What is network marketing in Hindi | नेटवर्क मार्केटिंग कैसे काम करता है।

5/5 - (1 vote)

What is network marketing in Hindi क्या आप नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में जानते हैं। अगर नहीं तो कोई बात नहीं आज के इस आर्टिकल में हम आपको नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में पूरी विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान करने वाले हैं।

 जैसा कि हम सभी लोग जानते है आजकल इंटरनेट पर काम करके लोग पैसा कमाने के लिए काफी जागरूक हो रहे हैं और कई सारे लोग तो काम करके पैसा कमा भी रहे हैं। इंटरनेट के माध्यम से पैसा कमाने के बहुत सारे रास्ते हैं परंतु शायद ही किसी को उन सभी रास्तों के बारे में जानकारी हो।

 इंटरनेट के माध्यम से जितने पैसे कमाने की मौजूद है उसमें नेटवर्क मार्केटिंग भी एक हैं। नेटवर्क मार्केटिंग कर के हर एक व्यक्ति घर बैठे पैसा कमा सकता है। अगर आप भी नेटवर्क मार्केटिंग के जरिए पैसा कमाना चाहते हैं और इसके लिए क्या करना होगा यह सब कुछ जानना चाहते हैं तो आपको आज का हमारा यह आर्टिकल अंतिम तक अवश्य पढ़ना होगा।

 हम आपको आज के अपने इस आर्टिकल में नेटवर्क मार्केटिंग क्या है? और नेटवर्क मार्केटिंग कैसे करें? एवं नेटवर्क मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए? इन सभी विषयों पर बिल्कुल विस्तार से जानकारी प्रदान करने वाले हैं। नेटवर्क मार्केटिंग से पैसा कमाने के लिए बस आपको आज की इस जानकारी को पढ़ना है।

Table of Contents

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है एवं नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में पूरी जानकारी – What is network marketing in Hindi 

एक समय ऐसा हुआ करता था जब किसी भी कंपनी को अपने प्रोडक्ट का प्रचार करने के लिए या फिर अपने प्रोडक्ट को अपने ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए कई सारी प्रक्रियाओं से होकर इनडायरेक्टली पहुंचना पड़ता था परंतु अब नेटवर्क मार्केटिंग के जरिए कंपनी अपने बड़े से बड़े और छोटे से छोटे प्रोडक्ट को अपने नेटवर्क मार्केटिंग के जरिए डायरेक्टली ग्राहकों तक पहुंचाती है। इसी को आप नेटवर्क मार्केटिंग के रखते हैं या इसी को नेटवर्क मार्केटिंग कहते हैं।

 नेटवर्क मार्केटिंग के जरिए कोई भी कंपनी अपने प्रोडक्ट को सीधे अपने ग्राहकों तक पहुंचाती है और उनके साथ कनेक्ट करती है। नेटवर्क मार्केटिंग में काम करने वाला व्यक्ति कंपनी से सीधे जुड़ता है और उसके बीच में कोई भी मेडिएटर नहीं होता। मगर हां दोस्तों नेटवर्क मार्केटिंग एक चैन की तरह होता है जिसमें कई सारे लोग जुड़े होते हैं।

 उदाहरण के रूप में एक्स नाम के कंपनी के साथ उसके नेटवर्क मार्केटिंग प्रोग्राम जुड़ जाते हैं और अब हम उसके सारे प्रोडक्ट को सीधे कंपनी के जरिए खरीद सकते हैं। अब आपको ऐसे में कुछ डिस्काउंट और कैशबैक भी प्रदान करती है। 

नेटवर्क मार्केटिंग में काम करने वाले जितने भी व्यक्ति होते हैं एक दूसरे के ऊपर निर्भर रहते हैं अर्थात अकेले कोई भी व्यक्ति नेटवर्क मार्केटिंग के जरिए इनकम नहीं कर सकता है।

