Swasthya Praman Patra क्या है | मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट कैसे बनाएं।

5/5 - (5 votes)

अगर आप सरकारी या फिर गैर सरकारी फील्ड में नौकरी करते हैं तो आपको Swasthya Praman Patra की आवश्यकता अवश्य पड़ी होगी। स्वास्थ्य प्रमाण पत्र या फिर मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट भी इसे आप कह सकते हैं।

यह एक ऐसा दस्तावेज है जो बहुत ही कम उपयोग में लिया जाता है क्योंकि इसका उपयोग केवल स्वास्थ्य संबंधित समस्या होने पर अपनी नौकरी से छुट्टी पाने के लिए लिया जाता है। 

स्वास्थ्य प्रमाण पत्र दिखाने पर सरकारी या फिर गैर सरकारी क्षेत्रों में एंपलाई की छुट्टी को मंजूर कर दिया जाता है और उसके तनख्वाह से पैसे भी नहीं काटे जाते हैं।

आज हम आपको अपने इस महत्वपूर्ण लेख में स्वास्थ्य प्रमाण पत्र क्या है? एवं मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट कैसे बनाएं? इस विषय पर विस्तार से जानकारी प्रदान करेंगे और साथ ही में इसके फायदे के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्रदान करेंगे अर्थात आपको हमारा आज का यह आर्टिकल अंतिम तक अवश्य पढ़ना चाहिए।

स्वास्थ्य प्रमाण पत्र क्या है – Medical fitness certificate in Hindi

Swasthya Praman Patra एक ऐसा दस्तावेज होता है जिसके जरिए आप मेडिकल यीशु होने पर सरकारी या फिर गैर सरकारी फील्ड में नौकरी करने पर छुट्टी करने के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं। दोस्तों अगर हम ऐसे सरकारी या फिर किसी गैर सरकारी फील्ड में छुट्टी के लिए आवेदन करेंगे तो हमारी छुट्टी को नामंजूर कर दिया जाता है और अगर फिर भी हम छुट्टी ले लेते हैं तो इसका पूरा खतरा हमारे नौकरी पर चला जाता है। 

आपने सुना होगा कि जब कोई सरकारी नौकरी करता है तब छुट्टी लेने के लिए वे मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट का उपयोग करते हैं। सर्टिफिकेट का उपयोग करने पर आसानी से छुट्टी को मंजूरी प्रदान कर दी जाती है और आपके तनख्वाह को कांटा भी नहीं जाता है। ज्यादातर लोग लंबी छुट्टी को लेने के लिए जिसमें 15 दिन या फिर 1 महीने की छुट्टी या फिर से ऊपर की छुट्टी शामिल है लेने के लिए इस सर्टिफिकेट का उपयोग करते हैं।

स्वास्थ्य प्रमाण पत्र का यूज़ – Uses of medical fitness certificate in Hindi

दोस्तों सर्टिफिकेट का यूज़ सभी प्रकार के सरकारी एवं गैर सरकारी क्षेत्रों में अपनी अपनी आवश्यकता के अनुसार किया जा सकता है। चलिए जानते हैं कि स्वास्थ्य प्रमाण पत्र का यूज़ आप कहां-कहां पर और किन परिस्थितियों में कर सकते हैं जिसकी जानकारी इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित हैं ।

  • किसी भी प्रकार के पद पर सरकारी नौकरी करने के दौरान अगर आप मेडिकल यीशु की समस्या से जूझ रहे हैं और आपको डॉक्टर ने छुट्टी लेने की सलाह दी है तब ऐसी परिस्थिति में आप ही तो सर्टिफिकेट का यूज कर सकते हैं।
  •  प्राइवेट सेक्टर में नौकरी से कुछ समय के लिए छुट्टी लेने के लिए आप स्वास्थ्य प्रमाण पत्र का उपयोग कर सकते हैं और आपको छुट्टी प्रदान कर दी जाएगी।
  •  अगर आप सरकारी पेंशन उठाते हैं तो आपके लिए यह सर्टिफिकेट काफी महत्वपूर्ण हैं। प्रत्येक वर्ष अपनी पेंशन को रिन्यू करवाने के लिए सरकार मेडिकल सर्टिफिकेट की मांग करती है और इसके बाद आपको पेंशन बिना किसी रूकावट के प्राप्त होता रहता है।
  • किसी भी प्रकार की इंश्योरेंस कंपनी से इंश्योरेंस खरीदने के दौरान आपको फिटनेस मेडिकल सर्टिफिकेट की आवश्यकता होती है और आपको उसके बाद ही किसी भी प्रकार की पॉलिसी प्रदान की जाती है।
  • किसी भी इंश्योरेंस पॉलिसी को बीच में बंद करने के लिए और जमा की गई धनराशि को निकालने के लिए आपको स्वास्थ्य प्रमाण पत्र की आवश्यकता होगी।
  •  विदेश जाने के लिए भी मेडिकल सर्टिफिकेट की आवश्यकता होती है और बिना मेडिकल सर्टिफिकेट के आप विदेश यात्रा नहीं कर सकते हैं।
  •  अगर आपको विदेश में नौकरी मिली है तब आपको ऐसे में वहां पर जाकर नौकरी करने के लिए सबसे पहले अपना मेडिकल सर्टिफिकेट बनवाना होगा और तभी जाकर आप आगे की प्रोसेस को कंप्लीट कर पाएंगे।
  • मर्चेंट नेवी में छुट्टी से वापस नौकरी पर जाने के पहले आपको अपना मेडिकल सर्टिफिकेट बनवाना होता है और तब जाकर आपको दोबारा से छुट्टी खत्म होने के बाद जॉब पर लगना होता है।
  • कई सारे अन्य आवश्यक क्षेत्रों में आप इसका उपयोग कर सकते हैं और सरकार के द्वारा स्वास्थ्य प्रमाण पत्र का उपयोग पूरे तरीके आवश्यकता पड़ने पर उपयोग मान्य किया गया है।

