Tehsildar का क्या काम होता है – तहसीलदार कैसे बने

अगर आपको तहसीलदार बनना है और आप अपना करियर तहसीलदार में बनाना चाहते हो तो सबसे पहले अगर आपके मन में कोई इससे संबंधित सवाल आएगा तो वह सवाल होगा Tahsildar ka kya kaam hota hai अगर आपको भी अपने मन में आने वाले इस सवाल के जवाब को जानना है तो आज आपके इस सवाल का जवाब हम अपने इस लेख के माध्यम से विस्तार पूर्वक से देने वाले हैं।

अनुक्रम दिखाएँ

हम अपने इस लेख के जरिए आज आपको तहसीलदार का काम और तहसीलदार बनने से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी के बारे में विस्तार से बताएंगे। जिस प्रकार से एक जिला अधिकारी का कार्य पूरे जिले को संभालने का होता है ठीक उसी प्रकार से एक तहसीलदार का कार्य अपने तहसील में आने वाले सभी गांव और ग्राम पंचायतों से संबंधित आवश्यक कार्य भार को देखने का होता है। 

इतना ही नहीं राजस्व संबंधित सभी प्रकार के आवश्यक कार्यों की जिम्मेदारी तहसीलदार की ही होती है और अगर किसी व्यक्ति को अपने राजस्व से संबंधित किसी भी प्रकार के कार्य को करवाना होता है तो वह सीधे अपने जिले के तहसीलदार से संपर्क करता है और तहसीलदार का कार्य उम्मीदवार की समस्याओं को समझना और उसका सलूशन देना होता है। इसके अलावा भी तहसीलदार के अनेकों कार्य होते हैं और उनके बारे में जानने के लिए आपको नीचे दी गई जानकारी को विस्तार से पढ़ना होगा।

तहसीलदार कौन होता है

जैसा की आप जानते है भारत देश में 29 राज्य है उनके सभी राजस्व कार्य संभालने के लिए मुख्यमंत्री चुने जाते है मगर एक मुख्यमंत्री राज्य के शहर और गांव सभी का ध्यान अच्छे से नहीं रख पाते इस वजह से राज्यों के जगह को जिला और तहसील में बांटा जाता है। हर जिला में आम तौर पर 12 ब्लॉक और 11 तहसील होते है यह सांख्य जिला के सीमा अनुसार बदलती रहती हैं। 

आम भाषा में एक राज्य में बहुत सारे जिले होते है और हर जिले बहुत सारे तहसील और ब्लॉक को मिलाकर बनते है जहां राज्य के राजस्व कार्य देखा जाता है। तो तहसील एक छोटी इकाई होती है जहां जमीन से जुड़ी समस्या और समाधान का कार्य किया जाता हैं। 

तो जिला की एक छोटी इकाई तहसील होती है जिसमें कुछ गांव आते है उसका मुखिया तहसीलदार होता है जो अपनी तहसील में आने वाली गांव के जमीन की समस्या का निवारण करता हैं। 

इसे भी पढ़े

तहसीलदार कैसा पद है

आज के समय में हर कोई सरकारी नौकरी करना चाहता है तहसीलदार भी एक सरकारी नौकरी ही है यह पद उच्च पद में माना जाता है क्योंकि एक तहसील में आने वाले सभी प्रकार के राजस्व कार्य का निरीक्षण करना इसके हाथ में होता है। 

तहसीलदार को एक तहसील का सर्वोच्च पद माना जाता है। तो आप यह कह सकते है की कुछ सबसे अच्छे सरकारी पदों में तहसीलदार का नाम आता है तहसीलदार के अंतर्गत अन्य तहसील अधिकारी आते हैं। 

तहसीलदार का क्या काम होता है 

तहसीलदार किसी भी जिले का वह अधिकारी होता है जिसके अंतर्गत कुल जिले के सभी राजस्व से संबंधित कार्यों को करना होता है। तहसीलदार के अंतर्गत आने वाले सभी ग्राम पंचायतों से जुड़े हुए राजस्व के कार्य को करने एवं उनकी देखरेख करने का कार्य तहसीलदार का ही होता है।

