Pc Ka Full Form | पर्सनल कंप्यूटर का विकास।

Rate this post

Pc Ka Full Form जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं, वर्तमान समय में तकनीकी कितनी ज्यादा विकसित हो गई है और इसी विकसित तकनीकी के कारण वर्तमान समय में लगभग सभी क्षेत्रों में कंप्यूटर का उपयोग बहुत ही तेजी से हो रहा है और कंप्यूटर के उपयोग से सभी क्षेत्रों में किए जाने वाले काम काफी तीव्रता से भी किए जा रहे हैं। वर्तमान समय में कंप्यूटर का उपयोग इतना ज्यादा बढ़ चुका है, कि बहुत से लोग ऐसे हैं, जो कि घर बैठे कंप्यूटर का उपयोग करके अच्छा खासा बिजनेस चला रहे हैं और अच्छी खासी इनकम ही कर रहे हैं। कंप्यूटर की बढ़ती इसी उपयोगिता के साथ-साथ लोग कंप्यूटर को पीसी भी कह रहे हैं। 

परंतु क्या आप सभी लोग जानते हैं, कि कंप्यूटर को पीसी क्यों कहा जाने लगा और आखिर पीसी का फुल फॉर्म क्या होता है। आप में से ही बहुत से लोग ऐसे होंगे, जो कि पीसी के विषय में जानते होंगे परंतु आप में से ही कुछ ऐसे लोग भी होंगे, जो कि पीसी के विषय में नहीं जानते, तो उन सभी लोगों के लिए आज का हमारा यह लेख बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है।

आज हम आप सभी लोगों को अपने इस महत्वपूर्ण लेख के माध्यम से बताने वाले हैं, पीसी के विषय में संपूर्ण जानकारी। आज आप सभी लोगों को हमारे द्वारा लिखे गए इस महत्वपूर्ण लेख में जानने को मिलेगा, कि पीसी क्या होता है? पीसी का फुल फॉर्म क्या होता है? पीसी का विकास, पीसी के प्रमुख भाग, सिस्टम यूनिट के मुख्य भाग, पीसी में उपस्थित कुछ महत्वपूर्ण हार्डवेयर, पीसी के साथ उपयोग किए जाने वाले हार्डवेयर्स इत्यादि। 

यदि आप सभी लोग पीसी के विषय में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो कृपया हमारे द्वारा लिखे गए इस महत्वपूर्ण को अंत तक अवश्य पढ़ें। इस लेख में आप सभी लोगों को वह सभी जानकारियां बताए गए हैं, जो कि एक पीसी को पूर्ण बनाता है। आइए हम सभी लोग शुरू करते हैं, अपना यह महत्वपूर्ण लेख और जानते हैं, पीसी के विषय में संपूर्ण जानकारी।

पीसी क्या होता है? – Pc Ka Full Form

पीसी कंप्यूटर का ही एक भाग होता है। लोग पी सी का उपयोग व्यक्तिगत उपयोग हेतु करते हैं। पीसी अन्य कंप्यूटरों की अपेक्षा में कम खर्चीली तथा आकृति में छोटी होती है। पर्सनल कंप्यूटर को विशेष रूप से डिजाइन किया गया होता है और यह कंप्यूटर के भाग बल्कि नहीं होता। पीसी में मुख्य रूप से माइक्रोप्रोसेसर का उपयोग किया जाता है अर्थात हम यह कह सकते हैं, कि पीसी पूर्ण रूप से माइक्रोप्रोसेसर प्रौद्योगिकी पर आधारित होता है। पीसी का उपयोग मुख्य रूप से वर्ड प्रोसेसिंग, एकाउंटिंग, डेस्कटॉप प्रकाशन, स्प्रेडशीट और डेटाबेस के प्रबंधन के लिए किया जाता है। वर्तमान समय में लोग पीसी का उपयोग घरों में मनोरंजन के लिए उपयोग में लाते हैं।

