OBC ka matlab – ओबीसी का मतलब

दोस्तों आज के इस लेख के माध्यम से हम obc ka matlab जानेंगे। आपको इस बात की जानकारी जरूर होगी कि आप जब भी किसी सरकारी फॉर्म को भरने जाते हैं तो आपसे आपकी कैटेगरी पूछी जाती है कि आप किस कैटेगरी से है। 

वहां पर आपको कई सारे ऑप्शन मिलते हैं जिनमें से ओबीसी का भी एक ऑप्शन आपको दिखाई देता है। अब आप यह सोच रहे होंगे कि ओबीसी का मतलब क्या है और ओबीसी में कौन-कौन सी जाति शामिल है। इसके अलावा आप यह भी जानना चाहते होंगे कि ओबीसी कैटेगरी वाले को सरकार की तरफ से कितनी छूट मिलती है। 

अगर आप ऊपर बताया गया सारा जानकारी अच्छे से प्राप्त करना चाहते हैं तो आप हमारे इस लेख को कृपया अंत तक पढ़े। आपको सारी जानकारी अच्छे से समझ में आ जाएगी।

obc ka matlab क्या होता है

अगर आप ओबीसी का मतलब जानना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि ओबीसी एक तरह की कैटेगरी है जिसमें कई जातीयां आती है। भारत के संविधान के अनुसार ओबीसी कैटेगरी में उन जातियों को रखा जाता है जिनको शैक्षणिक रूप से पिछड़ा माना जाता हो।

कहने का मतलब यह है कि जिस जाति के लोग थोड़े कम पढ़े लिखे होते हैं या फिर उनकी आर्थिक स्थिति कमजोर रहती है उस जाति के लोगों को ओबीसी की कैटेगरी में रखा जाता है। 

2011 की जनगणना के अनुसार भारत में 42 परसेंट जनसंख्या ओबीसी की है। चुकी ओबीसी कैटेगरी के लोग आर्थिक रूप से या फिर शैक्षणिक रूप से पिछड़े वर्ग के माने जाते हैं। 

इसलिए सरकार की तरफ से इन्हें हर चीज पर 27 परसेंट तक की आरक्षण दी जाती है। भारत के संविधान में ओबीसी को एक पिछड़े वर्ग की तरह वर्णित किया गया है और उन लोगों को बढ़ने के लिए 27 फ़ीसदी तक की छूट दी जाती है ताकि वह लोग सामान्य जाति की तरह आगे बढ़े। 

इसे भी पड़े – Caste Certificate Number Kaise Pata Kare

ओबीसी का फुल फॉर्म क्या होता है 

आपके मन में यह सवाल उठ रहा होगा कि ओबीसी का फुल फॉर्म क्या होता है। तो हम आपको बता दें कि ओबीसी का फुल फॉर्म अदर बैकवर्ड क्लास होता है। 

1979 से पहले ओबीसी कास्ट की कहीं भी चर्चा नहीं थी और ना ही ओबीसी कास्ट को संविधान में लिखा गया था। लेकिन 1979 में जब मंत्रिमंडल में ओबीसी कास्ट बनाने के लिए चर्चा शुरू हुई। उसके बाद इस कास्ट का निर्माण किया गया और इस कास्ट में गरीब परिवारों को रखा गया। 

सरकार की यही कोशिश थी कि इस कास्ट में ज्यादातर लोग मजदूर हो या फिर गरीब परिवार के लोग हो। जिनकी आर्थिक स्थिति दयनीय हो। 

1990 में बी पी सिंह के सरकार के सिफारिश पर मंडल आयोग द्वारा यह फैसला लिया गया कि ओबीसी कैटेगरी वाले सभी लोगों को सरकार की तरफ से लाभ मिलने जरूरी है। 

जिसके बाद ओबीसी कैटेगरी वाले सभी लोगों को सरकारी नौकरी से लेकर शिक्षण संस्थान तक में 27 परसेंट की आरक्षण मिलने लगी। 

ओबीसी कैटेगरी में कौन कौन सी जातियां आती है 

ओबीसी एक बहुत बड़ा कैटेगरी है जिस कैटेगरी में कई जातियां आती है। भारत के हर राज्य में ओबीसी के कैटेगरी में अलग-अलग तरह की जातियों को शामिल किया गया है। इसके वजह से इस कैटेगरी में सैकड़ों जातीय शामिल हो गई है। 

