Network in hindi – नेटवर्क क्या होता है

Rate this post

Network in hindi अपने अक्सर अपने फोन मे network नहीं आ रहा जैसे शब्दों का इस्तमल किया होगा, और अगर आपके मन मे कभी ये जिज्ञाशा उठी है की इसे हिन्दी मे क्या बोलते है तो इस लेख मे हम आपको Network in hindi की संपूरण जानकारी देने रहे है।

आप इस बात को जरूर जानते होंगे कि कोई भी मनुष्य अपने बात को किसी के समक्ष रखता है तो उसे आवाज का सहारा लेना पड़ता है क्योंकि बिना आवाज के कोई भी अपनी बात को समझा नहीं सकता है। तो जिस प्रकार मनुष्य अपने बातों को सीधा सीधा समझाने के लिए आवाज का प्रयोग करते है ठीक उसी प्रकार कंप्यूटर अपनी बातों को साझा करने के लिए नेटवर्क का प्रयोग करते है।

नेटवर्क क्या होता है

अगर हम एक आसान भाषा में ही समझने का प्रयास करें तो हम यह पाएंगे कि अगर हम दो या दो से अधिक कंप्यूटर को आपस में जोड़ते है चाहे हम उन कंप्यूटरों को आपस में तार के माध्यम से जुड़े या फिर बिना तार के माध्यम से वह नेटवर्क होता है। कहने का मतलब यह हुआ कि दो या दो से अधिक कंप्यूटरों को एक साथ जोड़ने की प्रक्रिया को नेटवर्क कहा जाता है। नेटवर्क के माध्यम से आप जिन कंप्यूटरों को आपस में जुड़े है उन सभी कंप्यूटरों के साथ आप अपने कंप्यूटर का डाटा शेयर कर सकते हैं।

नेटवर्क के माध्यम से ही हम देश विदेश के लोगों से कंप्यूटर पर बातें कर सकते है या फिर अपने मोबाइल पर बातें कर सकते है। नेटवर्क एक ऐसा जरिया है जिसके माध्यम से हम कितनी भी दूर बैठे व्यक्ति से बात कर सकते है या फिर उन्हें अपने किसी डाटा के बारे में जानकारी प्रदान कर सकते है या फिर अगर हम चाहे तो अपने डाटा को उनके पास भेज भी सकते है।

चाहे वह डांटा कोई वीडियो हो या फिर कोई डॉक्यूमेंट हम किसी भी चीज को नेटवर्क के माध्यम से देश से विदेश तक ट्रांसफर कर सकते है। हम आपको अब एक नेटवर्क का ऐसा उदाहरण देने वाले है जिसके माध्यम से आज के समय में लगभग पूरी दुनिया जुड़ी हुई है – इंटरनेट।

आप भी यह बात बहुत अच्छे से जानते होंगे कि आज इंटरनेट दुनिया भर में फैला हुआ है और दुनिया भर के लगभग सारे काम इंटरनेट के द्वारा ही किया जा रहा है। इंटरनेट फ्री नेटवर्क का ही एक हिस्सा है जिसका उपयोग कर आज लोग अपने डाटा को देश से विदेश ट्रांसफर कर रहे हैं।

नेटवर्क कितने प्रकार के होते है

आपको Network in hindi के बारे में पूरी जानकारी तभी मिल पाएगी जब आप नेटवर्क क्या है के साथ-साथ नेटवर्क के सारे प्रकार के बारे में भी अच्छी तरह जान ले। तो अगर आप नेटवर्क के प्रकार के बारे में नहीं जानते है तो घबराइए मत हम आज आपको नेटवर्क के प्रकार को विस्तार पूर्वक बताने वाले हैं।

LAN (Local Area Network)

नेटवर्क का पहला प्रकार है LAN इसके माध्यम से आप अपने आसपास की किसी भी दो या फिर उनसे ज्यादा कंप्यूटरों को आपस में जोड़ सकते है और एक कंप्यूटर से किसी भी डाटा को बहुत ही आसानी से दूसरे कंप्यूटर में ट्रांसफर कर सकते है। हम आपको बता दें कि लेन का उपयोग ज्यादातर घरों या फिर छोटे-मोटे कार्यालयों में की जाती है क्योंकि इसकी एरिया थोडी कम होती है। 

अब हम यह जान लेते है कि LAN की क्या-क्या विशेषताएं हैं।

  • यह नेटवर्क किसी एक रूम या फिर किसी एक बिल्डिंग तक सीमित रहता है। एक बिल्डिंग से ज्यादा की एरिया में आप इस नेटवर्क का उपयोग नहीं कर सकते है।
  •  इस नेटवर्क की जो डाटा स्पीड करने की क्षमता होती है वह बहुत तेज होती है यानी कि यह कम समय में डाटा एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में ट्रांसफर कर सकता है।
  • लेन नेटवर्क को किसी दूसरे नेटवर्क को किराए पर लेने की जरूरत नहीं होती है क्योंकि यह खुद ही अपने सारे कामों को करने में सक्षम रहता है।
  •  हम आपको बता दें कि इस नेटवर्क में आपकी सारी दाता बिल्कुल सुरक्षित रहती है बिना आपकी मर्जी आपकी डाटा इस नेटवर्क से इधर-उधर नहीं जा सकती।
  • हम आपको बता दें कि सबसे जरूरी बात कि आप इस नेटवर्क के माध्यम से अपने सारे डॉक्यूमेंट या फिर फाइल्स को आसानी से एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में ले जा सकते है।

