What is an Army in hindi | क्या होती है एक सेना ?

Rate this post

Territorial Army

What is an Army in hindi :- हर देश की एक सेना होती है जो देश के निवासियों व देश के सीमाओं की रक्षा करती है। भारत देश मे भी तीन प्रकार की सेनाएँ देश की सेवा मे हमेशा अग्रसर रहती है जिसमे जल सेना, थल सेना ओर वायु सेना शामिल है।

यह सेनाएँ देश मे अपनी देश व देश की सीमाओं की रक्षा करती है। देश मे कभी भी अशांति का माहौल पैदा होता है तो उस समय Territorial Army को ही बुलाया जाता है। अगर आप भी इस आर्मी के बारे मे जानने की इच्छा रखते है तो आप इस लेख को अन्त तक पढे ताकि आपको इसके बारे मे पूरी जानकारी मिल सके।

क्या होती है एक सेना ? ( What is an Army in hindi ) 

एक सेना देश की वह इकाई होती है जो देश की सीमाओं पर रात-दिन, सुबह से शाम बिना कोई गर्मी व सर्दी देखे अपना काम करती है ओर अपना फर्ज अच्छी तरह से निभाती है। बिना देश की सेना के हम एक देश की कल्पना कैसे कर सकते है यह हम समझ सकते है। देश मे कई प्रकार की सेनाएँ काम करती है

वह देश की भौतिक स्थिति के अनुसार निर्भर होती है। भारत मे थल सेना, वायु सेना व जन सेना अपने फर्ज के लिए काम करती है वही अगर हम चीन की बात करे तो उस देश मे जल सेना की आवश्यकता कम ही पडती है क्योंकि उस देश के आस पास समुद्र नही है। थल सेना देश मे सीमाओं पर फिल्ड मे काम करती है।

क्या होती है टेरिटोरियल आर्मी ? ( What is Territorial Army hindi ) 

भारत मे आर्मी की तरह ही यह टेरिटोरियल आर्मी भी होती है जो देश की सेना की ही एक इकाई होती है। इस सेना को भारतीय सेना की सैकेण्ड लाइन भी कहा जाता है। जब भी देश मे संकट होता है उस समय देश की सेवा हेतु इस सेना को बुलाया जाता है। देश मे युद्घ के समय टेरिटोरियल आर्मी को फ्रन्ट लाइन पर लाया जाता है।

इस प्रकार की आर्मी हमेशा एक सिविलियंस की तरह देश मे काम करती है। यू भी कह सकते है की टेरिटोरियल आर्मी एक स्वयं सेवक के तौर पर काम करती है जिनके बदले मे उनको कुछ निश्चित सैलेरी मिलती है।

टेरिटोरियल आर्मी के काम ( works of territorial army )

वैसे तो देश की हर आर्मी के तरह ही टेरीटोरियल आर्मी के भी एक समान ही काम है, परंतु इस प्रकार की आर्मी कुछ विशेष कार्य होते हैं जो इस आर्मी को अलग बनाते हैं।

  • टेरीटोरियल आर्मी की मदद उस समय ली जाती है जब देश संकट की घड़ी में होता है, यह आर्मी हर वक़्त फ़ौज में नही रहती, जब आवश्यकता होती है तब इनको बुलाया जाता है।
  • टेरीटोरियल आर्मी को देश जब युद्ध की स्तिथि होती है उस समय बुलाया जाता है और युद्ध के समय इन्हें फ्रंट लाइन पर रखा जाता हैं। इनको सीमाओं पर भी भेजा जाता है जहाँ वे देश के दुश्मनों से लोहा लेते हैं।
  • यह आर्मी देश की तीनों अन्य सेनाओं की तरह हर वक़्त सीमा पर नही रहती, जब आवश्यकता होती है उस समय इनको बुलाया जाता हैं।
  • देश के युद्ध की स्तिथि में यह आर्मी देश की नियमित सेना के साथ टुकड़ी की व्यवस्था करती हैं
  • यह आर्मी देश मे जल सेना व वायु सेना की मदद में भी हमेशा अग्रसर होती है जहाँ यह उन सभी सेनाओं व उनकी टुकड़ियों की मदद करती हैं।
  • देश मे जब ग्रह युद्ध या आंतरिक युद्ध होता है इस समय यह आर्मी हर वक़्त आगे रहती है।
  • देश के उत्तरी हिस्से जम्मू कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेने वाली यह अहम फोर्स है जो हर वक्त आगे रहती हैं।

टेरीटोरियल आर्मी में कौन हो सकता है शामिल ? ( who can join the territorial army )

अगर आप देश की इस अहम फ़ोर्स का हिस्सा बनना चाहते है तो आपको इस बात का ध्यान अवश्य होना चाहिए कि इस सेना में कौन भर्ती हो सकता है या इसके लिए योग्यता क्या है?

