Cache memory in hindi – कैसे मेमोरी कितने प्रकार की होती है

Cache memory in hindi: आपने जरूर कभी अपने मोबाइल में जगह खाली करने के लिए cache को डिलीट किया ही होगा क्या अपने कभी ये सोचा है कि ये क्या है और इसका इस्तमाल क्यों किया जाता है, अगर आपके मन मे कभी इस बात की जिज्ञाध ने जन्म लिया है तो आज इस लेख के माध्यम से हम आपको बताने जा रहे है Cache memory in hindi के बारे में।  

आपके कंप्यूटर या मोबाइल में अपने आप इस्तमाल करने के वजह से कुछ जगह भर जाती है जिसे हम cache कहते हैं। यह कितने प्रकार का होता है और इसके बारे में और भी जानकारी विस्तार पूर्वक बताने जा रहे है तो जुड़े रहिए इस लेख के साथ और पढ़िए Cache memory in hindi के बारे में। 

Cache memory क्या होता है

कैश मेमोरी कंप्यूटर में एक सेमीकंडक्टर मेमोरी होता है जो प्राइमरी और सेकेंडरी मेमोरी की तुलना में काफी महंगा होता है यह CPU और प्राइमरी मेमोरी के बीच एक बफर की तरह काम करता है। 

जब आपके मोबाइल या कंप्यूटर में CPU किसी कार्य को बार बार करता है तो उस प्रोग्राम को बचा कर रखने के लिए हम cache memory का इस्तेमाल करते है। किसी कार्य को बार बार करने पर ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा बार बार इस्तमाल किए जाने वाले प्रोग्रामिंग को सीपीयू के प्राइमरी मेमोरी में फिर cache मेमोरी में भेजा जाता है ताकि CPU उस कार्य को आसानी से एक्सेस कर सके। 

Cache मेमोरी एक खास प्रकार की मेमोरी होती है जो सीपीयू के अंदर स्थित होती है सीपीयू को जब भी किसी कार्य को करना होता है तो सबसे पहले उस कार्य से जुड़े प्रोग्रामिंग को वह Cache मेमोरी में ढूंढता है। 

अर्थात आप यह कह सकते है कि Cache मेमोरी एक खास प्रकार की मेमोरी होती है जो सीपीयू के डाटा ढूंढने की प्रक्रिया को तेज कर देती है जिससे सीपीयू की परफॉर्मेंस काफी तेज हो जाती है। 

यह मेमोरी सीपीयू से काफी अच्छे से जुड़ी हुई होती है इस वजह से इस मेमोरी को सीपीयू मेमोरी भी कहा जाता है। Cache मेमोरी एक चिप के आकार की होती है जो मुख्य मेमोरी से काफी तेज होती है और कंप्यूटर को तेज काम करने में मदद भी करती है। 

Cache मेमोरी कितने प्रकार की होती है

Cache मेमोरी क्या होती है और कैसी दिखती है इस बात को समझने के बाद आपको इस बात पर भी रोशनी डालनी होगी कि कैश मेमोरी के कुल कितने प्रकार होते है उनमें से कुछ प्रकार के बारे में नीचे विस्तार पूर्वक बताया गया है। 

  • Level 1 Cache 
  • Level 2 Cache 
  • Level 3 Cache 
  1. Level 1 Cache 

इस मेमोरी को L1 Cache भी कहते है, यह बहुत ही छोटे साइज की मेमोरी होती है मगर इसकी रफ्तार बहुत तेज होती है यह CPU के अंदर स्थित होती है और CPU के स्पीड को और भी तेज बनाती है। इस मेमोरी की साइज 2 kb से 64 kb के बीच होती है। इस मेमोरी को आगे फिर दो भागों में विभाजित किया गया है। 

  • Instructions Cache 

यह level-1 मेमोरी का वह हिस्सा होता है जहां सीपीयू से जुड़ी जरूरी इंस्ट्रक्शन को स्टोर किया जाता है जिससे सीपीयू तुरंत यह पता कर सके कि उसे कब क्या करना है। 

  • Data Cache 

यह वो महत्वपूर्ण हिस्सा होता है जहां सीपीयू में ज्यादा इस्तेमाल होने वाले डाटा को स्टोर किया जाता है। 

  1. Level 2 Cache memory

यह Cache मेमोरी का दूसरा प्रकार होता है यह लेवल 1 मेमोरी से साइज में थोड़ा बड़ा होता है और स्पीड में level 1 मेमोरी से थोड़ा कम होता है इसे हम L–2 मेमोरी के नाम से भी जानते हैं। 

यह मेमोरी ज्यादातर CPU के अंदर होता है मगर सीपीयू के बाहर भी हो सकता है अगर यह मेमोरी सीपीयू के बाहर होता है तो यह हाई स्पीड बस से कनेक्ट हो जाता है। यह हर CPU में अलग-अलग मात्रा में होता है अगर सीपीयू 4 कोर वाला है तो हर कोर के लिए अपना एक L2 मेमोरी होता है। 

L2 मेमोरी का साइज 256kb से 512kb के बीच होता है। यह मेमोरी LEVEL-1 मेमोरी से थोड़ा बड़ा और थोड़ा धीरे चलता है मगर ज्यादा डाटा स्टोर करता है। 