अगर किसी भी व्यक्ति को अपनी भूमि से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी चाहिए होती है या फिर उससे संबंधित किसी भी समस्या का समाधान चाहिए होता है तो व्यक्ति अपने जिले के सीधे तहसीलदार के पास जाकर इन सभी समस्याओं का समाधान प्राप्त कर सकता है और इन समस्या का समाधान देने का कार्य केवल एक तहसीलदार अधिकारी के बाद भी होता है।

तहसीलदार के अन्य कार्य

तहसीलदार के अन्य कार्यों की सूची में से यह भी कुछ सामान्य कार्य है जो तहसीलदार करते है।

  • भूमि सम्बंधित विवादों को निपटाना। 
  • किसानों से और उनकी जमीन से जुड़े विवादों का निस्तारण करना। 
  • किसी सामान्य जनता के घर और जमीन की रजिस्ट्री से सम्बंधित कार्य करना। 
  • पटवारी के कार्यों के बारे में ध्यान रखना और उनके कार्यों पर निगरानी रखना की खी वो कुछ गलत तो नही कर रहे। 
  • जाति प्रमाण पत्र और मूल निवास प्रमाण पत्र इतियादी जैसे दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करना। 
  • किसानों को किसी भी प्रकार की फसल के नुकसान पर उनको मुवावजा प्रदान करना इतियादी।

तहसीलदार कैसे बने

tahsildar kaise bane

हर कुछ साल पर सरकार तहसीलदार बनने के लिए परीक्षा आयोजित करवाती है जिसकी जानकारी आपको अपने राज्य की अधिकारिक तहसील वेबसाइट पर मिल जाएगा। आप किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज या विश्वविद्यालय से अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद तहसीलदार की परीक्षा दे सकते हैं। 

तहसीलदार की परीक्षा तीन चरण में ली जाती है

  • जांच परीक्षा
  • मुख्य परीक्षा
  • Interview

इंटरव्यू से पहले होने वाली परीक्षा में जांच परीक्षा विकल्पक होती है और मुख्य परीक्षा सब्जेक्टिव होती है। दोनों परीक्षा को कट ऑफ के अनुसार मार्क्स लाकर आप पास कर लेंगे तब आपका मेरिट लिस्ट में नाम अनुसार आपको तहसीलदार की नौकरी दे दी जाएगी उसके बाद आपको किसी तहसील के मुख्य अधिकारी के तौर पर नियुक्त कर लिया जाएगा। 

इसे भी जाने

तहसीलदार बनने के लिए योग्यता 

किसी भी राज्य में तहसीलदार बनने के लिए कम से कम उस राज्य की State PCS एग्जाम को पास करना होता है। एग्जाम को पास करने के लिए हमे उस एग्जाम के बारे में जानना जरुरी होता होता है। इस परीक्षा के लिए आवेदक के पास कम से कम यह योग्यता होनी चाहिए।

  • जो भी अभियार्थी इस परीक्षा के लिए आवेदन करता है उसके पास स्नातक या इसके समकक्ष डिग्री होनी चाहिए। 
  • अभियार्थी जो इस परीक्षा में आवेदन करना चाहता है उसकी उम्र 21 वर्ष से 42 वर्ष होनी चाहिए। वही इसके अलावा इसमें अभियार्थियों को उनकी श्रेणी के अनुसार आरक्षण भी दिया जाता है।
  • इसके अलावा आवेदक भारत का मूल निवासी होना चाहिए।

