Server Down Kya Hota है जानिए यहां रोचक जानकारी

Server Down Kya Hota दोस्तों आपने देखा होगा कि जब किसी सरकारी वेबसाइट पर किसी भी प्रकार का ऑनलाइन आवेदन स्वीकार किया जाता है चाहे वह किसी एंट्रेंस एग्जाम के लिए हो या फिर किसी नौकरी के लिए आवेदन हो उस दौरान उस वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक होता है और शायद इसी लिए आप में से कई सारे लोगों को सर्वर डाउन की प्रॉब्लम दिखाई दी होगी। 

और आपको इंटरनेट ऑपरेटर ने भी बताया होगा कि सर्वर डाउन हो गया है और कईयों को तो पता ही नहीं होगा कि आखिर Server Down Kya Hota है। अगर आपको भी सर्वर डाउन क्यों होता है? और सर्वर डाउन क्या होता है? के बारे में विस्तृत जानकारी जानना है तब आपको ऐसे में हमारा आज का यह लेख शुरू से लेकर अंतिम तक पूरा जरूर पढ़ना चाहिए क्योंकि आपको आज के इस लेख के माध्यम से इसी विषय पर विस्तार पूर्वक के जानकारी मिलने वाली है।

सर्वर किसे कहते हैं

दोस्तों जब आपको सर्वर डाउन क्यों होता है? यह जानना है तब आपको सबसे पहले सर्वर किसे कहते हैं? के बारे में जानना चाहिए। दोस्तों जब हम इंटरनेट पर किसी भी प्रकार की ऑनलाइन जानकारी का भंडारण करते हैं और उसे दूसरों के लिए उपलब्ध करवाते हैं तब उस दौरान हमें अपनी जानकारी को भंडारण करने के लिए और यूजर तक उसे पहुंचाने के लिए हमें एक ऑनलाइन स्टोर की आवश्यकता होती है। 

जहां पर हम अपना सारा डाटा भंडारित कर सकते हैं और इतना ही नहीं यूज़र भी हमारे डाटा को जब हमारा डाटा 24 घंटे और 365 दिन ऑनलाइन रहेगा तब वह जब चाहे तब हमारे डाटा को आसानी से इंटरनेट की सहायता से एक्सेस कर सकता है। अगर हम इसे थोड़े आसान शब्दों में समझने का प्रयास करें तो हम अपने डाटा को जिस ऑनलाइन जगह पर स्टोर करते हैं या भंडारित करते हैं उसे ही हम सर्वर कहते हैं। 

सर्वर कितने प्रकार के होते हैं

दोस्तों सर्वर भी कई प्रकार के होते हैं और उनका उपयोग भी उन्हीं आधार पर किया जाता है। चलिए हम आपको इसी संदर्भ में आगे बताते हैं कि सर्वर कितने प्रकार के होते हैं? एवं उनका उपयोग कहां कहां पर किया जाता है? जिसकी जानकारी नीचे विस्तारपूर्वक से बताई गई है। 

वेब सर्वर 

यह एक ऐसा सर्वर होता है जो किसी वेबसाइट या फिर वेब पेज को चलाने में सहायक होता है। इस प्रकार के सर्वर को कंप्यूटर प्रोग्रामिंग भी कहा जाता है। वेब सर्वर का मुख्य उपयोग वेब पेज को स्टोर करना, वेब पेज को प्रोसेस करना और इतना ही नहीं वेब पेज की डिलीवरी करना भी होता है।

इस प्रकार के सर्वर में कम्युनिकेशन हेतु मुख्य रूप से एचटीटीपी का उपयोग किया जाता है और आप सभी लोगों ने देखा होगा कि जब आप किसी वेबसाइट पर विजिट करते हो तो उसके यूआरएल के आगे एचटीटीपी लिखा होता है। इस प्रकार के सर्वर का उपयोग सिर्फ वेबसाइटों में ही किया जाता है।

एप्लीकेशन सर्वर

दोस्तों जिस प्रकार से वेबपेज या वेबसाइट चलाने के लिए सर्वर का उपयोग किया जाता है ठीक उसी प्रकार से किसी भी प्रकार के एप्लीकेशन को चलाने के लिए और उसमें डाटा स्टोर करने से लेकर यूजर को डाटा डिलीवरी करने तक किए सभी कार्यों को पूरा करने के लिए एप्लीकेशन सर्वर का उपयोग किया जाता है। एप्लीकेशन सर्वर के अंतर्गत पीएचपी, जावा, नेट फ्रेमवर्क जैसे एप्लीकेशन सर्वर का उपयोग किया जाता है।