  • नागरिकता – टेरिटोरियल आर्मी मे भर्ती होने के लिए सबसे महत्वपूर्ण योग्यता तो यह है की नागरिक भारत का मूल निवासी होना चाहिए। भारत की किसी भी सेना मे भर्ती होने के लिए यह जरूरी है।
  • आयु – जो प्रार्थी टेरिटोरियल आर्मी के लिए आवेदन करने की सोच रहे है तो आपको बता दे की आपकी आयु कम से कम 18 वर्ष ओर अधिक के अधिक 42 वर्ष की होने चाहिए।
  • शैक्षणिक योग्यता – टेरिटोरियल आर्मी मे आवेदन करने वाला अभियार्थी स्नातक पास होना चाहिए। स्नातक से कम शैक्षणिक योग्यता वाले अभियार्थी इस परीक्षा मे नही बैठ सकते।
  • शारीरिक दक्षता – अभियार्थी जो इस परीक्षा मे बैठना चाहते है उनके लिए जरूरी है की वो शारीरिक रूप से फिट हो।
  • लाभ पद पर आश्रित – जो अभियार्थी इस आर्मी को जाॅईन करना चाहता है उसके लिए जरूरी है की वो किसी भी लाभ के पद पर  हो चाहे वह सरकारी पद पर हो या प्राइवेट पद पर भी हो।
  • वर्तमान आर्मी मे सेवाधारी – अगर कोई लाभार्थी वर्तमान किसी भी आर्मी मे कार्यरत है तो वो इस  परीक्षा मे नही बैठ सकता है।

सेलिब्रिटी जिन्होने जाॅइन की थी आर्मी ( Celebrity who joined Army ) 

शायद आपको इस बात का पता नही होगा की भारत के कुछ ऐसे भी सेलिब्रिटी है जिन्होंने कभी न कभी आर्मी जाॅइन कर देश ओर अपने परिवार का नाम रोशन किया है।

  • अभिनव बिन्द्रा – भारत केे सबसे प्रसिद्घ शूटर अभिनव बिंद्रा ने भी देश की आर्मी को जाॅनइ किया था। उन्होने भारतीय आर्मी मे लेफनेन्ट कर्नल की रैंक पर कार्य किया है।
  • कपिल देव – भारत को प्रथम 50 ओवर वल्ड कप जिताने वाले कपिल देव को कौन भूल सकता है। कपिल देव ने भी टेरिटोरियल आर्मी मे अतिरिक्त डायरेक्टर निदेशक की पोस्ट पर कार्य किया है।
  • महेन्द्र सिंह धोनी – भारत के कैप्टन कूल को आज हम सब जानते है जिन्होंने भारत को क्रिकेट के तीनो फाॅर्मेटस मे भारत को विजयी बनाया है। आपको बता दे की महेन्द्र सिंह धोनी ने भी भारतीय आर्मी मे अपनी सेवाएँ दी है।
  • सचिन तेन्दूलकर – भारतीय क्रिकेट के भगवान के नाम से पहचाने जाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेन्दूलकर ने भी भारतीय सेवा मे अपनी सेवाएं दी है। यह भारत के पहले स्र्पोट्स मैन है जिन्होंने भारतीय सेना मे अपनी सेवाएं दी है।
  • मोहनलाल वैश्वनाथ नेयर – दक्षिण भारत के प्रसिद्घ अभिनेता मोहनलाल वैश्वनाथ भी इस महान काम से अछूते नही है। मोहनलाल जी ने भी भारत की टेरिटोरियल आर्मी मे लैफनेंट कर्नल की पोस्ट पर अपनी सेवाएं दी है।
  • सचिन पायलट – राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री ने भी भारत की टेरिटोरियल आर्मी मे अपनी सेवाएं लैफ्टनेंट के पद पर दी है। सचिन सिख रेजिमेंट की TA बटालियन मे कमीशनर के पद पर कार्यरत है।
  • राज्यवर्धन सिंह राठौड़ – लेफ्टनेंट कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ भी इस काम से अछूते नही हे उन्होने भी भारतीय सेना मे रहते हुए गोल्ड मेडल हासिल किया है।
  • विजय कुमार – भारतीय शूटर भी इसी श्रेणी मे आते है जिन्होंने भातीय सेना मे एक अहम पद पर अपनी सेवाएं दी है। आपको बता दे की विजय कुमार 2012 के ओलम्पिक मे सिल्वर मेडल हासिल किया है।
  • मिल्खा सिंह – भारत के स्पीड मैन के नाम से पहचाने जाने वाले मिल्खा सिंह ने भी भारतीय सेना मे जेसीओ मे पद पर अपनी सेवाएं दी है।