इसका मतलब है कि आप जितने भी लोगों को नेटवर्क मार्केटिंग के प्रोग्राम से ज्वाइन कर आएंगे उन्हें भी काम करना होगा और अगर वह काम करेंगे और अपनी टीम बनाएंगे तो ऐसे में आपकी टीम बड़ी होगी और अगर प्रत्येक व्यक्ति आपकी टीम मेंबर में से काम करेगा तो आपकी इनकम बहुत ही अच्छी होगी और साथ ही में आपके प्रत्येक टीम मेंबर की भी इनकम अच्छी होगी। कुछ इसी प्रकार के अलग-अलग कंपनियों के वर्किंग पेटर्न को आप नेटवर्क मार्केटिंग कह सकते हैं।

मार्केटिंग के प्रकार – Types of marketing in Hindi

कोई भी कंपनी अपने किसी भी प्रकार के प्रोडक्ट की मार्केटिंग दो प्रकार पर करती है और उनकी जानकारी इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है।

  1. ट्रेडिशनल मार्केटिंग:

ट्रेडीशनल मार्केटिंग के जरिए कंपनी अपने किसी भी प्रकार के प्रोडक्ट को अपने ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए कई सारे प्रक्रियाओं से होकर गुजरती है जिसमें, रिटेलर, होलसेलर, एजेंट और प्रोडक्ट की एडवर्टाइजमेंट। 

इतने सारे प्रोसेस को कंप्लीट करने में कंपनी का बहुत सारा पैसा खर्च होता है और तब जाकर कहीं कंपनी अपने प्रोडक्ट को ग्राहकों तक पहुंचा पाती है। इस प्रोसेस में समय भी लगता है और पैसे के बारे में तो हमने आपको पहले ही बता दिया। इसके अतिरिक्त इसमें पॉसिबिलिटी नहीं होती है कि ग्राहक के प्रति इंटरेस्टेड है या फिर नहीं।

  1.  नेटवर्क मार्केटिंग:

नेटवर्क मार्केटिंग के अंतर्गत नेटवर्क मार्केटिंग व्यक्ति ही कंपनी का सब कुछ होता है और उसी के जरिए कंपनी का और कंपनी के प्रोडक्ट का प्रचार प्रसार होता है। इतना ही नहीं कंपनी अपने छोटे बड़े प्रोडक्ट या सर्विस को सीधे अपने ग्राहकों तक पहुंचाने में सफल रहती है और समय की भी काफी बचत होती है। 

इसे कंपनी का टर्नओवर ट्रेडिशनल मार्केटिंग के मुकाबले काफी अच्छा होता है और  साथ ही में कंपनी अपने टर्नओवर के एक हिस्से में से कंपनी के साथ जुड़े हुए सभी  मार्केटर व्यक्तियों को अच्छी इनकम भी प्रदान करती है। 

जिससे कंपनी के साथ जुड़े हुए लोगों को भी पैसा कमाने का मौका मिलता है और साथ ही में कुछ अन्य आकर्षक बेनिफिट भी मिलते हैं। कुल मिलाकर नेटवर्क मार्केटिंग के अंतर्गत कंपनी ग्राहक दोनों कोई फायदा होता है। 

नेटवर्क मार्केटिंग के प्रकार – Types of network marketing in Hindi

आपने तो अब तक नेटवर्क मार्केटिंग क्या है? (What is network marketing in Hindi) और इतना ही नहीं आपने नेटवर्क मार्केटिंग के संबंधित कुछ ओवरव्यू तो प्राप्त कर ही लिया होगा। अब सवाल उठता है कि नेटवर्क मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं? तो दोस्तों चलिए हम आपको इसकी भी जानकारी इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित रुप में विस्तार पूर्वक से प्रदान करते हैं।

  1. सिंगल टियर नेटवर्क मार्केटिंग:

सिंगल टियर नेटवर्क मार्केटिंग को एफिलिएट मार्केटिंग भी कहते हैं। क्योंकि यह सबसे पुराना और सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। इसके अतिरिक्त आप इसे डायरेक्ट सेलिंग का भी नाम ले सकते हैं। 

आप कंपनी के एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करके उसके सेल को इनक्रीस करते हैं और फिर कंपनी आपको इसके बदले में कंपनी निर्धारित कमीशन प्रदान करती है। इसे करने के लिए आपको कोई भी टीम बनाने की आवश्यकता नहीं है। 

