Account In Hindi – अकाउंट का मतलब क्या होता है

Account In Hindi नमस्कार दोस्तों, हम रोजाना हमारे वित्तीय लेनदेन के लिए अकाउंट का इस्तेमाल करते है। क्या आप जानते हैं की अकाउंट क्या होता हैं और यह कैसे और किन – किन नियमों और आधारों पर गिनते हैं। हमारे इस लेख में आपको इसी के बारे में बताने जा रहे हैं। विस्तार से इस विषय के बारे में आपको बताने जा रहे हैं। 

Account क्या हैं

सामान्य शब्दों में और हिंदी भाषा में इसे लेखांकन कहा जाता हैं। यह एक ऐसी पद्धति हैं जिसके माध्यम से वित्तीय लेखे जोके को लिखा जाता है। यह किसी भी संगठन और कंपनी के लिए जरुरी ताकि उस संगठन और कंपनी में हुए लेन – देन का हिसाब रखा जा सके। लेखांकन किसी भी कंपनी के वित्तीय हिसाब किताब को दर्शाता है। 

Account के प्रकार 

अकाउंट कितने प्रकार का होता हैं यह जानकारी हमारे लिए बेहद ही जरुरी हैं। मुख्य रूप से अकाउंट यानी लेखांकन तीन प्रकार का होता हैं। यह तीनों प्रकार अपने आप में विस्तृत हैं और काफी अलग हैं। अकाउंट या लेखांकन के यह तीन प्रकार कुछ इस प्रकार हैं – 

Personal Account

इस प्रकार के खाते में वो खाता आता हैं जिसमे हम यह देखते हैं की यदि कोई खाता किसी व्यक्ति, संगठन और संस्था के नाम से हो तो वो सभी खाते पर्सनल खातों की श्रेणी में आते हैं। उदाहरण के लिए समझे तो इसमें जैसे मोहन का खाता, दुकान का खाता इतियादी। पर्सनल अकाउंट में यह सभी अकाउंट आते हैं – 

  • किसी व्यक्ति का account
  • Bank account
  • Capital account
  • Supplier या customer account
  • Financial और institution account
  • Drawing account
  • XYZ limited account etc

यह सभी पर्सनल अकाउंट के अलग – अलग भाग हैं। 

इन खातों में पैसों के लेनदेन के लिए कुछ नियम है जैसे 

Debiter ( प्राप्तकर्ता ) – अगर ऊपर बताये गए खाते में किसी प्रकार से पैसे बाहर जाते हैं तो उन पैसों को खाते में Debit के रूप में लिखेंगे। 

Crediter ( देनदाता ) – अगर ऊपर बताये गए खाते में किसी प्रकार से बाहर से आते हैं तो उन पैसों को खाते में Debit के रूप में लिखेंगे। 

Real Account

यह मुख्य रूप से वैसा खाता होता हैं जो किसी वस्तु या सम्पति से जुड़ा हो। इस वास्तविक खाते के जरिये किसी Good या Services और किसी भी प्रकार की Liabilities यानी किसी भी प्रकार के ऋण से जुडी जानकारी हो तो उसे इस प्रकार के खाते में लिखते हैं। Real खाते में भी और अन्य 2 प्रकार के खाते होते हैं – 

Tangible Real Account

इस प्रकार के Real खाते में ऐसी सम्पतियों के बारे में वर्णन किया जाता हैं जिनमे कुछ भौतिक संपतियां हो और उन्हें छुआ जा सकता हैं। इस खाते में इस प्रकार के कुछ खाते आते हैं। 

  • Land account
  • Building account
  • Machinery account
  • Furniture account
  • Vehicles account

Intangible Real Accounts

इस प्रकार के Real खाते में ऐसी सम्पतियों के बारे में वर्णन किया जाता हैं जिनमे कुछ अभौतिक संपतियां हो और उन्हें छुआ नहीं जा सकता हैं। इस खाते में इस प्रकार के कुछ खाते आते हैं। 

  • Goodwill account
  • Patent account
  • Copyright account
  • Trademark account etc

इस प्रकार के अकाउंट में भी दो ही नियम होते हैं – 

Debiter ( प्राप्तकर्ता ) – अगर ऊपर बताये गए खाते में किसी प्रकार संम्पति या उस सम्पति के पैसे बाहर जाते हैं तो उन पैसों को खाते में Debit के रूप में लिखेंगे। 