टेरिटोरियल आर्मी मे कैसे होता है चयन  ( How to get selected in Territorial Army ) 

टेरिटोरियल आर्मी मे कैसे चयन होता है इस के बारे मे आप जरूर जानना चाहते होंगे, आपको बता दे की अगर आप भी भारत की इस फ्रंट लाईन सेना टेरिटोरियल आर्मी मे भर्ती होने के लिए किन प्रोसेस को फाॅलो कर सकते है।

  • आवेदन पत्र – टेरिटोरियल आर्मी मे भर्ती होने के लिए हर साल आवेदन मांगे जाते है। आवेदन पत्र भरने के बाद आपको इसके लिए एक एग्जाम देना पडता है।
  • परीक्षा की प्रक्रिया – इस तरह की आर्मी भर्ती के लिए एक परीक्षा होती है जिसमे 2 पेपर होते है। जिसमे पहले पेपर मे रिजनिंग व गणित से संबंधित प्रश्न पूछे जाते है। इस परीक्षा के दूसरे पेपर मे सामान्य अंग्रेजी से संबंधित प्रश्न पूछे जाते है।
  • यह दोनो पेपर 200 नम्बर के होते है जिसमे हर पेपर मे 40 प्रतिशत नम्बर लाना अनिवार्य होता है वही दोनो पेपर मे overall नम्बर 50 प्रतिशत नम्बर लाना अनिवार्य होता है। इसके बाद ही आप Physical Test के लिए योग्य हो सकते है।
  • परीक्षा का सैलेबस – इस परीक्षा मे जो दो पेपर होते है उस परीक्षा मे सामान्य गणित, रिजनिंग, सामान्य ज्ञान व सामान्य अंग्रेजी विषयों के बारे मे पूछा जाता है।
  • सामान्य गणित मे कक्षा 10 तक की सामान्य गणित के प्रश्नों के संबंध मे पूछा जाता है वही रिजनिंग मे मैन्टर एबिलिटी से संबंधित प्रश्न पूछे जाते है। सामान्य ज्ञान के करैन्ट अफेयर से संबंधित प्रश्न पूछे जाते है वही अंग्रेजी मे सामान्य अंग्रेजी से संबंधित प्रश्न पूछे जाते है।

टेरिटोरियल आर्मी मे Physical योग्यता (Physical eligibility for territorial army ) 

Territorial Army मे भर्ती होने के लिए आवेदक का Physical Status सही होना जरूरी होता है जिसमे आवेदक को कुछ निम्न योगताओ को पूरा करना होता है। इसमे आवेदक की आयु 18 से 45 वर्ष की होना चाहिए।

आवेदक की उचाई 5.33 फिट होना चाहिए वही आवेदक का वजन 50 किलो के आसपास होना चाहिए। आवेदन का सीना 77 से 82 होना चाहिए। आवेदक शारीरिक रूप से स्वस्थ्य होना चाहिए। किसी भी आर्मी मे भर्ती होने के लिए यह आवश्यक होता है।

परीक्षा का सैलेबस ( Exam Syllabus )

टाॅपिकसह – टाॅपिक
सामान्य गणितअर्थमेटिक, येटेरिलि मेथड, सामान्य नम्बर थ्योरी, अल्गबेरा, त्रिग्योमेंटी, ज्योमेट्री, व सामान्य स्टेटिक
रिजनिंगस्टेटमेंट, फिगर, नम्बर व अक्षर
सामान्य ज्ञानसामान्य ज्ञान, भारत का इतिहास, ओर भारत का भूगोल,
अंग्रेजी भाषाSynonyms, Antonyms, Para Jumbles, Error Spotting,  Sentence Correction and Fill in the Blanks, Reading Comprehension, Jumbled Sentences

