What is dark web in hindi

Rate this post

डार्क वेब क्या है और कैसे काम करता है। What is dark web in hindi 

Dark web history in Hindi: आप में से कई लोगों ने डार्क वेब का तो नाम सुनाई होगा।हम और आप जो इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं, वह सिर्फ 4% ही विजिबल ज्ञानी प्रदर्शित होता है, बाकी का 96% हिस्सा इनविजिबल यानी कि छुपा रहता है। आप इस आंकड़े के अनुसार अंदाजा लगा सकते हैं, कि हम सिर्फ 4% का ही विजिबल इंटरनेट इस्तेमाल करते हैं और इतने में ही हमें बहुत सारी जानकारियां मिल जाती हैं, जो हमारे योग्य होती हैं। तो जरा सोचिए डार्क वेब कितना विशालकाय होगा।

डार्क वेब हमारी सोच से बहुत ही ज्यादा भयानक और रहस्यमई है। डार्क वेब के चक्कर में ना पड़े तो अच्छा है, आप जितना इस से दूर रहें उतना आपके लिए अच्छा है। आज तक कोई भी व्यक्ति डार्क वेब को अच्छी तरह से समझ नहीं पाया है। इसका कोई भी डाटा सर्च इंजन पर इंटेक्स नहीं होता है, परंतु फिर भी इसमें जो इस्तेमाल करते हैं, वह आसानी से इसे एक्सेस कर पाते हैं।

आज हम इस लेख के माध्यम से जानेंगे, कि डार्क वेब क्या है और यह कैसे काम करता है। हम डार्क वेब के बारे में तो ज्यादा नहीं जानते हैं, परंतु फिर भी आप को जितना जानते हैं, उतना इस विषय पर जानकारी अवश्य देना पसंद करेंगे। आज के हमारे डार्क वेब के विषय पर लिखी गई यह पोस्ट आप अंत तक अवश्य पढ़ें।

डार्क वेब क्या है ? (What is dark web in hindi)


Dark web information in Hindi: हम जो इंटरनेट को इस्तेमाल करते हैं, वह इंटरनेट की ऊपरी सतह है, जिसे हम सरफेस वेब के नाम से भी जानते हैं। डार्क वेब का जाल इंटरनेट की दुनिया में 96% तक फैला हुआ है। 4% का इंटरनेट ही हम इस्तेमाल करते हैं और यह विजिबल होता है। डार्क वेब पर अनेकों प्रकार के गैर कानूनी कार्य चिपचिपा कर किए जाते हैं।

हम इस आर्टिकल में आपको बता भी नहीं सकते इतनी ज्यादा मात्रा में और अनेकों प्रकार के गैर कानूनी कार्य डार्क वेब पर अंजाम दिए जाते हैं। जिन अपराधों को डार्क वेब पर अंजाम दिया जाता है, वह अपराधों का वर्णन हम अपने आर्टिकल में नहीं कर सकते यह बताना भी गैरकानूनी है।

तो आप इस बात का अंदाजा लगा लीजिए की डार्क वेब कितना खतरनाक और यदि सरकार किसी भी डार्क वेब की आईपी एड्रेस का पता करती है, तो वह तुरंत ही बंद कर देती है।

यहां तक कि यदि आप कैसे भी करके डार्क वेब का इस्तेमाल कर रहे हैं और आपकी आईपी ऐड्रेस का पता सरकार को चल जाता है, तो सरकार आपके ऊपर भी कानूनी कार्यवाही कर सकती है। इसीलिए हमने पहले ही कहा डार्क वेब से जितना दूर रहे उतना ही हमारे लिए अच्छा है।

डार्क वेब किस प्रकार से कार्य करता है ? (How dark web works in hindi )


How to work dark web information in Hindi: अब आपने जान लिया कि डार्क वेब क्या है ? , तो आपको डार्क वेब किस प्रकार से कार्य करता है ? , यह भी जानने की इच्छा हो रही होगी। जब हम किसी भी जानकारी को जानने के लिए गूगल का इस्तेमाल करते हैं, तो वह हमारे सामने गूगल सर्च रिजल्ट में दिखाई देती है।

परंतु डार्क वेब का इस्तेमाल कोई भी आसानी से नहीं कर सकता इसके लिए आपको एक विशेष प्रकार के ब्राउज़र की आवश्यकता पड़ेगी, जो यूजर नेम और पासवर्ड के जरिए चलता है। अब सवाल उठता है, कि डार्क वेब को एक्सेस कैसे किया (How to access dark web in hindi)जा सकता है।