अगर आप जानना चाहते हैं कि ओबीसी कैटेगरी में कौन-कौन सी जातियां आती है। तो हम आपको बता दें कि आप ओबीसी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर यह जानकारी अच्छे से प्राप्त कर सकते हैं। 

ओबीसी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर आप यह पता कर सकते हैं कि कौन से राज्य में ओबीसी कैटेगरी में कौन-कौन सी जातियां आती है और उनको कितना फीसदी तक का छूट सरकार के द्वारा दिया जाता है। 

अगर आप इसके ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करके ओबीसी के बारे में कोई भी जानकारी प्राप्त करते हैं। तो इसके लिए आपको किसी भी तरह की कोई फीस नहीं देनी पड़ती है। आप बिल्कुल मुफ्त में इस वेबसाइट के माध्यम से ओबीसी के बारे में सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। 

ओबीसी कैटेगरी वाले को मिलने वाले लाभ 

आपके मन में यह सवाल उठ रहा होगा कि ओबीसी कैटेगरी वाले लोगों को सरकार से क्या-क्या फायदे हैं। तो चलिए हम आपको नीचे अच्छे से बताते हैं कि ओबीसी कैटेगरी वाले को सरकार द्वारा कौन-कौन से लाभ मिलते हैं और उन्हें कहां कहां पर कितने फ़ीसदी तक कि आरक्षण मिलती है। जिसके वजह से उन्हें किसी भी नौकरी को पाने में जनरल कैटेगरी के मुकाबले कम मेहनत करना पड़ता है। 

ओबीसी कैटेगरी वाले लोगों को सबसे बड़ा लाभ सरकार द्वारा यह मिलता है कि उन लोगों को सरकारी नौकरी में 27 फ़ीसदी तक की छूट रहती है। हम कह सकते हैं कि उन्हें 27 फ़ीसदी तक आरक्षण मिलती है। इसके अलावा सरकारी नौकरी में उन्हें उम्र में भी छूट का प्रावधान है। जनरल के मुकाबले ओबीसी कैटेगरी वाले लोगों को उम्र में भी छूट मिलती है। 

ओबीसी कैटेगरी से विलोम करने वाले सभी छात्रों को सरकार द्वारा समय-समय पर छात्रवृत्ति और पोशाक के पैसे दिए जाते हैं। ताकि वह शिक्षा से संबंधित जरूरी सामग्री खरीद सके और अपनी पढ़ाई अच्छे से कर सके। 

सरकार का छात्रवृत्ति देने से यही तात्पर्य है कि ओबीसी केटेगरी वाले लोगों के परिवार पर इनकी पढ़ाई का ज्यादा भार ना पड़े। ओबीसी कैटेगरी के छात्र छात्रवृत्ति के पैसे से अपनी पढ़ाई की सामग्री खरीद सके। 

इन सबके अलावा और भी कई लाभ सरकार द्वारा ओबीसी कैटेगरी वाले लोगों को दिया जाता है। ताकि वह आगे बढ़ सके और सामान्य केटेगरी के बराबर में आ सकें। ओबीसी कैटेगरी वाले लोगों को जो 27 परसेंट की छूट नौकरी में मिलती है उससे उन्हें नौकरी पाने में बहुत ज्यादा मदद मिलती है। 

निष्कर्ष 

दोस्तों आज की इस लेख के माध्यम से हमने ओबीसी का मतलब क्या होता है के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त की। जैसे कि ओबीसी का मतलब क्या होता है, ओबीसी में कौन-कौन सी जातियां आती है, ओबीसी कैटेगरी वाले को सरकार द्वारा क्या-क्या लाभ मिलते हैं? उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे यह आर्टिकल पसंद आया होगा और हमने इस आर्टिकल में जो भी जानकारी दी है वह आपको अच्छे से समझ में आ गई होगी। 

तो अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा और इसमें दी गई सारी जानकारी समझ में आ गई तो आप इसे अपने दोस्तों रिश्तेदारों और अपने सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले। आप इस आर्टिकल से संबंधित कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो कमेंट करके पूछ सकते हैं। 

Leave a Comment