पीसी का फुल फॉर्म क्या होता है? – PC full form in Hindi

आइए अब हम सभी लोग जानते हैं, पीसी के फुल फॉर्म के विषय में। पीसी का फुल फॉर्म होता है पर्सनल कंप्यूटर। जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, कि पर्सनल कंप्यूटर अर्थात व्यक्तिगत रूप से उपयोग में लाया जाने वाला कंप्यूटर। हम सभी लोग पर्सनल कंप्यूटर का डेस्कटॉप कंप्यूटर के रूप में भी समझ सकते हैं। जिस प्रकार हम सभी लोग डेस्कटॉप कंप्यूटर को कहीं भी आसानी से नहीं ले जा सकते ठीक उसी प्रकार पीसी को भी कहीं भी आसानी से नहीं ले जाया जा सकता।

पर्सनल कंप्यूटर का विकास –  development of computer in Hindi

आप सभी लोग या तो जानते ही होंगे कि कंप्यूटर का विकास कब हुआ था और आप सभी लोग कंप्यूटर के सभी पीढ़ियों के विषय में भी जानते होंगे तो आप सभी लोगों को यह भी पता होगा, कि पर्सनल कंप्यूटर का विकास किस समय में हुआ था, यदि आपको नहीं पता, कि पर्सनल कंप्यूटर का विकास किस समय में हुआ था, तो आइए जानते हैं, कि पर्सनल कंप्यूटर का विकास कब हुआ था।

इस दुनिया में सबसे पहले पर्सनल कंप्यूटर को 1970 ईस्वी में बनाया गया था और 1970 के दशकों में ही सबसे पहला पर्सनल कंप्यूटर भी चलन में आया था। पर्सनल कंप्यूटर मार्केट में आते ही अन्य कंप्यूटरों के मुकाबले काफी तेजी से विकसित हुआ। 1970 ईस्वी में माइक्रोप्रोसेसर का उपयोग करके पीसी को तैयार किया गया था और यही कारण था, कि पीसी आते ही मार्केट में अपने धूम मचा दिया।

1977 ईस्वी में एप्पल कंपनी के द्वारा सबसे पहला ऐसा पीसी प्रस्तुत किया गया, जो कि मार्केट में सबसे ज्यादा लोकप्रिय हुआ और इसकी बिक्री भी काफी तेजी से हुई। इन सभी के बाद वर्ष 1981 ईस्वी में आईबीएम के द्वारा एक PC लॉन्च किया गया, जोकि मार्केट में आईबीएम पीसी के नाम से काफी प्रचलित है। जिस समय पीसी सबसे ज्यादा प्रचलन में आया था, उस समय का सबसे प्रसिद्ध एवं लोकप्रिय पीसी के रूप में आईबीएम पीसी को ही माना जाता था।

पर्सनल कंप्यूटर के कुछ प्रमुख भाग –  a part of PC in Hindi

कंप्यूटर में जितने पाठ प्रयोग किए जाते हैं, उतने ही पार्टी या फिर उससे थोड़े अधिक पार्ट को पर्सनल कंप्यूटर में उपयोग किया जाता है। आइए जानते हैं, कि पर्सनल कंप्यूटर में मुख्य रूप से क्या क्या जुड़ा होता है और आमतौर पर पर्सनल कंप्यूटर किन भागों से मिलकर बना होता है;

  1. Hardware: कंप्यूटर के वे सभी भाग जिन्हें हम आसानी से छू सकते है, उन्हें महसूस कर सकते है और उन्हें देख सकते है, कंप्यूटर के ऐसे मशीनरी को ही हार्डवेयर कहा जाता है। दूसरे शब्दों में कहा जाए तो हार्डवेयर उन्हीं को कहा जाता है, जिनके माध्यम से हम डाटा को कंप्यूटर में इनपुट करते है। हार्डवेयर का उपयोग करके कंप्यूटर में डाटा input कराने के बाद कंप्यूटर तक यह संदेश चला जाता है, कि हम क्या देखना चाहते है और कंप्यूटर के साथ क्या करना चाहते है।

Exp: माउस, कीबोर्ड, सीपीयू, प्रिंटर, मॉनिटर इत्यादि

  1. Software: हम सभी लोग कंप्यूटर के जिन भागों को छू तो नहीं सकते परंतु उनके विषय में अध्ययन कर सकते हैं और उनकी जानकारी प्राप्त कर सकते है उन्हें ही कंप्यूटर का सॉफ्टवेयर कहा जाता है। सॉफ्टवेयर किसी भी कंप्यूटर का एक ऐसा समूह होता है जो कि कंप्यूटर के उपयोग मेला जाने वाले हार्डवेयर्स को यह बताता है कि उन्हें क्या काम करना है और इस काम को कैसे करना है।