अगर आप डायरेक्ट ऐप का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो सबसे पहले आपको अपने आईपी एड्रेस का पता गुप्त करना होगा, जो किसी को भी आसानी से दिखाई ना दे। डार्क वेब को एक्सेस करने के लिए बहुत से लोग ऐसे वीपीएन का इस्तेमाल करते हैं, जो आपके ip-address को हाइड करके यानी कि छुपा कर रखता है।

आपको बहुत से ऐसे आए वीपीएन मिल जाएंगे जो ip-address को हाइड करते हैं, जैसे कि :- nord VPN, strongvpn, hide my IP VPN, cactus VPN, kepard VPN ।इसके अतिरिक्त आपको इन सभी वीपीएन को इस्तेमाल करने के लिए एक अलग वेब ब्राउज़र की जरूरत पड़ेगी, जो tor web browser है। ऑफिस ब्राउज़र को आसानी से ऑफिशल वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं।

Note :- हम आपको डार्क वेब इस्तेमाल करने की प्रक्रिया नहीं बताएंगे, क्योंकि यह आपके हित के लिए नहीं है। हमारा मकसद केवल आपको इस काली इंटरनेट की दुनिया के बारे में जानकारी देना है, ना कि आपको इसका ले दुनिया में भेजने के तरीकों के बारे में जानकारी बताना है। हम नहीं चाहते कि हम ऐसा कोई तरीका आपको बताएं, जिससे आप खतरे में फंस जाएं।

बहुत सी ऐसी वेबसाइटें मौजूद है, जो डार्क वेब को पूरी तरह से एक्सेस करने की प्रक्रिया को बताती हैं। ऐसी वेबसाइटें केवल अपनी पापुलैरिटी चाहती हैं, ना कि अपने पाठकों की सुरक्षा। इसीलिए हम कभी भी आपको अपने इस वेबसाइट पर डार्क वेब को एक्सेस करने की प्रक्रिया नहीं बताएंगे। यह हमारे और आपके हित के लिए हैं।

डार्क वेब का इस्तेमाल क्यों नहीं करना चाहिए ? (Why avoid using dark web in Hindi )


Why to ignore dark web using in Hindi: चलिए अब जान लेते हैं, कि हमने आपको डार्क वेब को इस्तेमाल करने के तरीके क्यों नहीं बताए हैं। डार्क वेब पर हमारे लायक कोई भी चीजें नहीं मौजूद होती है। अब आइए जानते हैं, कि डार्क वेब का इस्तेमाल करना क्यों खतरनाक है (Why it is dangerous to use dark web in Hindi)।

  • हैकिंग के खतरे से :-

    डार्क वेब अपने आप में एक इंटरनेट की रहस्यमई दुनिया है। डार्क वेब पर बहुत ही चालाक हैकर मौजूद होते हैं, जो आसानी से किसी का भी डाटा अपने आप को छुपा कर हैक कर सकते हैं। डार्क वेब के हैकर अपने आईपी एड्रेस को सेकंड सेकंड में बदलते रहते हैं, जिसके वजह से उन्हें आसानी से कोई ट्रैक नहीं कर सकता है।डार्क वेब के इस्तेमाल से आपका सिस्टम प्रभावित हो सकता है और हो सकता है, कि आपका डाटा किसी हैकर द्वारा हैक कभी किया जा सकता है। अगर आप डार्क वेब पर एक्सेस करेंगे, तो आपका सिस्टम वायरस से इनफेक्टेड हो सकता है। आपको अपने सिस्टम के हैक होने से संबंधित कोई जानकारी भी नहीं होगी और आपका डाटा हमेशा हैकर द्वारा हैक किया जाता रहेगा। इसीलिए इसके इस्तेमाल से बचें।
  • गैर कानूनी जानकारी :-

    डार्क वेब पर जो जानकारियां गैरकानूनी होती हैं, उन्हें आदान प्रदान करने का कार्य किया जाता है। यहां तक की आपके एटीएम या क्रेडिट कार्ड का भी डाटा लीक किया जा सकता है। हाल ही में एक रिपोर्ट के अनुसार लगभग 15 लाख भारतीयों का डेबिट कार्ड से संबंधित जानकारियों को गैरकानूनी तरीके से बेचने का अंजाम दिया जा रहा था। आपके जीवन भर की कमाई महज चंद सेकेंड में गायब हो सकती है और किसी को भी कानों कान इसकी खबर नहीं होगी, यहां तक की बैंक भी आपकी इस विषय में सहायता नहीं कर सकता है। इसीलिए डार्क वेब के इस्तेमाल से बिल्कुल दूर रहें।
  • साइबर अटैक :-