प्रोक्सी सर्वर

इस सर्वर को प्रोक्सी सर्वर इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह सर्वर एक्यूजर और इंटरनेट के बीच गेटवे का काम करता है। जब कोई भी इंटरनेट यूजर किसी प्रोक्सी सर्वर से जोड़ता है और फिर इंटरनेट पर किसी भी विषय से संबंधित डाटा के लिए अनुरोध करता है तब उस दौरान प्रोक्सी सर्वर का मुख्य काम अनुरोध को सरल बनाना और इतना ही नहीं यूज़र द्वारा किए गए अनुरोध को सरल एवं आसान बनाने के लिए उसके बीच में जितने भी अवरोध आते हैं। 

उन्हें नियंत्रित करने का काम इसी सर्वर के माध्यम से पूर्ण किया जाता है। प्रोक्सी सर्वर का मुख्य उपयोग नेटवर्क कनेक्शन शेयरिंग, नेटवर्क डाटा फिल्टरिंग और इतना ही नहीं डाटा कैचिंग करने का भी काम करता है। प्रोक्सी सर्वर अपने इसी काम के लिए क्लाइंट प्रोग्राम और एक्सटर्नल सर्वर के बीच मेडिएटर का काम करता है और यह इसी काम के लिए मुख्य रूप से जाना भी जाता है।

डेटाबेस सर्वर

सर हम डेटाबेस सर्वर के डेफिनेशन को समझने का प्रयास करें तो हम आपको इसे सरल शब्दों में समझा दे की कोशिश करते हैं जैसे कि कोई भी एक वेयरहाउस होता है उसमें बहुत सारे अपने समान को हम स्टोर कर सकते हैं ठीक उसी प्रकार से वेबसाइट के सभी प्रकार के डाटा को डेटाबेस सर्वर में ही स्टोर करने का काम किया जाता है। इतना ही नहीं डेटाबेस सरवर में डाटा स्टोर करने के अलावा डाटा मेंटेनेंस का भी कार्य किया जाता है। इस सर्वर का मुख्य काम डाटा को स्टोर करने के साथ-साथ पुनः उसे एक्सेस प्रदान करने की अनुमति को स्थापित करने का कार्य करना होता है। 

मेल सर्वर

जैसा कि इस प्रकार के सर्वर के नाम से ही हमें पता चल जाता है कि यह किसी मेल व्यवस्था के लिए  काम करता है। यह एक ऐसा सर्वर होता है जो सिर्फ मेल सिस्टम को संभालने का पूरा काम करता है। जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं आज इंटरनेट पर हर किसी का मेला अकाउंट होता है और सभी के मेल अकाउंट में कुछ ना कुछ जरूर डाटा ट्रांसफर और रिसीव किया जाता है। 

और उन सभी प्रकार के डाटा को एक स्थान पर स्टोर करने के लिए सर्वर की बेहद आवश्यकता होती है। मेल सर्वर को ‘मेल सर्वर ट्रांसफर एजेंट’ यानी कि ‘एमएसटीए’ के नाम से भी जाना जाता है। आपने देखा होगा कि जब आपको कोई मेल करता है या फिर आप जब किसी को मेल करते हो तब यह कमांड देने के बाद छठ से ही सूचना का आदान प्रदान करने में सक्षम हो पाता है और एक सिक्योर कनेक्शन के साथ मेल का आदान-प्रदान सेकंडो में ही कर देता है और यह सब कुछ मेल सर्वर सिस्टम के आधार पर ही पूर्ण होता है।

एफटीपी सर्वर

इस प्रकार के सर्वर का पूरा नाम ‘फाइल ट्रांसफर प्रोटोकोल’ है। इस प्रकार के सर्वर का मुख्य काम किसी भी प्रकार की फाइल को ट्रांसफर करने का होता है। उदाहरण के रूप में अगर आपको इंटरनेट पर किसी भी विषय पर जानकारी के बारे में जानना है और आप सब अपने किसी भी वेब ब्राउज़र की सहायता से जानकारी को ब्राउज करते हो और जब आपके सामने हुआ जानकारी दिखाई जाती है तब वह इसी प्रोटोकॉल को पूरा करके ही आपको प्रदर्शित की जाती है। मतलब कि इंटरनेट पर मौजूद सभी प्रकार के डाटा को फाइल के रूप में आपके सामने दिखाने के लिए एफटीपी सर्वर का उपयोग किया जाता है।