तहसीलदार बनने के लिए होने वाली परीक्षा 

राज्य की किसी भी तहसील का तहसीलदार बनने के लिए राज्य में होने वाली राज्य प्रशासनिक परीक्षा और राज्य तहसीलदार की परीक्षा को पास करना जरुरी होता है। इसके बाद ही अभियार्थी को इस परीक्षा के बाद चुना जाता है। इसके बाद आवेदक को उनकी रेंक के आधार पर पोस्टिंग दी जाती है।

तहसीलदार की सैलरी कितनी होती है

तहसीलदार की सैलरी या महीने की तनख्वाह ₹16000 से ₹40000 तक होती है। अर्थात जब अब तहसीलदार की नौकरी शुरू करेंगे तब आपकी तनख्वाह ₹16000 होगी मगर वक्त के साथ बढ़ते हुए आपकी सैलरी ₹40000 तक जा सकती है। 

यह पद अपनी तनख्वाह के वजह से नहीं अपने ताकत की वजह से जाना जाता है क्योंकि तहसीलदार के अंतर्गत एक तहसील में आने वाली सभी जमीन आती है जिनका वह निरीक्षण और समस्या सुलझाने का कार्य करता है। 

इसे भी जाने

तहसीलदार अपनी सर्विस से रिटायर कब होता है

किसी भी पोस्ट के बारे में बात करे तो हर अधिकारी का एक न एक दिन रिटायरमेंट होता जरुर है। ऐसे ही तहसीलदार का ही रिटायरमेंट होता है। तहसीलदार 60 वर्ष की उम्र के बाद रिटायर हो जाता है। 60 वर्ष की उम्र होते ही तहसीलदार को उनके पद से मुक्त कर दिया जाता है। 

Tahsildar ka kya kaam Hota Hai? से संबंधित पूछे जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर

यहां पर हमने तहसीलदार के काम से संबंधित पूछे जाने वाले करीब 5 प्रश्नों के उत्तर दिए हुए हैं।

Q. तहसील क्या होता है?

Ans. एक राज्य कई जिलों से मिलकर बनता है और एक जिले को कई ब्लॉक और तहसील में बांटा जाता हैं।

Q. तहसीलदार कौन होता है?

Ans. तहसीलदार वह व्यक्ति होता है जो तहसील के निरीक्षण और राजस्व कार्यभार को संभालता है यह एक तहसील का मुखिया होता है। 

Q. तहसीलदार का काम क्या होता है?

Ans. तहसीलदार का काम तहसील में मौजूद सभी अधिकारियों का निरीक्षण और तहसील में भूमि से जुड़ी विवाद को सुलझाना और भूमि का रिकॉर्ड रखना होता है।

Q. तहसीलदार की तनख्वाह कितनी होती है?

Ans. तहसीलदार की तनख्वाह ₹11000 से ₹40000 के बीच होती है।

Q. तहसीलदार अपनी सर्विस से रिटायर कब होता है?

तहसीलदार के रिटायरमेंट 60 वर्ष के बाद हो जाती है।

Q. इंग्लिश में तहसीलदार को क्या बोलते हैं?

इंग्लिश में तहसीलदार को तहसीलदार ही बोलते हैं।


Q. तहसीलदार की सैलरी कितनी होती है?

तहसीलदार की सैलरी 34,800 रुपए से लेकर 1,20,000 रुपए तक हो सकती है।

निष्कर्ष

उम्मीद करते हैं आप यह समझ गए होंगे कि Tahsildar Ka Kya Kaam Hota Hai और तहसीलदार का एक सर्वोच्च पद होता है इस सरकारी नौकरी के लिए हर साल का ही लोग फॉर्म भरते है। तहसीलदार एक गांव में अपने पहुंच की वजह से जाना जाता है तहसील में मौजूद सभी प्रकार की भूमि समस्या का हल करना तहसीलदार की जिम्मेदारी होती है। 

अंततः अगर आप इस लेख से इस बात को विस्तार पूर्वक समझ पाए है कि तहसीलदार कौन है और तहसीलदार का क्या काम होता है तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें और अपने विचार हमें बताना ना भूले। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.