बस आपको ऑनलाइन प्लेटफार्म की जरूरत होती है, जहां पर आप इसके प्रोडक्ट को प्रमोट करने वाले हैं। याद रहे आपको ऐसे प्लेटफार्म का चुनाव करना है जहां पर ज्यादा लोगों की ट्रैफिक है या जहां ज्यादा लोग विजिट करना पसंद करते हैं।

  1. टू टियर मार्केटिंग:

नेटवर्क मार्केटिंग के फील्ड में टू टियर मार्केटिंग भी काफी पुरानी मार्केटिंग स्ट्रेटजी है। इसके अंतर्गत मार्केटर व्यक्ति को  केवल 2 लेवल तक इनकम करने का मौका प्राप्त होता है। मतलब जब आप किसी व्यक्ति को डायरेक्टर अपने नीचे ज्वाइन कर आते हैं और जब वह व्यक्ति किसी और व्यक्ति को अपने नीचे ज्वाइन कर आता है। 

तब आपको उस लेवल तक इनकम प्राप्त होती है। मगर जब तीसरा व्यक्ति किसी व्यक्ति को अपने नीचे ज्वाइन करवाता है तब आपको ऐसे में ₹1 की इनकम नहीं होती है और इसका कोई भी बेनिफिट नहीं होता। मगर फिर भी कई सारी कंपनियों की मार्केटिंग स्ट्रेटजी में इस मार्केटिंग स्ट्रेटजी को शामिल किया गया है। 

और किया जा रहा है परंतु इसमें थोड़ा बहुत बदलाव कंपनियां करती है उसके बाद उसके प्रोग्राम को लॉन्च करती है। इतना सब कुछ करने के बाद भी इसमें लोग अब पहले के मुकाबले कम रुचि दिखाते हैं और इसकी जगह मल्टी लेवल मार्केटिंग स्ट्रेटजी ने ले ली है।

  1. मल्टी लेवल मार्केटिंग:

नेटवर्क मार्केटिंग में सबसे ज्यादा लोकप्रिय और पॉपुलर मल्टी लेवल मार्केटिंग स्ट्रेटजी है। नेटवर्क मार्केटिंग करने वाली कंपनियां ज्यादातर मल्टी लेवल मार्केटिंग पर प्रोग्राम को लॉन्च करना पसंद करती है क्योंकि इसके अंदर ज्यादा लोग ज्वाइन होना पसंद करते हैं। 

इस में ज्वाइन होने पर आपको 5 लेवल से लेकर करीब 10 लेवल या इससे ऊपर तक की होती है। नेटवर्क मार्केटिंग के क्षेत्र में मल्टी लेवल मार्केटिंग को इसकी जानकारी जाता है और इसका मूल स्तंभ कहा जाता है। वैसे आपने तो जरूर किसी ना किसी मल्टी लेवल मार्केटिंग कंपनी के साथ काम किया होगा क्योंकि यह सबसे ज्यादा मोस्ट पॉपुलर नेटवर्क मार्केटिंग स्ट्रेटजी के अंतर्गत आता है।

नेटवर्क मार्केटिंग कैसे काम करता है – How to work network marketing in Hindi

नेटवर्क मार्केटिंग एक बहुत बड़ी मार्केटिंग स्ट्रेटजी है। इसके अंतर्गत कई सारे नेटवर्क मार्केटिंग के प्रकार आते हैं और प्रकार को कंपनियां अपने मार्केटिंग स्ट्रेटजी बनाती हैं। फिर अपने प्रोडक्ट और सर्विस को सीधे ग्राहकों तक पहुंचाती है जिससे कंपनी को और नेटवर्क मार्केटिंग के साथ जुड़े हुए व्यक्ति को भी फायदा होता है।

नेटवर्क मार्केटिंग के साथ जुड़े हुए लोग कंपनी के प्रोडक्ट का खुद प्रचार प्रसार करते हैं। इसके लिए कंपनी को किसी भी प्रकार का अतिरिक्त खर्च करने की आवश्यकता नहीं होती है। इसके अतिरिक्त कंपनी को ट्रेडिशनल मार्केटिंग के मुकाबले नेटवर्क मार्केटिंग के जरिए अच्छा रिटर्न मिलने की पॉसिबिलिटी ज्यादा होती है।