सर्वर की आवश्यकता क्यों

जब आपको किसी भी प्रकार के डाटा को चाहे फिर वह वीडियो में हो, टेक्स्ट में हो, वॉइस में हो या फिर किसी अन्य भी फॉर्मेट में ही क्यों ना हो आपको उसे अगर ऑनलाइन रिस्टोर करना है तब आपको ऐसे में उससे संबंधित किसी ने किसी प्रकार के सर्वर की आवश्यकता तो होगी ही। इसीलिए हमें सर्वर की आवश्यकता होती है

हम बिना सर्वर के किसी भी प्रकार के डाटा के रूप को ऑनलाइन स्टोर नहीं कर सकते हैं और ना ही उसे किसी भी यूजर तक पहुंचा सकते हैं। डाटा को स्टोर करने से लेकर उसे यूजर के सामने प्रदर्शित करने के लिए हमें सर्वर की आवश्यकता होती है और सरवर 24 घंटे एवं 365 दिन काम पर लगा रहता है ताकि वह इंटरनेट पर जानकारी का आदान-प्रदान और भंडारण का काम करने के लिए योग्य हो।

सर्वर डाउन क्या होता है – Server Down Kya Hota

जब कोई टेक्निकल यीशु होता है या फिर जब किसी वेबसाइट पर अचानक से विजिटर धीरे-धीरे बढ़ने लगते हैं तब उस दौरान बड़े से बड़े सर्वर पर काफी ज्यादा लोड जाता है और जब सरवर पर किसी लिमिट के ऊपर लोन बढ़ने लगता है तब सर्वर धीरे-धीरे अपनी प्रोसेसिंग धीरे करने लगता है और फिर एक समय ऐसा आता है जब सर्वर पूरी तरीके से डाउन हो जाता है और जब सर्वर डाउन होता है

तब वह आपके वेबसाइट को भी ऑफलाइन कर देता है यानी कि उस दौरान अगर कोई भी विजिटर आपके वेबसाइट को एक्सेस करने की प्रयास करेगा तो तब उसे आपकी वेबसाइट सर्वर यीशु की वजह से दिखाई नहीं देगी और किसी प्रॉब्लम को आप सर्वर डाउन समस्या या प्रॉब्लम कह सकते हो।

सर्वर डाउन होने के मुख्य कारण क्या होते हैं

किसी भी सर्वर पर अधिक लोड पड़ने पर जब वह प्रोसेसिंग धीरे कर देता है या फिर अचानक से पूरी वेबसाइट को ही ऑफलाइन कर देता है तब हम सर्वर डाउन की प्रॉब्लम को अत्यधिक लोड पड़ने की वजह से इसका मुख्य कारण मानते हैं परंतु इसके अलावा भी कई सारे ऐसे कारण हैं जिनकी वजह से सरवर डाउन जैसी समस्या हमें देखने को मिलती है। अब चलिए हम आगे जानते हैं कि सर्वर डाउन होने की मुख्य समस्या और कौन-कौन सी हो सकती है जिसकी जानकारी नीचे विस्तारपूर्वक से पॉइंट के माध्यम से बताई गई है।

  • जब किसी सर्वर के मुख्य सिस्टम में हार्डवेयर संबंधित समस्या आती है तब उस दौरान सर्वर डाउन की प्रॉब्लम सभी यूजर को झेलनी पड़ सकती है।
  • पावर संबंधित जैसे कि बिजली डाउन या फिर ओवरहीटिंग की प्रॉब्लम जब होती है तब उस दौरान पावर संबंधित समस्याएं सर्वर सिस्टम पर अचानक से आ जाती है और फिर सर्वर ठीक से काम नहीं करता और परिणाम स्वरूप सर्वर अचानक से डाउन हो जाता है। 
  • सर्वर अपना काम तभी ठीक से कर पाता है जब उसे अच्छा नेटवर्क मिलता रहे और जब नेटवर्क संबंधी समस्या सरवर के सामने आती है तब सरवर धीरे-धीरे प्रॉब्लम क्रिएट करने लगता है और फिर वह आपके वेबसाइट को धीरे धीरे स्लो करने लगता है और एक समय ऐसा आता है जब नेटवर्क यीशु के वजह से सर्वर पूरे तरीके से डाउन हो जाता है और फिर आपकी वेबसाइट भी उस दौरान पूरी तरीके से ऑफलाइन हो जाती है।
  • कई बार सॉफ्टवेयर या नया पैच अपडेट करने पर सर्वर का ऑपरेटिंग सिस्टम हैंग हो जाता है, या वह क्रैश हो जाता है, जिसके कारण भी सर्वर डाउन हो जाता है।
  • सर्वर एक महत्वपूर्ण कंप्यूटर होता है, जिससे कई क्लाइंट जुड़े होते हैं, और सर्वर में हमेशा वायरस इन्फेक्शन का खतरा भी बना रहता है। यदि सर्वर पर वायरस अटैक होता है, तो इससे सर्वर की मुख्य सर्विसेज Infect हो जाती हैं, और सर्वर डाउन हो जाता है।  

