Software kya hai – सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं

Software kya hai आप कंप्यूटर में जो भी कार्य करते हैं वह सब किसी सॉफ्टवेयर के द्वारा निर्देशित किए जाते है। आप जब कंप्यूटर में गेम खेलते है, या कैलकुलेटर का इस्तेमाल करते है, तो कभी यह सोचा है कि यह सब कैसे काम करता है। हम आपको बता दें कि कंप्यूटर या मोबाइल में किए जाने वाला कोई भी कार्य सॉफ्टवेयर के द्वारा किया जाता है। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि Software kya hai

आसान भाषा में सॉफ्टवेयर कुछ प्रोग्राम का संग्रह होता है जो कंप्यूटर को कोई विशेष कार्य करने का निरीक्षण देता है। मगर केवल इतना से आप सॉफ्टवेयर को समझ नहीं पाएंगे इस वजह से इस लेख में हमने विस्तारपूर्वक यह बताने का प्रयास किया है की Software kya hai

सॉफ्टवेयर क्या है

कंप्यूटर दो प्रकार के चीजों से बना होता है एक हार्डवेयर दूसरा सॉफ्टवेयर। आसान भाषा में आप एक शरीर में हाथ, पैर, नाक, कान, मुंह देख रहे है यह सब हार्डवेयर की तरह है अब एक शरीर में दर्द, प्यार, धड़कन, भूख, यह सब सॉफ्टवेयर है। इस बात से आप सॉफ्टवेयर के महत्व को समझ गए होंगे। 

हार्डवेयर की मदद से हम कंप्यूटर को यह बताते है कि कैसे करो मगर सॉफ्टवेयर के जरिए कंप्यूटर को यह पता होता है कि क्या करना है। 

कंप्यूटर में किसी भी काम को करने के लिए कंप्यूटर को निर्देश देने की आवश्यकता है, जिसके लिए कंप्यूटर के पास विभिन्न प्रकार के भाषाएं होती है हम उन भाषा के जरिए कंप्यूटर को निर्देश देते है की उसे किस प्रकार का कार्य करना है। इन सभी निर्देशों को हम एक जगह पर रख देते है जिसे सॉफ्टवेयर कहते है। जब हमें उस प्रकार के कार्य करना होता है जिस प्रकार का निर्देश हमने इसे दे रखा था तो हम उन निर्देशों को क्लिक करते है और अपना इनपुट देकर आउटपुट ले लेते हैं। 

सॉफ्टवेयर कुछ निर्देशों का संग्रह है जो कंप्यूटर को किसी एक प्रकार के कार्य करने की क्षमता प्रदान करता है। हम सॉफ्टवेयर के जरिए कंप्यूटर में बहुत सारे निर्देश को एक स्थान पर रख देते हैं जब भी हमें उन निर्देशों की आवश्यकता होती है हम उस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं। 

आज आप मोबाइल में जो गेम खेलते है, केलकुलेटर का इस्तेमाल करते है, कैलेंडर, लाइट, माइक्रोवेव, वाशिंग मशीन, कर, और बहुत सारी जगहों पर सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करके आप के निर्देश अनुसार कार्य को किया जाता है। 

सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं

जब आप यह समझ गए है कि सॉफ्टवेयर ही हार्डवेयर से काम करवाता है तब आपको हम बताने जा रहे है कि सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं। 

सॉफ्टवेयर तीन प्रकार के होते हैं

Application software

System software

Utility software

  1. Application software

यह वो सारे सॉफ्टवेयर होते है जो केवल एक प्रकार के कार्य करते है अर्थात इनमें पहले से कुछ निर्देश दिए जाते है और आप उन निर्देशों में छेड़छाड़ नहीं कर सकते। 

इसमें ज्यादातर वह सॉफ्टवेयर आते है जिसे हम कंप्यूटर या मोबाइल को खरीदते वक्त उसके साथ पाते है। एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के एग्जांपल – गूगल क्रोम, स्काइप, माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, फोटोशॉप, आदि

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर दो प्रकार के होते हैं

  • स्पेशलाइज एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर

यह वह सॉफ्टवेयर होते हैं जिन्हें केवल एक काम के लिए बनाया जाता है जैसे आप प्ले स्टोर से बिलिंग ऐप डाउनलोड करते है तो उस सॉफ्टवेयर के जरिए आप केवल अपने बिल की जानकारी को रख सकते है तो यह एक specialised software हुआ। 

स्पेशलआइज सॉफ्टवेयर के उदाहरण – candy crush, VLC आदि। 

  • बेसिक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर

यह वह सॉफ्टवेयर होते हैं जिन्हें हम अपने रोजमर्रा के कार्य के लिए बनाते है इनमें आप बहुत सारे अलग-अलग तरह के काम कर सकते है जो आपके व्यवसाय और रोजमर्रा के जीवन से जुड़े हो। इसका उदाहरण – DPT सॉफ्टवेयर, Web Design software, Spreadsheet software, MS word,  होता है। 

  1. System software

यह वो सॉफ्टवेयर होता है जो हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच क्रिया होने देता है। मतलब आपका कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम की वजह से शुरू होता है यह एक सिस्टम सॉफ्टवेयर है। ठीक उसी तरह एंटीवायरस आपके निर्देशानुसार काम नहीं करता लेकिन बिना एंटीवायरस के आफ हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच के कार्य को अच्छे से नहीं कर सकते तो एंटीवायरस भी एक सिस्टम सॉफ्टवेयर होता है। 

