य भागों में जनगणना प्रारंभ होने वाली थी, परंतु कोरोनावायरस में जनगणना की डेट को सरकार ने बदल दिया। अब सरकार देश के सभी राज्यों और उनके भागों में शीघ्र से शीघ्र जनगणना प्रारंभ करने का कार्य शुरू कर रही है और अब हमें वर्ष 2022 में जनगणना 2021 का सारा डाटा ऑनलाइन देखने को मिल सकता है।

2021 की जनगणना को कैसे किया जाएगा – How will complete 2021 census in Hindi

 2021 ki janganana ko kaise pura Kiya jaega:जिस प्रकार से पहले जनगणना से जुड़े हुए कार्यों को सरकारी कर्मचारियों द्वारा पूरा किया जाता था, ठीक उसी प्रकार से 2021 की भी जनगणना को सरकारी कर्मचारियों द्वारा ही किया जाएगा परंतु इस बार 2021 के जनगणना में लोगों से पहले के मुकाबले थोड़े हटके क्वेश्चंस किए जाएंगे। सरकारी कर्मचारियों को पेन और पेपर की जगह पर मोबाइल एप्लीकेशन पर जनगणना को करने का कार्य दिया जाएगा और इससे जनगणना से जुड़े हुए कार्य में भी आसानी के साथ-साथ शीघ्रता हो सकेगी। सरकार 2021 की जनगणना के लिए स्पेशली मोबाइल एप्लीकेशन को डिजाइन करवा रही है।सरकारी कर्मचारी हमारे घर पर आएंगे और वह मोबाइल एप्लीकेशन के जरिए उनसे क्वेश्चन करेंगे और हमारे द्वारा दिए गए और को भी मोबाइल एप्लीकेशन में ऑनलाइन फीड कर देंगे, इससे उन लोगों का समय भी बचेगा।

PM Ujjwala Yojana 2.0 me apply kaise karen 2021|उज्जवला योजना 2.0 क्या है?

2021 के जनगणना में कौन-कौन से सवाल किए जाएंगे – 2021 census question in Hindi

 2021 janganana ke sawal: अब आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि आखिर 2021 की जनगणना में कौन-कौन से और कितने सवाल किए जाएंगे?, तो दोस्तों हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 2021 की जनगणना में इस बार पहले के मुकाबले काफी अलग क्वेश्चंस किए जाएंगे और इतना ही नहीं इस जनगणना में आपसे 31 क्वेश्चन किए जाएंगे। चलिए हम आपको आपसे पूछे जाने वाले क्वेश्चन के बारे में बता देते हैं, जो इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है।

  1. आपके बिल्डिंग का या फिर मकान का नंबर क्या है?
  2.  मकान को बनाने का उद्देश्य?
  3. घर के फर्श, दीवार और सामग्री की जानकारी एवं वर्तमान में घर की स्थिति?
  4. घर में रहने वाले कुल सदस्यों की संख्या और मुखिया का नाम?
  5. घर में रहने वाले प्रत्येक सदस्यों की जाति?
  6. आपके घर के बारे में मालिकाना हक से संबंधित जानकारी?
  7. आपके घर में कुल कमरों की संख्या कितनी है?
  8. घर के सभी शादीशुदा सदस्यों के बारे में संपूर्ण जानकारी?
  9. बिजली और पीने के पानी से संबंधित जानकारी?
  10. आपके घर में कुल कितने शौचालय हैं और भी कितने प्रकार के हैं?
  11. रसोईघर एलपीजी एवं सीएनजी गैस कनेक्शन स्थिति की जानकारी?
  12. रेडियो, टीवी, मोबाइल और इंटरनेट से संबंधित जानकारी?
  13. अगर आपके घर में वाहन है, तो उससे संबंधित जानकारी?
  14. घर में मुख्य रूप से प्रयोग में लिए जाने वाले अनाजों की जानकारी?
  15. घर के मुखिया का मोबाइल नंबर? 
  16. गंदे पानी की निकासी कहां से की जाती है?
  17. घर में कितने लोग काम आने वाले हैं?
  18. घर में अगर कोई सरकारी नौकरी करता है, तो वह किस सरकारी विभाग में कार्य करता है?
  19.  घर में कितने लोग विदेश में रहते हैं?
  20.  घर में कुल बच्चों की जानकारी और नवजात बच्चों की जानकारी?
  21.  घर में कुल पढ़ने वाले छात्रों की जानकारी?
  22.  विदेश में पढ़ने वाले छात्रों की जानकारी?
  23.  घर के मुखिया का मुख्य आय स्रोत क्या है?
  24. घर के सदस्यों में सरकारी योजना का लाभ उठाने वाले लोगों की जानकारी?
  25. पूरे घर की वार्षिक आय क्या है?
  26. क्या घर में कोई इनकम टैक्स फाइल करने वाला व्यक्ति रहता है?
  27.  घर में रहने वाले अगर सदस्य अलग-अलग राज्यों में रहते हैं, तो उनकी जानकारी?
  28. घर में अगर कोई दिव्यांग है, तो उसकी जानकारी?
  29. अगर घर में कोई दिव्यांग व्यक्ति रहता है, तो क्या उसे कोई सरकारी सुविधा मिलती है? 
  30. आपका घर नेशनल हाईवे पर है या फिर आपका घर काफी ग्रामीण एरिया में है?
  31. क्या आपको सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी रहती है? 