  1. Level 3 Cache memory

यह मेमोरी लेवल 1 और लेवल 2 की तुलना में थोड़ी बड़ी होती है मगर लेवल 1 और लेवल 2 की तुलना में थोड़ी धीरे चलती है। इस मेमोरी को L3 मेमोरी के नाम से भी जानते है। अगर आपके कंप्यूटर में चार को है तो हर कोर के लिए अलग L3 मेमोरी होगी। 

यह मेमोरी लेवल 1 और लेवल 2 के मुकाबले थोड़ी बड़ी होती है और थोड़ी धीरे चलती है मगर इसका मुख्य तौर पर काम लेवल 1 और लेवल 2 कैच मेमोरी की क्षमता और परफॉर्मेंस बढ़ाने के लिए किया जाता है यह मेमोरी अधिक डाटा स्टोर कर सकती है level-3 मेमोरी 1MB से 8MB तक का डाटा स्टोर करती है। 

इसे भी पड़े

Memory in hindi | मेमोरी क्या होती है ? ।

Cache मेमोरी कैसे काम करता है

देखिए कंप्यूटर या मोबाइल में जो CPU होता है उसमें डाटा को अलग-अलग भागों में विभाजित किया गया है जब हम किसी काम को बार-बार करते है तो CPU समझ जाता है कि यह काम बार-बार करना है जिस वजह से उस डाटा को वह लेवल 1 के मेमोरी में रखता है जब भी कोई काम बार-बार करते है तो सीपीयू उस काम को लेवल 1 में रखता है और जल्दी से उस कार्य को का पूरा करता है। 

जब CPU को डाटा लेवल 1 में नहीं मिलता तो वह उसे लेवल 2 में ढूंढता है और जब वह भी नहीं मिलता तो लेवल 3 में ढूंढता है अर्थात हमारे पास जो डाटा होता है वह रैम में स्टोर होता है और जब हम उसका इस्तेमाल करते है तो वह डाटा लेवल 3 में आता है। जब हम उसका थोड़ा और इस्तेमाल करते है तो लेवल 2 में आता है और जब हम उस डाटा यह प्रोग्राम का इस्तेमाल रोजाना बार-बार करते है तो वह CPU के लेवल 1 मेमोरी में आ जाता है जिससे सीपीयू के उस कार्य को करने की क्षमता और स्पीड बढ़ जाती हैं। 

उम्मीद करते है आप समझ गए होंगे किसी डाटा को सीपीयू में किस प्रकार विभाजित किया जाता है और cache मेमोरी किस तरह से CPU के काम करने की क्षमता को बढ़ाने का कार्य करता है। 

Cache मेमोरी के लाभ

Cache मेमोरी के सीपीयू में इस्तेमाल करने के बहुत सारे लाभ है उनमें से कुछ महत्वपूर्ण लाभ को नीचे बताया गया है।

  • Cache मेमोरी के इस्तेमाल करने से सीपीयू की छमता और स्पीड बढ़ती है। 
  • प्राइमरी मेमोरी एंड सेकेंडरी मेमोरी की तुलना में कैश मेमोरी ज्यादा बेहतर काम करती है। 
  • सीपीयू में किसी चीज का बार-बार इस्तेमाल करने से सीपीयू उसे Cache मेमोरी के लेवल 1 में रखता है जिससे आपका कार्य और भी जल्दी होता है। 

Cache मेमोरी के नुकसान

  • Cache मेमोरी बाकी मेमोरी की तुलना में काफी महंगी होती है
  • Cache मेमोरी की स्टोरेज क्षमता काफी कम होती है
  • इस मेमोरी में सभी डाटा अस्थाई रूप से स्टोर की जाती है। 

Frequently Asked Questions (FAQ)

Q. Cache मेमोरी का प्रमुख कार्य क्या होता है?

Ans. Cache मेमोरी का प्रमुख कार्य बार-बार किए जाने वाले कार्य को याद रखना होता है जिससे सीपीयू और भी बेहतर और जल्दी कार्य पूरा कर सके।

Q. कंप्यूटर में सबसे तेज चलने वाली मेमोरी कौन सी होती है?

Ans. कंप्यूटर में सबसे तेज है इस्तेमाल की जाने वाली मेमोरी का नाम Cache मेमोरी है।

Q. Cache मेमोरी कितने प्रकार की होती है?

Ans. Cache मेमोरी तीन प्रकार की होती है जिसमें सबसे तेज एल्बम मेमोरी काम करती है।

Q. Cache memory कितना डाटा स्टोर करती है?

Ans. कैश मेमोरी कम से कम 2 KB और अधिकतम 8 MB तक का डाटा स्टोर करती है।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने आप सभी लोगों को Cache memory in hindi के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की गई है। हमें उम्मीद है कि आप सभी लोगों को आज का हमारा यह लेख काफी ज्यादा है हेल्पफुल और यूजफुल हो रहा होगा। अगर आपको हमारे द्वारा दी गई आज की यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप हमारे इस महत्वपूर्ण लेख कों अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर करना ना भूले।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो। हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे। हमारे इस लेख को शुरू से अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद और आपका दिन शुभ हो। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.