MAN (Metropolitan Area Network)

नेटवर्क का दूसरा प्रकार है मैन। हम आपको बता दें कि इसकी एरिया क्षमता 75 किलोमीटर की होती है और यह नेटवर्क 200 मेगाबाइट प्रति सेकेंड की रफ्तार से किसी भी डाटा को एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में ट्रांसफर कर सकता है। इस नेटवर्क के माध्यम से दो नजदीकी शहरों को आपस में जोड़ने का काम किया जाता है। 

आइए अब MAN नेटवर्क की विशेषताओं के बारे में जानते हैं।

  •  इस नेटवर्क का रखरखाव लीन के मुकाबले थोड़ा सा कठिन होता है।
  • इस नेटवर्क के माध्यम से आप किसी भी डाटा को एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में 200 मेगाबाइट प्रति सेकेंड की रफ्तार से ट्रांसफर कर सकते है।
  •  इसकी एरिया 75 किलोमीटर तक होती है।

WAN (Wide area Network)

 नेटवर्क का तीसरा और आखिरी प्रकार वैन होता है। आप इस नेटवर्क के माध्यम से ना कि एक कार्यालय और ना ही एक शहर बल्कि आप इस नेटवर्क के माध्यम से पूरे विश्व को एक साथ जोड़ सकते है। यानी कि नेटवर्क दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है और आप इस नेटवर्क के माध्यम से दुनिया भर में अपने डाटा को सुरक्षित शेयर कर सकते है। 

जानते है WAN विशेषताओं के बारे में

  • यह नेटवर्क बिना तार के पूरे दुनिया को एक दूसरे से जोड़ देता है।
  • इस नेटवर्क में डाटा को संकेतों के माध्यम से एक दूसरे को ट्रांसफर किया जाता है।
  •  यह दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है इसके माध्यम से हम दुनिया भर में कहीं भी अपने डेटा को भेज सकते है।

FAQ 

Q. नेटवर्क किसे कहते हैं?

Ans. जब हम एक से ज्यादा कंप्यूटर को आपस में जोड़ते है तो उसे नेटवर्क कहते हैं।

Q. LAN नेटवर्क किसे कहते हैं?

Ans.  जब किसी दो या दो से अधिक कंप्यूटर को आपस में जोड़ते है और डाटा का ट्रांसफर करते हैं तो इसे लाइन कहते है आमतौर पर इसे छोटे जगहों पर इस्तेमाल किया जाता है जैसे घरों के बीच या छोटे कार्यालय में मौजूद कंप्यूटरों के बीच।

Q. WAN नेटवर्क किसे कहते हैं?

Ans. जब हम बिना तार के माध्यम से पूरी दुनिया भर के कंप्यूटर को जोड़ने की कोशिश करते हैं तो इसे वन रहा जाता है एक देश से दूसरे देश के कंप्यूटर को जब हम जोड़ते हैं तो इसे हम WAN कहते हैं

Q. MAN किसे कहते है?

Ans. यह नेटवर्क ना बहुत छोटा होता है और ना ही बहुत बड़ा होता है जब हम 75 किलोमीटर तक के इलाके के कंप्यूटर को आपस में जोड़ते है तो इसे हम MAN कहते है एक शहर से दूसरे शहर के कंप्यूटर को जोड़ने के लिए इस नेटवर्क का इस्तेमाल किया जाता है।

Q  एक कंप्यूटर को दूसरे कंप्यूटर से कैसे जुड़ा जाता है?

Ans. एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर को तार की माध्यम से ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी के माध्यम से या इंटरनेट के माध्यम से जुड़ा जाता है यह सब नेटवर्क का प्रकार है।

निष्कर्ष

अगर आपको इस आर्टिकल के माध्यम से हमने Network in hindi के बारे में लगभग सभी जानकारी दे दी है। उम्मीद करते है की आप समझ गए है की अगर हम दो या दो से अधिक कंप्यूटरों को आपस में जोड़ते है और डाटा को एक दूसरे से साझा करते है तो इस प्रक्रिया को नेटवर्क कहा जाता है।

अगर हमारा यह आर्टिकल पसंद आया और इसमें दी गई सारी जानकारी आपको अच्छे से समझ में आ गई । तो इसे अपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर करे और हो सके तो अपने विचार हमे बताना न भूले।

Share on:

मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं?, आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। धन्यवाद Gmail ID - [email protected]

Leave a Comment