2021 जनगणना की थीम क्या है और 2021 की जनगणना को कुल कितने भाषा में पूरा किया जाएगा – 2021 census theme & language information in Hindi

2021 census theme in Hindi: प्रत्येक 10 वर्ष के बाद जब जनगणना की जाती है तो उसका एक मुख्य रूप से थीम तैयार किया जाता है और उसे कुल कितने भाषाओं में पूरा किया जाएगा यह भी डिसाइड किया जाता है। अब आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि आखिर 2021 की जनगणना का थीम क्या है? और 2021 के जनगणना को कुल कितनी भाषाओं में पूरा किया जाएगा?।हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वर्ष 2021 की जनगणना की टीम को “जन भागीदारी से जनकल्याण है” रखा गया है और इस वर्ष की जनगणना को कुल 16 भाषाओं में पूरा किए जाने का सरकार में उद्देश्य निर्धारित किया है।

 2021 की जनगणना के कुछ महत्वपूर्ण पहलू – Important points for 2021 census in Hindi 

2021 census ke Kuchh important point: 2021 जनगणना के कुछ महत्वपूर्ण पहलू है और इसलिए उनके बारे में हम लोग जान लेते हैं और समझते हैं, जो इस प्रकार के नीचे निम्नलिखित है।

  • राष्ट्रीय सर्वे संगठन या नीचे एनएसएसओ जो स्टेटिस्टिक्स और प्रोग्राम को लागू करने वाले मंत्रालय की एक शाखा है।देश के इस संगठन ने वर्ष 2006 कोदेश के कुल आबादी पर सैंपल सर्वे रिपोर्ट तैयार करने की एक बड़ी घोषणा की हुई थी, उस रिपोर्ट में देश के कुल आबादी में से 41% ओबीसी के श्रेणी में रहने वाले लोगों की जनसंख्या को मापा गया था।
  • उस दौरान एनएसएसओ में ग्रामीण इलाकों में 79,306 परिवारों और शहरी इलाकों में 45,374 लोगों की सूची को तैयार किया था।
  • 2021 के ओबीसी श्रेणी में आने वाले लोगों का डाटा तैयार करने की जानकारी गृह मंत्रालय के मंत्री जी ने वर्ष 2021 के जनगणना के प्रारूप को निर्धारित करने के बाद इसका खुलासा किया था।
  • भारत सरकार में 25 लाख लोगों को ओबीसी के डाटा को तैयार करने के लिए तैयार किया हुआ है और इनकी उसी तैयार करके जनगणना में भेजने की भी प्रक्रिया धीरे-धीरे प्रारंभ करने की तैयारी कर ली गई है।
  • भारत सरकार इस बार 2021 की जनगणना में किसी भी प्रकार की त्रुटि को जगह नहीं देना चाहती है और इसीलिए इस बार सरकार में जनगणना के सर्वे को करने वाले लोगों की एक बड़ी सूची तैयार की हुई है।
  • अगर हमारे देश की भारत सरकार ओबीसी के लिए 27% आरक्षण प्रदान करने का विचार कर रही है, तो ऐसी परिस्थिति में एससी, एसटी और ओबीसी श्रेणी में लोगों को कुल 49% आरक्षण प्राप्त हो जाएगा।
  •  सरकार इस बार की जनगणना को एक नया प्रारूप प्रदान करने वाले हैं और उसी हिसाब से देश के नागरिकों को आने वाले समय में भी लाभ प्राप्त होने वाला है।

महिला सामर्थ्‍य योजना क्या है और इसमें ऑनलाइन आवेदन कैसे करें।

2021 की जनगणना में ओबीसी को एकत्रित करने से क्या फायदे हैं – What is benefit of 2021 census for collecting OBC category data in Hindi