यदि हम आप सभी लोगों को अन्य शब्दों में बताएं तो कंप्यूटर सॉफ्टवेयर एक ऐसा डिजिटल प्रोडक्ट है जो केवल हमें दिखाई देता है हम उन्हें छू नहीं सकते। सॉफ्टवेयर का अर्थ पूर्ण रूप से कोड का कलेक्शन से होता है। यदि आप खुद का कोई सॉफ्टवेयर बनाना चाहते है तो आपको कोडिंग आना बहुत ही जरूरी है आप सभी लोग कोडिंग की मदद से किसी भी सॉफ्टवेयर को अच्छे से जनरेट कर पाएंगे।

  1. System unit: सिस्टम यूनिट कंप्यूटर का सबसे मुख्य भाग होता है। पीसी के द्वारा किए गए सभी कार्यों को नियंत्रित करने के लिए ही मुख्य रूप से सिस्टम यूनिट का उपयोग किया जाता है।

Uses of computer in Hindi | कंप्यूटर का उपयोग

सिस्टम यूनिट के प्रकार –  how many types of system unit in Hindi

सिस्टम यूनिट को उसकी संरचना के आधार पर निम्नलिखित दो वर्गों में बांटा गया है, पहला डेस्कटॉप टाइप और दूसरा टावर टाइप

  1. Desktop type: डेस्कटॉप प्रकार का सिस्टम यूनिट एक वर्गाकार बॉक्स की तरह होता है। आप सभी लोगों ने कभी ना कभी कहीं ना कहीं तो देखा ही होगा, कि कंप्यूटर को उसके स्टैंड टेबल के अतिरिक्त एक वर्गाकार बॉक्स के ऊपर रखा जाता है, आप लोग जो वह वर्गाकार बॉक्स देखते हैं, उसी बॉक्स को डेस्कटॉप टाइप सिस्टम यूनिट कहा जाता है।
  1. Tower type: टावर टाइप सिस्टम यूनिट टावर के आकार का बॉक्स होता है, जो कि मॉनिटर के बगल में या फिर स्टैंड के निचले भाग में हर रखा जाता है। टावर टाइप सिस्टम यूनिट में आप सभी लोगों को स्टोरेज क्षमता को बढ़ाने के लिए अलग से उपकरण लगाना नहीं पड़ेगा, यह सीधा आपको कंपनी से मिलेगा।

सिस्टम यूनिट क्या होता है? –  what is system unit in Hindi

सिस्टम यूनिट कंप्यूटर का सबसे मुख्य भाग होता है। पीसी के द्वारा किए गए सभी कार्यों को नियंत्रित करने के लिए ही मुख्य रूप से सिस्टम यूनिट का उपयोग किया जाता है। सिस्टम यूनिट मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं, जिनका विवरण हमने ऊपर निम्नलिखित प्रकार से किया हुआ है। सिस्टम यूनिट के मुख्य रूप से अनेकों भाग होते हैं, जिसमें से एक सीपीयू मुख्य है।

पर्सनल कंप्यूटर में उपस्थित महत्वपूर्ण हार्डवेयर –  importance of hardware in PC in Hindi

यदि आप सभी लोग पर्सनल कंप्यूटर को सिर्फ मॉनिटर तक ही सीमित रखते हैं, तो यह गलत है। पर्सनल कंप्यूटर में सीपीयू मॉनिटर माउस इत्यादि के अलावा अन्य चीजें भी उपयोग की गई होती हैं, आइए जानते हैं, इन सभी के बारे में;