 अब हम आपको इसे थोड़ा उदाहरणों के जरिए और भी विस्तार से समझाने का प्रयत्न करते हैं। मान लीजिए कि आप किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ जोड़ते हैं और उसके देते हैं और उसके अन्य लोगों के साथ शेयर करते हैं, जिससे कंपनी की मार्केटिंग होती है और आप के नीचे जितने भी मेंबर जॉइन होंगे और वह भी आपके जैसे ही काम करेंगे तो आपको भी उसका पूरा का पूरा फायदा होगा।

 मल्टी लेवल मार्केटिंग नेटवर्क मार्केटिंग का महत्वपूर्ण अंग बन चुका है और इससे मल्टी लेवल मार्केटिंग कंपनियों के साथ जोड़कर इनकम करने का बहुत बड़ा मुनाफा मिलता है। आजकल मार्केट में बहुत सारी मल्टी लेवल मार्केटिंग प्रोग्राम को चलाने वाली कंपनियां मौजूद है। 

अगर आप किसी भी व्यक्ति को मल्टी लेवल मार्केटिंग कंपनी के साथ जुड़ जाते हैं और फिर उसके नीचे लोग आपके जैसा सेम टू सेम काम करते जाते हैं तो दोस्तों वाकई में नेटवर्क मार्केटिंग आपको एक अच्छी इनकम प्रदान करके दे सकता है। आज के समय में मार्केटिंग स्ट्रेटजी में नेटवर्क मार्केटिंग रिवोल्यूशन है और लगभग हर एक छोटी बड़ी कंपनी इस प्रोग्राम को लॉन्च करना पसंद करते हैं और अपनी सेल में वृद्धि करती है। 

नेटवर्क मार्केटिंग जॉइन करने के लिए योग्यता –  eligibility for joining network marketing program in Hindi

आपने अब तक नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में काफी सारी जानकारी हासिल कर ली होगी और आपको नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में सब कुछ पता चल चुका होगा। अब जिसको नेटवर्क मार्केटिंग ज्वाइन करना है और इसके अंतर्गत काम करना है तो आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि आखिर किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ ढूंढने और उनके प्रोग्राम को ज्वाइन करने के लिए क्या कोई विशेष योग्यता का होना आवश्यक है। 

हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ जुड़ने और उनके प्रोग्राम को ज्वाइन करने के लिए आपको कोई भी विशेष एलिजिबिलिटी की आवश्यकता नहीं होगी। कितने लोग यह भी सोचते हैं कि केवल पढ़े लिखे लोग ही नेटवर्क मार्केटिंग कर सकते हैं और इसके प्रोग्राम को ज्वाइन कर सकते हैं। ऐसा बिल्कुल भी नहीं है अगर आपके अंदर चीजों को समझने की क्षमता है और आप लोगों को भी अच्छे तरीके से अपनी बातों को समझाने की कला रखते हैं तब आप नेटवर्क मार्केटिंग करने के लिए योग्य हैं। 

नेटवर्क मार्केटिंग ज्वाइन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज – Required documents for joining network marketing program in Hindi 2021

 किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ घूमने के लिए आपको ज्यादा दस्तावेजों की जरूरत नहीं होती है। एक या दो दस्तावेजों के जरिए ही आप किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग प्रोग्राम को ज्वाइन कर सकते हैं। चलिए जानते हैं कि आपको कौन-कौन से आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी, जिसकी जानकारी इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है।

  • आपको आधार कार्ड या फिर कोई भी पहचान प्रमाण पत्र की आवश्यकता पड़ेगी।
  •  आपको ईमेल आईडी की आवश्यकता पड़ेगी।
  •  अंतिम में आपको कोई भी एक स्थाई मोबाइल नंबर की आवश्यकता पड़ेगी।

 कोई भी नेटवर्क मार्केटिंग प्रोग्राम कैसे ज्वाइन करें – How to join network marketing  program in Hindi

किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग प्रोग्राम के साथ जुड़ने के लिए आपको कुछ आसान स्टेप फॉलो करने होते हैं और वह क्या स्टेप होंगे इसकी जानकारी नीचे निम्नलिखित है। किसी भी प्रोग्राम को ज्वाइन करने से पहले पहले कुछ स्टेट को फॉलो करें और उसके बाद ही उसे ज्वाइन करें। तो चलिए जानते हैं कि नेटवर्क मार्केटर बनने के लिए आपको क्या-क्या करना होगा? जिसकी जानकारी इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है।

STEP 1. इस फील्ड में आने से पहले आपको सबसे पहले इसके बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए और इसके लिए आप गूगल और यूट्यूब का सहारा ले सकते हैं। जब आप इसके बारे में थोड़ा बहुत जानने लगे तब ही इसे ज्वाइन करने पर विचार करें।

STEP 2.  अब जब आप किसी भी कंपनी के साथ जुड़ेंगे तो स्वभाविक है कि आप उसके प्रोडक्ट को प्रमोट करेंगे और उसके सेल में वृद्धि लाना चाहेंगे। इसीलिए आपको सबसे पहले यह समझना है कि आप जिस कंपनी के साथ जुड़ रहे हैं क्या उसके प्रोडक्ट अफॉर्डेबल प्राइस में उपलब्ध है मतलब कि क्या उस प्रोडक्ट को मिडिल क्लास से लेकर हाई क्लासके लोग खरीद सकते हैं और क्या उसमें ग्राहकों को कोई वैल्यू मिल रही है या फिर नहीं। अगर आपकी कंपनी का प्रोडक्ट वैल्युएबल है तो आप उसे ज्वाइन करें और साथ ही में आम लोगों पर उस प्रोडक्ट का क्या बजट पर क्या प्रभाव पड़ने वाला है इसका भी मुख्य रूप से ध्यान रखें।

STEP 3. आप अपने कंपनी के लीगलिटी की जानकारी अवश्य चेक करें। कई कई ऐसी कंपनियां होती हैं, किसी भी कंपनी के फर्जी नाम को रख लेती है और उसके बाद लोगों को उसके अंदर ज्वाइन करवा कर कुछ पैसे चार्ज करती है और फिर अंतिम में पैसे लेकर फ्रॉड कर देती है।

आपको देखना है कि आप जिस कंपनी को ज्वाइन कर रहे हैं वह कितने साल से इस फील्ड में है और उसके साथ कितने सारे लोग  ज्वाइन है और वह लोग कंपनी के सर्विस और उसके द्वारा दी जाने वाली इनकम से संतुष्ट हैं या फिर नहीं। अगर यह सभी पैरामीटर बिल्कुल सही निकलते हैं तब आंख बंद करके आप उस नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ जुड़ सकते हैं। 

STEP 4. आपको सबसे पहले नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों की लिस्ट को तैयार करना है और उसके बाद आपको कंपनी के सारे टर्नओवर को समझिए और उसके बाद कंपनी के साथ काम कर रहे लोगों का क्या फीडबैक है इस पर भी विशेष रूप से ध्यान दीजिए। इसके साथ ही कंपनी किस प्रतिशत पर अपने साथ जुड़े हुए लोगों को इनकम प्रदान करती है इसका भी मुख्य रूप से ध्यान रखें। इसके बाद कंपनी के आगे के जॉइनिंग प्रोसीजर को समझें।

STEP 5.  अगर आप चाहे तो सीधे कंपनी के साथ कांटेक्ट करके उनके प्रोग्राम को ज्वाइन कर सकते हैं या फिर कंपनी को रिप्रेजेंट करने वाले लोगों के साथ भी जोड़ कर आप कंपनी के मल्टीलेवल प्रोग्राम को ज्वाइन करके इनके साथ जुड़ सकते हैं।

STEP 6. जब किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों के साथ कोई व्यक्ति जोड़ता है तब कंपनी अपने नए नए नेटवर्क मार्केटर व्यक्ति को लक्ष्य निर्धारित करके देती है और हमें टाइम परउस लक्ष्य को पूरा करना होता है और अगर आप अपने लक्ष्य को पूरा नहीं कर पाते हैं तब आप कंपनी के नजर में बेस्ट एम्पलाई नहीं बन पाते हैं और अगर आप उस लक्ष्य को पूरा कर लेते हैं आपसे कंपनी कुछ बेनिफिट भी प्रदान करती है। 