 2021 ki janganana mein OBC ke liye benefit: दोस्तों सरकार के बयान के मुताबिक और 2021 में होने वाले जनगणना के अनुमान के हिसाब से ओबीसी की श्रेणी को सबसे ज्यादा जनगणना के पूरा हो जाने के बाद लाभ प्राप्त होने की संभावनाएं हैं। चलिए जानते हैं, कि 2021 जनगणना के पूरे हो जाने के बाद ओबीसी की श्रेणी में रहने वाले लोगों को क्या लाभ प्राप्त होने वाले हैं?, जिस की जानकारी इस प्रकार से निम्नलिखित है।

  • जनगणना में जाति आधारित देना को कलेक्ट करने के बाद उसका उपयोग भारत सरकार को अपनी योजनाओं और नीतियों का निर्णय लेने में मदद करेगा। इसके साथ ही कुछ ऐसी जातियों को पृथक किया जाएगा, जो आरक्षण प्राप्त करने का दावा करती हैं और वह आरक्षण के श्रेणियों में आती ही नहीं है।
  • 2021 की जनगणना में सरकार ओबीसी का डाटा तैयार करेगी और इससे 2024 में होने वाले लोकसभा के चुनाव में मोदी सरकार अपने इस कार्य को एक स्तंभ के रूप में इस्तेमाल कर सकती है और साथ ही में उन्हें लोकसभा के चुनाव में उम्मीदन कुछ फायदा भी हो सकता है।
  • होने वाली जनगणना से ओबीसी की श्रेणी में रहने वाले लोगों को काफी ज्यादा लाभ होने वाला है, क्योंकि उन्हें जनगणना के बाद अपनी पहचान प्राप्त हो जाएगी और वह श्रेणी में गिने जाएंगे और साथ में उन्हें आरक्षण का पूरा फायदा मिलने वाला है।

2021 की जनगणना में अपना नाम ऑनलाइन कैसे चेक करें – How to check online name list on 2021 census in Hindi

2021 ki janganana mein online Apna Naam kaise check Karen: दोस्तों अगर आप 2011 एवं 2021 के जनगणना लिस्ट में अपना नाम ऑनलाइन देखना चाहते हैं, तो दोस्तों आप इसे भी अब घर बैठे ऑनलाइन बस कुछ ही स्टेट को फॉलो करके देख सकते हैं। आज के इस लेख में हम आपको चलिए अपने आगे के जानकारी में स्टेप बाय स्टेप बताते हैं, कि कैसे आप जनगणना की सूची में अपना नाम ऑनलाइन चेक कर सकते हैं?

STEP 1. सबसे पहले आपको जनगणना विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर चले जाना है और फिर उसके होम पेज को ओपन कर लेना है।

2021 ki janganana mein Apna Naam online kaise Check Karen| ओबीसी सूची ऑनलाइन कैसे देखें।
2021 ki janganana mein online Apna Naam kaise check Karen

STEP 2. अब इस अगले चरण में आपको आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर ही ‘View result’ नामक आपको एक विकल्प दिखाई देगा और आपको इस विकल्प पर क्लिक कर देना है।

STEP 3. अब आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खोलकर आएगा और आपको यहां पर नेवीगेशन मेनू दिखाई देगा और यहां पर आपको ‘Statewise and Zonewise’ दिखाई दे रहे विकल्प पर क्लिक कर देना है।

STEP 4. अब आपके स्क्रीन के सामने कई सारे ऑप्शन दिखाई देंगे और इनमें से आपको ‘SECC data summary’ नामक दिखाई दे रहे हैं, विकल्प पर आपको क्लिक कर देना है। 

STEP 5. अब आपके सामने एक नया विंडो दिखाई देगा और आपको यहां पर अपने राज्य का चुनाव करना है।

STEP 6. राज्य का चुनाव करने के पश्चात अब आपको अपने शहर का चुनाव करना है।

STEP 7. अब आपको अपने शहर के तहसील का चुनाव कर लेना है।   

STEP 8. अब आपके सामने आपके एरिया की रिपोर्ट खुलकर आ जाएगी और इसे डाउनलोड करने के लिए आपको उसी पेज पर टॉप कॉर्नर में ‘Save report’ नामक एक विकल्प दिखाई देगा और आपको इस विकल्प पर क्लिक कर देना है।

STEP 9. अब इतनी प्रक्रिया को पूरा करते ही आपके डिवाइस में जनगणना की सूची डाउनलोड हो जाएगी और आप इसे सेव कर ले।