Crediter ( देनदाता ) – अगर ऊपर बताये गए खाते में किसी प्रकार संम्पति या उस सम्पति से बाहर जाते हैं तो उन पैसों को खाते में Debit के रूप में लिखेंगे।

Nominal Account

इस प्रकार के खाते में उस प्रकार के आय व्यय को दर्शाया जाता हैं जो एकदम सामान्य हो और जिमसे आय व्यय के बारे में बताया आता हो। इस प्रकार के खातों में इस प्रकार के कुछ खाते आते हैं। 

  • Discount account
  • Salary account 
  • Purchase account
  • Interest account
  • Wages account
  • Commission pay or receive account
  • Sales account etc
  • Insurance account

इन सभी प्रकार के खातों के अलावा इसमें कुछ और प्रकार के Account भी जाते हैं जो की इस प्रकार हैं – 

Other Accounts 

Cash Account – इस प्रकार के खातों में उन सभी प्रकार के खाते हैं जिनमे नकद व्यवहार और भुगतानों के बारे में बताया जाता हैं। 

Income account – इस में किसी भी व्यवसाय में हुई आय के बारे में बताया जाता हैं।

Expencense account – इस में किसी भी व्यवसाय में हुए खर्चे के बारे में बताया जाता हैं।

Liabilities Account – इस खाते में किसी भी प्रकार के ऋण और कर्ज से जुड़े लेनदेन आते हैं। 

Equity Accounts – इस प्रकार के खातों में किसी भी कंपनी से जुड़े शेयर और उनके बारे में जानकारी के बारे में बताया जाता हैं या उस प्रकार के लेनदेन के बारे में बताया जाता हैं। 

यह हैं अकाउंट के कुछ प्रकार जो लेखांकन में इस्तेमाल किये जाते हैं और उनसे जुड़े लेनदेन के बारे में बताया जाता हैं – 

इसे भी जाने – Current Account Kya Hai In Hindi- Current Account क्या है पूरी जानकारी?

Account से जुडी कुछ Terms

Account यानी लेखांकन से जुड़े कुछ सामान्य Terms इस प्रकार हैं जिनका इस्तेमाल हम हमेशा करते हैं। ऐसे ही कुछ Terms और जुडी फुल फॉर्म और उनके बारे में जानकारी इस प्रकार हैं – 

Account Payable ( AP ) 

इस प्रकार की Terms का मतलब हैं की इसमें उस प्रकार के खर्चों के बारे में बताया जाता हैं जिसमे खर्चा हो किया हैं परन्तु फर्म और कंपनी दुवारा किसी भी प्रकार के भुगतान नही किया गया हो। यह कंपनी के Balance Sheet में Liabilities के रूप में दर्ज किया जाता क्योंकि यह कंपनी पर एक उधार और बकाया हैं। 

Account Receivable ( AR ) 

इस प्रकार के खाते में उन सभी Assets को जोड़ा या लिखा जाता हैं जो कंपनी दुवारा प्रदान किये गये बिक्री में शामिल हैं। लेकिन अभी तक भुगतान में शामिल नही किया गया हैं। यह कंपनी में Assets के रूप में शामिल किया जाता हैं।

Accrued Accounts 

ऐसा भुगतान जिसका भुगतान नही किया गया होता हैं लेकिन फिर भी यह Accrued Accounts शब्द से वर्णित होता हैं।

Assets ( A )

कंपनी के पास ऐसी कोई चीज़ या वस्तु है जिसका कुछ न कुछ मूल्य हैं परन्तु वह भौतिक और अभौतिक रूप से उपलब्ध हैं तो उसको कंपनी खुद की Assests के रूप में दिखाई जायेगी। 

Balance Sheets ( BS ) 

यह एक प्रकार का फॉर्मेट हैं जो कंपनी इस्तेमाल करती हैं। इसमें किसी भी प्रकार के खर्चे और आय के बारे में लिखा जाता हैं इस बैलेंस शीट को बनाने के लिए कुछ प्रकार के समीकरण और नियम इस्तेमाल किये जाते हैं।

Assets = Equity + Liabilities

Book Value ( BV ) 

किसी भी प्रकार की सम्पति का मूल्यहास या मूल्य कम हो जाता हैं या किया जाता हैं तो उस स्तिथि में इसके लिए Book Value शब्द का इस्तेमाल किया जायेगा। Book Value किसी भी Assets के मूल्य को दर्शाता हैं।