परीक्षा का पैटर्न ( Examination pattern )

टेरिटोरियल आर्मी मे चयन के लिए परीक्षा का पैटर्न का कुछ इस प्रकार है जिसे आप आसानी से समझ सकते है।

  • Step 1 – प्रारंभिक परीक्षा – इस परीक्षा का पहला चरण प्रारंभिक परीक्षा होता है। इसमे आवेदन के बाद अभियार्थीयों का परीक्षा के लिए बुलाया जाता है।
  • Step 2 – SSB इन्टरवियू – प्रारंभिक परीक्षा के बाद अभियार्थियों के लिए SSB इन्टरवियू के लिए बुलाया जाता है। जहा पर परीक्षा बोर्ड द्वारा अभियार्थियों का इन्टरवियू किया जाता है।
  • Step 3 – मेडिकल इन्टरवियू – एसएसबी इन्टरवियू के बाद अभियार्थियो का मेडिकल इन्टरवियू होता है। जिसमे अर्भियार्थियो का मेडिकल इन्टरवियू होता है। इन सब चरण के बाद अभियार्थियों का फाइनल सेक्सन होता है।

निष्कर्ष

टेरिटोरियल आर्मी भारतीय सेना एक मुख्य अंग होता है जो स्वयं सेवक के तौर पर कार्य करता है। Territorial Army in hindi देश मे होने वाले ग्रह युद्धों मे उनको शांति रखने के लिए उपयोग मे होती है। देश मे कभी भी अशांति का माहौल पैदा होता है तो उस समय टेरिटोरियल आर्मी को ही बुलाया जाता है।

FAQ

प्रश्न 1 – क्या होती है टेरिटोरियल आर्मी ? ( What is territorial army ? )

उत्तर – भारत मे आर्मी की तरह ही यह टेरिटोरियल आर्मी भी होती है जो देश की सेना की ही एक इकाई होती है। इस सेना को भारतीय सेना की सैकेण्ड लाइन भी कहा जाता है। जब भी देश मे संकट होता है उस समय देश की सेवा हेतु इस सेना को बुलाया जाता है।

प्रश्न 2 – कैसे काम करती है टेरिटोरियल आर्मी ? ( How does territorial army works ? ) 

उत्तर – टेरिटोरियल आर्मी भारतीय सेना एक मुख्य अंग होता है जो स्वयं सेवक के तौर पर कार्य करता है। Territorial Army देश मे होने वाले ग्रह युद्धों मे उनको शांति रखने के लिए उपयोग मे होती है।

प्रश्न 3 – टेरिटोरियल आर्मी मे चयन की प्रक्रिया ? ( Selection process in Territorial army exam ? )

उत्तर – टेरिटोरियल आर्मी मे चयन की प्रक्रिया के अन्र्तगत अभियार्थी जो परीक्षा आवेदन करते है उनके लिए एग्जाम होता है, एग्जाम के बाद आवेदन के 2 प्रकार के इन्टरवियू ओर एक मेडिकल टेस्ट होता है।

प्रश्न 4 – टेरिटोरियल आर्मी की योग्यता ? ( Eleliglity of Territorial army ? ) 

उत्तर – Territorial Army मे भर्ती होने के लिए आवेदन आवेदन की आयु 18 से 45 साल के मध्य होनी चाहिए व अभ्यार्थी स्नातक पास होना चाहिए।

प्रश्न 5 – टेरिटोरियल परीक्षा का सैलेबस क्या है ?

उत्तर – Territorial Army मे परीक्षा मे 2 पेपर होते है जिसमे पहला पेपर सामान्य गणित व रिजनिंग का होता है जो की 200 नम्बर का होता है वही दूसरा पेपर सामान्य ज्ञान व सामान्य अंग्रेजी का होता है जो की 200 नम्बर का होता है।

Indira Gandhi matritva Sahyog scheme in Hindi |2021

Share on:

मेरा नाम Deepak Yadav है। मैं इस Kaisekarehelp.com Blog और Kaise kare help youtube चैनल का Founder हूँ। हमारा इस kaisekarehelp.com Blog को बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषी लोगों को Internet से जुड़ी जानकारी प्रदान करवाना है। यहाँ आपको शिक्षा, तकनिकी, कंप्यूटर और मेक मनी से जुड़ी हर तरह की जानकारी अपनी मातृ भाषा Hindi में मिलने वाली है।

Leave a Comment