  1. CPU: सीपीयू का फुल फॉर्म सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट होता है। सीपीयू को प्रोसेसर या माइक्रो प्रोसेसर भी कह सकते हैं। सीपीयू किसी से जुड़ा एक उपकरण होता है, जो कि पीछे से जुड़े अन्य उपकरणों को नियंत्रित करता है। सीपीयू को एक प्रकार से सिस्टम यूनिट भी कहा जा सकता है। सीपीयू कंप्यूटर द्वारा प्राप्त सूचनाओं का विशेष प्रकार से विश्लेषण करता है और प्राप्त सूचनाओं को डाटा के रूप में व्यवस्थित करके उसे संग्रहित कर रख कर रखता है।
  2. Motherboard: मदर डॉट बोर्ड पीसी में उपस्थित एक सर्किट होता है, जो की पूर्णता प्लास्टिक का बना होता है। मदर बोर्ड में धातु के द्वारा निर्मित महीन महीन धागे जैसी संरचना पाई जाती है,। जिसे बस कहते हैं। इस धागों के माध्यम से अनेकों प्रकार के संकेतों का आदान-प्रदान किया जाता है। मदर बोर्ड को कंप्यूटर का बेस कहा जाता है।
  3. Rom: यह मेमोरी कंप्यूटर की स्थाई मेमोरी होती है, जिसे कंप्यूटर के निर्माण के समय ही प्रोग्राम को स्टार्ट कर दिया जाता है और आप चाहे तो अपनी इच्छा अनुसार नए प्रोग्राम्स को भी ऐड कर सकते हैं। इसका पूरा नाम रीड ओनली मेमोरी होता है। यह एक ऐसी मेमोरी होती है, जिसमें पहले से ही मौजूद डाटा को बदला या फिर नष्ट नहीं किया जा सकता। इन्हें केवल ओपन करके पढ़ा जा सकता है। इसमें संग्रहित किया गया डाटा स्विच ऑफ या फिर कंप्यूटर बंद होने की स्थिति में नष्ट नहीं होते बल्कि सेव हो जाते हैं।
  4. Ram: यह एक ऐसी मेमोरी होती है, जो कीबोर्ड या अन्य किसी भी इनपुट डिवाइसेज के द्वारा किए गए प्रोसेस से पहले ही रैम में संग्रहित हो जाती है, अर्थात आप जितने भी डाटा लिखते जाएंगे, वे सभी तुरंत ही इस मेमोरी के साथ स्टोर हो जाती है। इस मेमोरी का पूरा नाम रैंडम एक्सेस मेमोरी होता है। डाटा सेव करने के बाद निश्चित समय के लिए सीपीयू डाटा को सेफ रखता है, अतः यह एक अस्थाई मेमोरी होती है। इसे ऐसा कहने का हमारा ही अर्थ यह नहीं है, कि इसे एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाया तो नहीं जा सकता, परंतु इसे ऐसा कहने का अर्थ यह है, कि या डाटा को तुरंत ही सेव कर देता है और मात्र कुछ निश्चित समय के लिए।
  5. Sound card: बात से पीसी ऐसे मौजूद है, जो कि मल्टीमीडिया के लिए बने होते हैं। मदरबोर्ड में एक प्लॉट लगा होता है, जिसमें साउंड कार्ड को एग्जिट किया जाता है। साउंड कार्ड कभी-कभी मदर बोर्ड के अंदर ही फिट रहता है। सॉन्ग कार्ड की मदद से ही संगीत या किसी वीडियो की ध्वनि को सुना जा सकता है।

URL meaning in Hindi | यूआरएल का इतिहास क्या है।

FAQ About Pc Ka Full Form

Q. पीसी क्या होता है?

Ans. जानने के लिए पढ़िए इस लेख को।

Q. पीसी का फुल फॉर्म क्या होता है?

Ans. पीसी का फुल फार्म पर्सनल कंप्यूटर होता है।

Q. इसी का सबसे मुख्य भाग क्या है?

Ans. सिस्टम यूनिट।

Q. सिस्टम यूनिट को कितने भागों में बांटा गया है?

Ans. सिस्टम यूनिट को दो भागों में बांटा गया है डेस्कटॉप टाइप और टावर टाइप।

निष्कर्ष:-

हम आप सभी लोगों से उम्मीद करते हैं, कि आप सभी लोगों को हमारे द्वारा लिखा गया यह Pc Ka Full Form लेख अवश्य ही पसंद आया होगा। यदि आप सभी लोगों को हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण लेख वाकई में पसंद आया हो, तो कृपया इसे शेयर करें। यदि आपके मन में इस लेख को लेकर कोई सवाल या फिर सुझाव है, तो कमेंट बॉक्स में हमें अवश्य बताएं।

Share on:

मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं?, आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। धन्यवाद Gmail ID - [email protected]

Leave a Comment