    डार्क वेब पर ऐसी बहुत सी वेबसाइट मौजूद है, जो लोगों को हैक करने के उद्देश्य से संबंधित ही बनाई गई है। अगर आप डार्क वेब का इस्तेमाल जाने अनजाने में कर देते हैं, तो हो सकता है, कि आपका लैपटॉप, कंप्यूटर या मोबाइल फोन हैक हो जाए।एक बार यदि आपका कोई भी ऐसा डिवाइस जो इंटरनेट से हमेशा कनेक्टर रहता है और वह हैक हो जाता है, तो आपका सारा डाटा अपने आप ही समय दर समय हैकर के द्वारा हैक किया जाता है।यहां तक की कई लोगों का वेबकैम भी हैक कर दिया जाता है। जब आप अपने किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को इस्तेमाल करते हैं, तब आपका अपने आप ही कैमरा ऐसी हो जाता है और आपको इसके बारे में जानकारी भी नहीं होती है।

निष्कर्ष :-

हमें उम्मीद है कि आज का हमारा यह लेख डार्क वेब क्या है और यह कैसे काम करता है, पसंद आया है, तो आप इसे अपने मित्र जन एवं परिजन के साथ अवश्य साझा करें। हमारे इस लेख को साझा करने से आपके जानने वाले एवं रिश्तेदारों को डार्क वेब से संबंधित जानकारी मिल सकेगी, ताकि वह अपने बच्चों को इसके बारे में बताएं और यह भी बताएं, कि डार्क वेब जैसी खतरनाक चीजों से दूर रहने में ही भलाई है।

FAQ :

  1. प्रश्न: आखिर डार्क वेब का निर्माण क्यों किया गया ? ( Why the Dark Web was created)

    उत्तर :- डार्क वेब का निर्माण सरकारी संगठन गुप्त रूप में संचार बनाए रखने के लिए किया गया। डार्क वेब के जरिए सरकारी जानकारियों को इंक्रिप्टेड रूप में एक दूसरे के साथ साझा करने का कार्य किया जाता था। जब वर्ल्ड वाइड वेब का अविष्कार हुआ, तब यह सार्वजनिक रूप से था। World wide web पर किसी भी प्रकार का सरकारी डाटा सुरक्षित नहीं था, यह आसानी से किसी हैकर द्वारा हैक करके लीक कर दिया जाता था। इन सभी चीजों को देखते हुए डार्क वेब का निर्माण किया गया।
  2. प्रश्न: क्या हमें डार्क वेब के इस्तेमाल से बचना चाहिए ? (Should We Avoid Using The Dark Web)

    उत्तर :- जी बिल्कुल आपको इसके इस्तेमाल से बचना चाहिए क्योंकि, यदि आप इस के चक्कर में फंसे हुए, तो कभी भी इससे बाहर नहीं निकल पाएंगे। इसीलिए जितना हो सके इसके इस्तेमाल से बचे रहें।प्रश्न: अगर हम डार्क वेब का इस्तेमाल करते हुए सरकार के माध्यम से पकड़े जाते हैं, तो क्या इसके लिए हमारे ऊपर कानूनी कार्यवाही की जा सकती है ? (Is it illegal to use the dark web )

    उत्तर :- यदि सरकार हमारे ip-address को डार्क वेब के इस्तेमाल के दौरान ट्रैक कर लेती है, तो इसके लिए हमारे ऊपर सरकार की तरफ से कानूनी कार्यवाही भी की जा सकती है।
  3. प्रश्न: क्या डार्क वेब पर सभी प्रकार के गैरकानूनी कार्यो को किया जाता है ? ( Does all kinds of illegal activities take place on the dark web)उत्तर :- जी बिल्कुल हम और आप जो सोच नहीं सकते उन सभी प्रकार के गैरकानूनी कार्यो को डार्क वेब के माध्यम से किया जाता है।
  4. प्रश्न: मैं डार्क वेब को किस प्रकार से एक्सेस कर सकता हूं ? (How can I access the dark web)

    उत्तर :- डार्क वेब को इस्तेमाल करने के लिए आपको आईपी ऐड्रेस हाइड करने वाले विपीन का इस्तेमाल करना होगा।

speed post karne ka tarika | speed post in Hindi

Share on:

मेरा नाम Deepak Yadav है। मैं इस Kaisekarehelp.com Blog और Kaise kare help youtube चैनल का Founder हूँ। हमारा इस kaisekarehelp.com Blog को बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषी लोगों को Internet से जुड़ी जानकारी प्रदान करवाना है। यहाँ आपको शिक्षा, तकनिकी, कंप्यूटर और मेक मनी से जुड़ी हर तरह की जानकारी अपनी मातृ भाषा Hindi में मिलने वाली है।

Leave a Comment