Ayushman Bharat Yojana 5 Lakh Health Insurance | आयुष्मान भारत योजना

स्वास्थ्य प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं – How to apply for medical fitness certificate in Hindi

हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि स्वास्थ्य प्रमाण पत्र यानी कि मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट बनवाने के लिए आपको ऑनलाइन या फिर किसी ऑफलाइन दफ्तर में जाने की जरूरत नहीं पड़ती है। इसे बनाने के लिए आपकोअपने नजदीकी सर्टिफाई एमबीबीएस डॉक्टर या फिर अपने नजदीकी जिला स्वास्थ्य अधिकारी के पास जाना होगा। चलिए अब आगे स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाने की कंपलीट प्रोसेस को जान लेते हैं जो इस प्रकार से नीचे  स्टेप बाय स्टेप बताई गई है।

STEP 1. स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आपको सबसे पहले अपने नजदीकी सर्टिफाई  एमबीबीएस डॉक्टर के पास या फिर आप चाहे तो आपने नजदीकी की जिला स्वास्थ्य अधिकारी के पास भी जा सकते हैं।

STEP 2. अब आपको डॉक्टर से स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाने के बारे में बताना है और साथ ही में बताना है कि आप स्वास्थ्य प्रमाण पत्र का उपयोग किस लिए और कहां पर करना चाहते हैं।

STEP 3. कानूनी तौर पर कोई भी डॉक्टर स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बिना व्यक्ति के पूरी मेडिकल चेकअप के जारी नहीं करता है।

STEP 4. अब डॉक्टर आपके पूरे शरीर का मेडिकल चेकअप करेगा और खुद भी आवश्यकता पड़ने पर आपके स्वास्थ्य की पूरी तरीके से जांच करेगा।

STEP 5. पूरे शरीर की जांच करने के बाद जब रिपोर्ट में किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य संबंधित समस्या  पाई जाएगी तब डॉक्टर उसका सारा विवरण अपने  मेडिकल सर्टिफिकेट में लिखेगा ।

STEP 6. अगर जिला चिकित्सा अधिकारी आपका स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बना रहा होगा तब वह अपने मोहर का इस्तेमाल आपके स्वास्थ्य प्रमाण पत्र को प्रमाणित करने के लिए करेगा और साथ ही में अपने हस्ताक्षर को भी स्वास्थ्य प्रमाण पत्र में इसकी वेरिफिकेशन के लिए दर्ज करेगा।

STEP 7. अगर वहीं पर कोई  सर्टिफाई एमबीबीएस डॉक्टर आपका स्वास्थ्य प्रमाण पत्र जारी करेगा तब वह आपके स्वास्थ्य प्रमाण पत्र में आपके स्वास्थ्य संबंधित सारा विवरण दर्द करेगा और उसके बाद अपना सिग्नेचर एवं अपने लाइसेंस संख्या को दर्ज करेगा और अपनी मोहर भी स्वास्थ्य प्रमाण पत्र में लगा देगा। इस प्रकार से आपका स्वास्थ्य प्रमाण पत्र उपयोग करने के लिए पूरे तरीके से बनकर तैयार हो जाता है।

PM Modi health ID card scheme information in Hindi

स्वास्थ्य प्रमाण पत्र के फायदे

स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाने के कई सारे फायदे होते हैं और उनमें से कुछ इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है।