STEP 10. अब इतनी प्रक्रिया को पूरा करने के पश्चात आप अपने नाम को जनगणना की सूची में आसानी से ढूंढ कर देख सकते हैं।

जनगणना करवाना क्यों आवश्यक है – Why census is important for all countries in Hindi

Desh Mein janganana karvana Kyon jaruri hai : हमारे भारत देश में ही नहीं अपितु संपूर्ण देशों में जनगणना का आयोजन उनके समय अनुसार किया जाता है, हमारे भारत देश में प्रत्येक 10 वर्ष के बाद जनगणना का आयोजन सरकार करती है। देश की जनगणना को करने से भविष्य में देशवासियों को बेहतर नीति प्रदान करने और अन्य सुविधाएं प्रदान करने हेतु सरकार को महत्वपूर्ण डाटा प्राप्त होता है। जनगणना के डाटा के अनुसार ही इससे भी देश को उसके विकास और देशवासियों के विकास के लिए सरकार बढ़िया से बढ़िया स्ट्रेटजी तैयार करती है। 

उदाहरण के रूप में समझते हैं, कि आज से करीब 10 साल पहले स्मार्टफोन का प्रचलन नहीं था और जब यह समझ में आया कि मोबाइल फोन में कंप्यूटर की जैसे फैसिलिटी को प्रदान किया जा सकता है तब उसमें बदलाव किया गया और उसी के परिणाम स्वरूप आज हम स्मार्टफोन को इस्तेमाल कर रहे हैं और एक प्रकार से आप कह सकते हैं, कि मोबाइल फोन से हम अपने आधे कंप्यूटर वर्क को कर सकते हैं। ठीक इसी प्रकार से जनगणना से सरकार को देश चलाने में और देशवासियों के हित के लिए बेहतर नीतियों को तैयार करने में सहायता प्राप्त होती है।

निष्कर्ष :-

आज के इस लेख में हमने आप सभी लोगों को 2021 ki janganana mein Apna Naam online kaise hain?| 2021 की जनगणना में ओबीसी की सूची ऑनलाइन कैसे देखें?, से संबंधित सभी प्रकार की महत्वपूर्ण जानकारियों को कवर करके आपके समक्ष प्रस्तुत किया है। हमें उम्मीद है कि आज का हमारा जनगणना से संबंधित लेख आपके लिए काफी लाभकारी और सहायक होगा और साथ ही में आपको हमारा ये लेख पसंद भी आया होगा।अगर आपके मन में इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर सुझाव हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं। हमारे इस लेख को आप अपने दोस्तों के साथ और अपने अन्य सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले।

FAQ:

Q:  2011 की जनगणना में लोगों से कुल कितने क्वेश्चन किए गए थे?

ANS :- एक न्यूज़ के डाटा के अनुसार वर्ष 2011 के जनगणना में लोगों से कुल करीब 29 क्वेश्चन पूछे गए थे।

Q: जनगणना का आयोजन किसके द्वारा किया जाता है?

ANS :- हमारे देश में जनगणना को महा-रजिस्ट्रार और जनगणना आयुक्त के जरिए प्रत्येक 10 वर्ष के बाद जनगणना आयोजित की जाती है।

Q: करंट में भारत की कुल जनसंख्या कितनी है?

ANS :- इंटरनेट पर उपलब्ध वर्ल्ड मीटर वेबसाइट के जरिए पता चला है कि करंट समय में हमारे भारत देश की कुल जनसंख्या एक अरब 38 करोड़ तकरीबन है।

Q: जनगणना अधिनियम को कब लागू किया गया था?

ANS :- वर्ष 1948 में भारत में जनगणना अधिनियम को लागू किया गया था और इसी समय देश की पहली जनगणना को किया गया था।

Q: क्या भारतीयों को जनगणना का फॉर्म भरना अनिवार्य है?

ANS :- जी हां बिल्कुल, परंतु वर्ष 2021 की जनगणना में देशवासियों को अपना ऑनलाइन पंजीकरण करवाना होगा ना कि कोई ऑफलाइन फॉर्म भरने की जरूरत होगी।

Q: जनगणना विभाग की आधिकारिक वेबसाइट कौन सी है?

ANS :-  भारतीय जनगणना विभाग की आधिकारिक वेबसाइट https://censusindia.gov.in/index_hindi.htmlहै।

Share on:

मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं?, आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। धन्यवादGmail ID - [email protected]

Leave a Comment