System software वो है जो हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच के कार्य को सरल बनाता है उदाहरण – windows OS, Mac OS, antivirus, drive, आदि

सिस्टम सॉफ्टवेयर तीन प्रकार के होते हैं

  • Device drive

यह वो सॉफ्टवेयर होता है जो इनपुट और आउटपुट यंत्रों को कंप्यूटर से जोड़ने का कार्य करता है ज्यादातर यह सॉफ्टवेयर मदर बोर्ड से जुड़ा हुआ होता है इसके उदाहरण – मदरबोर्ड ड्राइव, ऑडियो ड्राइव, होते हैं। 

  • Program utility

यह भी सिस्टम सॉफ्टवेयर का प्रकार है इस सॉफ्टवेयर को सर्विस सॉफ्टवेयर के नाम से भी जानते हैं क्योंकि इसका मुख्य कार्य कंप्यूटर में मौजूद विभिन्न सॉफ्टवेयर की सुरक्षा और कंप्यूटर के विभिन्न संसाधनों का संरक्षण होता है। इसके उदाहरण – एंटीवायरस, disk defragment होता है। 

  • Operating system

ये वो सॉफ्टवेयर होते है जो कंप्यूटर के अंदर होते है और कंप्यूटर के विभिन्न कार्य को करने में मदद करता है ऑपरेटिंग सिस्टम की मदद से कंप्यूटर अपना कार्य शुरू कर पता हैं। इसका उदाहरण – windows OS, Mac OS होता है। 

  1. Utility software

ये वो सारे सॉफ्टवेयर है जो हमारे किसी कार्य को आसान करने में हमारी सहायता करते है। जैसे फोटो खींचने में हमारी सहायता करता है क्या मिला तुझे एक यूटिलिटी सॉफ्टवेयर हुआ। वो जो हमारे किसी जरूरत के काम को आसान बनाने में मदद करता है वो यूटिलिटी सॉफ्टवेयर होता है। 

इसे भी पड़े

Pc Ka Full Form | पर्सनल कंप्यूटर का विकास।

सॉफ्टवेयर को कौन बनाता है

सॉफ्टवेयर को बनाने का कार्य सॉफ्टवेयर डेवलपर करता है एक व्यक्ति जिसे कंप्यूटर के विभिन्न भाषाओं का ज्ञान होता है वह कंप्यूटर को अलग-अलग भाषा में निर्देश दे कर एक सॉफ्टवेयर बनाता है। 

सॉफ्टवेयर डेवलपर बनने के लिए आपको कंप्यूटर के भाषा का ज्ञान होना आवश्यक है जब आप कंप्यूटर के भाषा को सीख लेंगे तब आप कंप्यूटर को विभिन्न प्रकार के निर्देश दे सकते हैं और अपने अलग-अलग निर्देशों को एक स्थान पर संग्रह करके सॉफ्टवेयर का रूप दे सकते हैं। 

आजकल जिस प्रकार हम इंटरनेट की दुनिया में कदम रख रहे हैं सॉफ्टवेयर डेवलपर की जरूरत है बढ़ती जा रही है आज हर कोई सॉफ्टवेयर बनाना चाहता है और इसके लिए सॉफ्टवेयर डेवलपर की जरूरत पड़ती है जिस वजह से आप अपना आगे का कैरियर सॉफ्टवेयर डेवलपर में बना सकते हैं। 

FAQ About  Software kya hai

Q. सॉफ्टवेयर को किसने खोजा?

Ans. सॉफ्टवेयर किसी काम को आसान बनाने के लिए बहुत सारे निर्देशों का संग्रह होता है सॉफ्टवेयर को बनाने या इसका सबसे पहले इस्तमाल करने का श्रेय Alan Turing को जाता है। इन्होंने 1935 में सबसे पहला सॉफ्टवेयर बनाया और इस्तेमाल किया।

Q. सॉफ्टवेयर क्या होता है?

Ans. बहुत सारे कंप्यूटर निर्देशों का संग्रह सॉफ्टवेयर कहलाता है जिसके आधार पर हम किसी विशेष कार्य के लिए कंप्यूटर को निर्देश देते हैं।

Q. सॉफ्टवेयर कितने प्रकार का होता है?

Ans. सॉफ्टवेयर तीन प्रकार के होते है  – एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर सिस्टम सॉफ्टवेयर और यूटिलिटी सॉफ्टवेयर।

Q. सबसे पहला सॉफ्टवेयर कौन सा था?

Ans. सबसे पहले सॉफ्टवेयर का कोई नाम नहीं दिया गया था मगर सबसे पहले सॉफ्टवेयर से 2^18 का फैक्टर पता करने के लिए किया गया था।

निष्कर्ष

आज के हमने अपने इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को  Software kya hai के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है। हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई आज की जानकारी आपके लिए काफी ज्यादा यूजफुल और हेल्पफुल रही होगी।

अगर आपको आज का हमारा यह लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि आप के माध्यम से अन्य लोगों को इस विषय पर विस्तार पूर्वक से जानकारी मिल सके। 

इसके अतिरिक्त अगर आपके मन में कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो। हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे। हमारे इस लेख को शुरू से अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद और आपका कीमती समय शुभ हो। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.