  • स्वास्थ्य प्रमाण पत्र के जरिए छुट्टी के लिए अर्जी देने पर हमारी छुट्टी जल्दी मंजूर हो जाती है और हमारे तनख्वाह से पैसे भी नहीं काटे जाते हैं।
  • अगर आपने स्वास्थ्य प्रमाण पत्र के जरिए किसी भी प्रकार के सरकारी पद से कुछ समय के लिए छुट्टी ली है और जब जांच अधिकारी आ जाते हैं तब आपको किसी भी प्रकार की नौकरी चले जाने से संबंधित समस्या नहीं होती है। 
  • स्वास्थ्य प्रमाण पत्र के जरिए हम अपने फोर व्हीलर या फिर टू व्हीलर के इंश्योरेंस को क्लेम कर सकते है।
  • स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाने के दौरान हमारे शरीर की पूरी जांच हो जाती है और समस्या पाए जाने पर उसका सही समय पर इलाज भी किया जाता है।
  • अगर आपने हेल्थ इंश्योरेंस करा रखा है और आपको किसी भी प्रकार के स्वास्थ्य संबंधित समस्या होती है और आप उसके इलाज के लिए अपने हेल्थ इंश्योरेंस का लाभ उठाना चाहते हैं, तब ऐसे में आपको अपना स्वास्थ्य प्रमाण पत्र हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी को दिखाना होगा और अपने आप को उसके अंतर्गत दिए जाने वाले लाभ को प्रदान करेंगे। 
  • स्वास्थ्य प्रमाण पत्र के जरिए हम विदेश में जाकर नौकरी कर सकते हैं।
  • किसी भी प्रकार की सरकारी या फिर गैर सरकारी स्वास्थ्य संबंधित या फिर अन्य सुविधा को पाने के लिए आवश्यकता पड़ने पर आप स्वास्थ्य प्रमाणपत्र का इस्तेमाल कर सकते हैं।

निष्कर्ष:-

आज के अपने इस महत्वपूर्ण लेख में हमने आप सभी लोगों को Swasthya Praman Patra क्या है? मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट कैसे बनाएं? से संबंधित विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान की है और साथ ही मैं आपको स्वास्थ्य प्रमाण पत्र के अनेकों फायदों के बारे में भी जानकारी दी है।

यह एक छोटा सा दस्तावेज है परंतु काफी काम का है और इसीलिए हमने आपकी सहायता हेतु अपने इस लेख को प्रस्तुत किया है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा प्रस्तुत किया गया आज का यह आर्टिकल आपके लिए काफी हेल्पफुल रहा होगा।

अब आप स्वास्थ्य प्रमाणपत्र का सही उपयोग कर पाएंगे और इसे बनाने के लिए भी सही कदम उठा पाएंगे। अगर आपको आज के हमारे इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल पूछना है या फिर आप कोई अपनी महत्वपूर्ण प्रतिक्रिया हमें देना चाहते हैं तो इसके लिए आप  हमारे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

हम चाहते हैं कि आज के इस यूज़फुल आर्टिकल को आप अपने दोस्तों के साथ एवं सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि लोग स्वास्थ्य प्रमाण पत्र के संबंधित सही जानकारी प्राप्त कर सके और इसका उपयोग कर सके धन्यवाद।

Faq About Swasthya Praman Patra

  1. Q: क्या स्वास्थ्य प्रमाण पत्र को किसी भी डॉक्टर के जरिए बनवा सकते हैं?

    ANS:- जी बिल्कुल भी नहीं केवल लाइसेंसी एवं सर्टिफाई डॉक्टर या फिर आपके नजदीकी जिला चिकित्सा अधिकारी के द्वारा स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाया जा सकता है।

  2. Q: गैर लाइसेंसी डॉक्टर से स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाने पर क्या होगा?

    ANS:- गैर लाइसेंसी डॉक्टर से स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाने पर आपको एवं डॉक्टर को कड़ी से कड़ी सजा दी जा सकती है और आवश्यकता पड़ने पर भारी जुर्माना भी आपके ऊपर लगाया जा सकता है।

  3. Q: स्वास्थ्य प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

    ANS:- स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन नहीं किया जा सकता है।

  4. Q: स्वास्थ्य प्रमाण पत्र में कौन-कौन सी जानकारियां दी गई होती हैं ?

    ANS:- स्वास्थ्य प्रमाण पत्र में आपका नाम आपका सारा स्वास्थ्य विवरण एवं संबंधित डॉक्टर का हस्ताक्षर एवं मोहर के साथ लाइसेंस दिया गया होता है।

  5. Q: स्वास्थ्य प्रमाण पत्र का उपयोग कहां-कहां पर कर सकते हैं?

    ANS:-  स्वास्थ्य प्रमाण पत्र का उपयोग आप सरकारी और गैर सरकारी क्षेत्रों में नौकरी से कुछ समय के लिए छुट्टी पाने के लिए या फिर इंश्योरेंस का क्लेम करने के लिए एवं अपने आवश्यकता अनुसार कई जगहों पर किया जा सकता है।

  6. Q: स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाने की फीस?

    ANS:- अगर आप जिला चिकित्सा अधिकारी के जरिए स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवा आएंगे तब ऐसी परिस्थिति में स्वास्थ्य अधिकारी किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लेगा परंतु अगर वहीं पर आपके सर्टिफाई एमबीबीएस डॉक्टर से स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाते हैं तब वह आपसे कुछ फीस चार्ज कर सकता है।

Share on:

मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं?, आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। धन्यवादGmail ID - [email protected]

Leave a Comment