सर्वर डाउन क्या होता है? से संबंधित पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न एवं उनके उत्तर

यहां पर हमने सर्वर डाउन कैसे होता है? एवं सर्वर डाउन क्या होता है? से संबंधित पूछे जाने वाले अक्सर महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर यहां पर बताए हुए हैं।’

Q. सर्वर डाउन किसे कहते हैं?

इंटरनेट पर मौजूद जब किसी जानकारी को एक्सेस करते हैं और हमें सामने से सर्वर डाउन का जब मैसेज दिखाई देने लगता है तब हम उसे सर्वर डाउन कहते हैं। जब इंटरनेट पर ऑनलाइन मौजूद जानकारी अचानक से ऑफलाइन हो जाती है तब वह सर्वर डाउन की वजह से ही होती है और आप इसे भी सर्वर डाउन कह सकते हो।

Q. सर्वर डाउन होने से क्या होता है?

जब सर्वर डाउन हो जाता है तब हम उस दौरान इंटरनेट पर किसी भी प्रकार की जानकारी को एक्सेस नहीं कर सकते हैं और ना ही उस वेबसाइट को देख सकते हैं जिस पर हम विजिट करना चाहते हैं और अगर हम साधारण शब्दों में कहे तब सर्वर डाउन की प्रॉब्लम की वजह से कोई भी जानकारी या फिर वेबसाइट पूरे तरीके से ऑफलाइन हो जाती है।

Q. सर्वर डाउन होने का कारण क्या है?

सर्वर पर अत्यधिक लोड करना, टेक्निकल प्रॉब्लम का आना, हार्डवेयर प्रॉब्लम का आना और भी कई सारे कारणों की वजह से सर्वर डाउन होता है जिसकी जानकारी हमने एक लेख में विस्तार से बताई है।

Q. क्या किसी भी प्रकार की जानकारी को ऑनलाइन भंडारण करने हेतु सरवर का उपयोग करना अनिवार्य है?

अगर आप किसी भी प्रकार की जानकारी को ऑनलाइन भंडारित करना चाहते हो तब ऐसे में आपको सर्वर का सहारा लेना ही पड़ेगा क्योंकि बिना सर्वर के कोई भी जानकारी भंडारित नहीं की जा सकती है और ना ही उसे ऑनलाइन एक्सेस किया जा सकता है।

Q. कौन से कंपनी का सर्वर सबसे बेस्ट होता है?

अगर आप अपने वेबसाइट को ऑनलाइन होस्ट करने के लिए बेस्ट सरवर ढूंढ रहे हो जो कभी भी डाउन ना होता हो और आसानी से भारी से भारी ट्रैफिक को झेलने की क्षमता रखता हो एवं अन्य किसी भी कारण की वजह से सर्वर डाउन की प्रॉब्लम ना आए और अगर आए भी तो वह जल्द से जल्द सॉल्व हो जाए तब ऐसे में आपको क्लाउडवेज का सर्वर यूज़ करना चाहिए क्योंकि यह सबसे बेस्ट सर्वर कंपनी है।

निष्कर्ष

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को Server Down Kya Hota है? से संबंधित विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है और हमें उम्मीद है कि अब आपको सर्वर डाउन से संबंधित किसी भी प्रकार का संदेह नहीं होगा और आपके लिए हमारा आज का यह लेख काफी ज्यादा हेल्पफुल भी सिद्ध हुआ होगा।

अगर आपको सर्वर डाउन होने के कारण क्या होते हैं? के ऊपर विस्तृत जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी प्रकार के सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि आप जैसे ही अन्य लोगों को भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में पता चल सके और उन्हें कहीं आओ इस विषय पर जानकारी जानने के लिए भटकने की बिल्कुल भी आवश्यकता ना हो।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो और इतना ही नहीं अगर आपको किसी भी टॉपिक के डिमांड हमसे करना है तब आप ऐसे में कांटेक्ट डिटेल के माध्यम से हमें टॉपिक की डिमांड करने के लिए रिक्वेस्ट दे सकते हो और हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और इतना ही नहीं अगर आप का टॉपिक अच्छा होगा तो हम आपके डिमांड भी पूरा करने का पूरा प्रयास करेंगे और जाते-जाते हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमती समय सुबह।

Leave a Reply

Your email address will not be published.