STEP 7. नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ जोड़ने के बाद कंपनी अपने साथ जुड़े हुए नए-नए मार्केटर व्यक्ति को कुछ क्रेडेंशियल प्रदान करती है और आपको उन सभी क्रेडेंशियल को लेना है और फिर उसी की सहायता से कंपनी के प्रोडक्ट का प्रचार प्रसार करना है।

STEP 8. जब आप किसी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ जोड़ते हैं तब आप किसी न किसी सीनियर के नीचे ज्वाइन होते हैं और आपको अपने सीनियर से कांटेक्ट करना है और उनके और कंपनी के वर्किंग    स्ट्रेटजी को सबसे पहले समझना है। और आपको उनके अनुभव को भी समझना है और उसी हिसाब से काम करना है। 

STEP 9.  आप अपने ग्राहक को पहचाने और उसे टारगेट करके अपने साथ जोइनिंग करवाएं। आप ग्राहक को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से टारगेट कर सकते हैं। आपके द्वारा चुना गया ग्राहक आपके बिजनेस में आप को अमीर बना सकता है और खुद भी सक्सेसफुल हो सकता है।

online job kaise search kare | नौकरी कैसे खोजे

नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी का चुनाव कैसे करें – How to choose network marketing company in Hindi

किसी भी प्रकार की नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी का चुनाव करने के लिए आपको कुछ आवश्यक बातों पर विशेष रूप से ध्यान देना चाहिए और उसकी जानकारी किस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है।

  • किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी की अधिकारिक वेबसाइट और हेड ऑफिस जरूर होता है। ऐसे मैं आपको जिस कंपनी के साथ जोड़ना है उस की आधिकारिक वेबसाइट पर या फिर उसके हेड ऑफिस पर अवश्य विजिट करना चाहिए। 
  • आप एक ऐसे कंपनी के साथ जुड़े जो वैल्युएबल प्रोडक्ट के साथ-साथ यूनिक प्रोडक्ट बेचती हो और इसके साथ आप एक बात का और भी विशेष रूप से ध्यान रखें कि कंपनी का प्रत्येक प्रोडक्ट का प्राइस सब के बजट में आता हो।
  • इतने दिनों से नेटवर्क मार्केटिंग के फील्ड में कंपनी काम कर रही है और साथ ही में कंपनी के साथ कितने लोग ज्वाइन हैं और वह लोग कंपनी को कैसा फीडबैक दे रहे हैं। इन सभी बातों पर भी विशेष रूप से अवश्य ध्यान दें।
  • कंपनी के पास काम करने के लिए रजिस्ट्रेशन होना चाहिए और सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त प्रमाण पत्र भी होना अनिवार्य है।
  • कंपनी के पूरे वर्किंग प्रोसीजर को सबसे पहले आप को समझना होगा और इतना ही नहीं आपको  कुछ प्रोफेशनल लोगों के साथ में कांटेक्ट भी रखना ताकि आवश्यकता पड़ने पर आप उनके अनुभवों को भी समझे और अपने वर्किंग स्ट्रेटजी में उसे इन बिल्ड करें।

भारत में नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियां – Top network marketing company in India

अब आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि भारत में कौन-कौन सी टॉप मोस्ट पॉपुलर नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियां है? तो यहां पर हमने कुछ कंपनियों की लिस्ट अपने अनुसार तैयार की है और हम किसी भी कंपनी को अच्छी कंपनी का दर्जा नहीं देते। आपको खुद रिसर्च करना है और उसके बाद ही किसी परिणाम पर जाना है। चलिए हम अपनी सूची और आगे बढ़ते हैं जो इस प्रकार से निम्नलिखित है

नेटवर्क मार्केटिंग के फायदे –  Advantage of network marketing in Hindi

नेटवर्क मार्केटिंग के बहुत सारे फायदे हैं और उनमें से कुछ इस प्रकार निम्नलिखित है।