Equity ( E ) 

इस भी कम्पनी या फर्म की Liabilities को हटा कर उसके बाद Equity बचे मूल्य के बारे मी दर्शाता हैं। किसी भी कंपनी अगर अपने Assets में सभी प्रकार की Liabilities को हटा देते हैं तो उसके बाद जो पीछे बचता हैं वह Equality होता हैं जिस पर निवेशक और कंपनी के मालिक का हक होता हैं।

Inventory 

यह कंपनी में रखे स्टोक को दर्शाता हैं। इसमें कंपनी के पास कितने प्रोडक्ट को दर्शाता हैं। जैसे – जैसे कंपनी उस प्रोडक्ट को बेचती हैं तो वो Inventory से कम होता हैं। 

Liability ( L )

कंपनी दुवारा किये गये सभी प्रकार के ऋणों का भुगतान करने के बाद उन सब की Entry बैलेंस शीट में Liability में ही शामिल की जाती हैं। जैसे Payable and Payroll Loans इतियादी।

Expenses ( Cost ) 

कंपनी दुवारा किये गये किसी भी प्रकार के व्ययों को दर्शाया जाता हैं। 

Cost of good sold

किसी भी माल या सेवा से जुड़े खर्च को Good Sold Cost के रूप में भी जाना जाता है। 

Gross margin

किसी भी वित्तीय वर्ष के तहत कंपनी के Gross profit लेने और उसी अवधि के लिए Revenue दुवारा विभाजित करके की गई गणना को Gross margin में रखा जाता हैं। यह किसी भी प्रॉफिट में लगने वाली लागत के बाद प्रोडक्ट पर Profitability को दिखता हैं।

Gross Profit

यह किसी कंपनी के फायदों को दिखता हैं जो उस कंपनी को होता हैं। इसकी गणना में Cost of good sold को घटाया जाता हैं। 

Net Income

यह उस कंपनी में हुए शुद्ध लाभ को दर्शाता हैं। किसी भी कंपनी में हुए खर्चे और और व्यव को घटा कर बचे मुनाफे को Net Income के रूप में दर्शाते हैं। 

Revenue ( Sales ) 

किसी भी व्यवसाय या कंपनी दुवारा अपने प्रोडक्ट और सेवाओं के बदले अर्जित धन हैं। 

इसे भी पड़े – What Is Demat Account In Hindi – डिमैट अकाउंट क्या होता है

Account के फायदे 

अगर हम Account का इस्तेमाल करते हैं तो इसके यह कुछ फायदे हैं जो इस प्रकार हैं –

  • आय – व्यय और वित्तीय व्यवहारों के बारे में आसानी से जानकारी रखी जा सकती है। 
  • कंपनी में हुए Profile & Loss की जानकारी। 
  • उधार – बकाया की जानकारी।
  • Assets और Loan की जानकारी
  • Business Turnover की जानकारी इत्यादि। 

Account In Hindi के बारे में पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न एवं उनके उत्तर 

यहां पर हमने अकाउंट इन हिंदी? के बारे में पूछे जाने वाले करीब 5 महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर दिए हुए हैं।

Q: Account कितने प्रकार के होते हैं?

अकाउंट मुख्य रूप से 3 प्रकार के होते हैं।

Q: Real Account का मतलब क्या हैं?

यह अकाउंट भौतिक व अभौतिक प्रकार की सम्पति से जुड़े होते हैं।

Q: Account का हिंदी अर्थ क्या हैं?

अकाउंट का हिंदी अर्थ होता है लेखांकन।

Q: Cash Account में किस प्रकार का Transaction जोड़ा जाता हैं?

इसमें उस Transaction को जोड़ा जाता है जो Cash में किया गया हो।

Q: Goodwill अकाउंट किस प्रकार का अकाउंट अकाउंट हैं?

Goodwill अकाउंट एक प्रकार से Intangible account हैं।

निष्कर्ष

Account In Hindi के बारे में हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है। हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई आज की यह जानकारी आपके लिए काफी ज्यादा यूज खोल रही होगी और आपको आज के इस विषय पर सभी प्रकार की जानकारियों के बारे में भी पता चल गया होगा।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो हम आपके द्वारा दिया गया प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे। इसके अलावा अगर आपको हमारा या लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि अन्य लोगों को भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में आप के माध्यम से पता चल सके। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.