  • नेटवर्क मार्केटिंग के साथ जोड़ने पर आपको ज्यादा कुछ निवेश करने की आवश्यकता नहीं है यहां तक कि कंपनी आपको कई सारे सपोर्ट भी प्रदान करती है।
  • नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ जुड़ने पर हमारी क्रिएटिविटी में विकास होता है।
  • नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ जोड़ने पर आप के रहन-सहन और बोलचाल के स्वभाव और बर्ताव में भी काफी ज्यादा बदलाव होता है।
  • आप सभी चीजों के बारे में अप टू डेट रहने लगते हैं।
  • नेटवर्क मार्केटिंग के साथ जोड़ने पर सोचने और समझने की क्षमता में विकास होता है।
  •  आज के समय में बिना किसी कंपनी में वर्कर के रूप में काम करके आपको नेटवर्क मार्केटर के रूप में काम करने की बिल्कुल आजादी मिलती है।
  • नेटवर्क मार्केटिंग के रूप में काम करके पैसा कमाने के लिए कोई भी योग्यता की जरूरत नहीं है और एक कम पढ़ा लिखा व्यक्ति भी नेटवर्क मार्केटिंग करके पैसा कमा सकता है।
  • नेटवर्क मार्केटिंग एक पेसिफिक इनकम का सोर्स बन सकता है।

FAQ about what is network marketing in Hindi

Q: नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत कब हुई?

ANS:- हमारे भारत देश में डायरेक्ट सेलिंग की शुरुआत वर्ष 1980 में हुई थी।

Q: भारत में सबसे पहली डायरेक्ट सेलिंग कंपनी का नाम?

ANS:- भारत में डायरेक्ट सेलिंग कंपनी का नाम यूरेका फॉर्ब्स है।

Q: डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस क्या है?

ANS:- डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस उसे कहते हैं, जब किसी भी कंपनी  के प्रोडक्ट या सर्विस को किसी अन्य पार्टी प्रोसीजर बिना गुजरे सीधे ग्राहकों तक प्रोडक्ट या सर्विस मिलती है तो उसे डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस कहते हैं। डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस में नेटवर्क मार्केटर कंपनी के प्रोडक्ट और सर्विस को सीधे सेल करवाता है और उसे सीधे ग्राहकों तक पहुंचाने का काम करता है।

Q: भारत की नंबर वन नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी कौन सी है?

ANS:- भारत की कुछ नंबर वन नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों के की सूची इस प्रकार के नीचे निम्नलिखित है।

मोदी केयर
एमवे
एम आई लाइफस्टाइल
हर्बल लाइफ
वेस्टीज
एवन
हिंदुस्तान युनिलीवर लिमिटेड

Q: 2025 का सबसे बड़ा बिजनेस कौन सा होगा?

ANS:- पिछले 5 वर्षों में डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस की ग्रोथ 20% तक की बढ़ चुकी है। इस आंकड़े के अनुसार आने वाले समय में लगभग डायरेक्ट सेलिंग के इस ग्रोथ को देखते हुए कहा जा सकता है कि इस व्यापार में काफी ज्यादा सुनहरे अवसर है और यही व्यापार सबसे बड़ा व्यापार 2025 का साबित होने वाला है।

Q: अमेरिका में कितने परसेंटेज लोग नेटवर्क मार्केटिंग करते हैं?

ANS:- अमेरिका की कुल जनसंख्या के हिसाब से लगभग से लेकर 35% से लेकर 40% तक के लोग  नेटवर्क मार्केटिंग के क्षेत्र में काम करते हैं।

निष्कर्ष:-

आज के इस आर्टिकल में हमने आप सभी लोगों को What is network marketing in Hindi के बारे में हमने बहुत विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है।

हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई आज की यह जानकारी आपके लिए काफी हेल्पफुल और ज्ञानवर्धक सिद्ध हुई होगी। अगर आपके मन में आज के इस विषय से संबंधित कोई भी सवाल या फिर सुझाव है तो आप कमेंट बॉक्स में बताएं।

आर्टिकल पसंद आने पर आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले । 

Share on:

मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं?, आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। धन्यवाद Gmail ID - [email protected]ail.com

Leave a Comment