मॉडेम क्या है – मॉडेम का आविष्कार किसने किया

Modem Kya Hai: आज के इस आधुनिक जमाने में जितने भी टेक्नॉलॉजी संबंधित चीजें हमारी सुविधा के लिए उपलब्ध है हम उनका इस्तेमाल करना तो जानते हैं परंतु हम उनके बारे में ठीक तरीके से पूरी जानकारी नहीं जानते हैं। 

अब आप कंप्यूटर को ही मान लीजिए कंप्यूटर के उपयोग? के बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते हैं और कंप्यूटर को इंटरनेट से कनेक्ट करने के लिए मॉडेम का उपयोग किया जाता है इसके बारे में भी लोग नहीं जानते हैं परंतु उन्हें एक डिवाइस कंप्यूटर से इंटरनेट को चलाने में सहायक होती है इसके बारे में सिर्फ पता होता है।

कंप्यूटर में किसी भी प्रकार के इंटरनेट से संबंधित के कार्य को करना होता है तब हमें कंप्यूटर को इंटरनेट से कनेक्ट करना होता है और कंप्यूटर को इंटरनेट से कनेक्ट करने के लिए हमारी सबसे ज्यादा उपयोगी डिवाइस मॉडेम होती है। परंतु क्या आपको पता है कि मॉडेम होता क्या है? और मॉडेम का आविष्कार किसने किया?। 

शायद ही आप में से कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसे मॉडेम के बारे में पूरी जानकारी हो। आज के इस महत्वपूर्ण लेख में हम आप सभी लोगों को मॉडेम के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान करने वाले हैं अर्थात आप इस जानकारी को पढ़कर मॉडेम से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी को समझ पाओगे और इसीलिए आप ही से अंतिम तक अवश्य पढ़ें।

मॉडेम क्या है

मॉडेम एक ऐसी डिवाइस होता है जो कि PC और Telephone Line के मध्य लगाई जाती है। कंप्यूटर में डाटा (Data) Digital Form में, अर्थात डिजिटल अवस्था में रहते है, और टेलीफ़ोन लाइन (Telephone Line) पर डाटा Analog Form में मौजूद होता है। मॉडेम कंप्यूटर से प्राप्त Digital Signal को Analog Signal में बदल देता है, जो Standard Telephone Line के माध्यम से Flow होता है। इसी के जरिए Internet को कंप्यूटर में चलाने के लिए मॉडेम का इस्तेमाल किया जाता है।

अगर हम इसे साधारण शब्दों में समझने का प्रयास करें तो “मॉडेम एक ऐसा डिवाइस होता है, जो कंप्यूटर के Digital Signals को Analog में बदल देता है, जो टेलीफोन लाइनों के माध्यम से Transmit होते हैं। किसी भी टेलीफ़ोन लाइन से कंप्यूटर को जोड़ने के लिए Modem की आवश्यकता होती है।” कंप्यूटर में हम जिस डिवाइस के जरिए इंटरनेट को एक्सेस कर पाते हैं उस दिवस को हम मॉडेम के नाम से जानते हैं।

मॉडेम का फुल फॉर्म क्या है

क्या आपको पता है कि मॉडेम का फुल फॉर्म क्या है? अगर आपको नहीं पता तो कोई बात नहीं यहां पर हम आपको चलिए बता देते हैं कि मॉडेम का क्या फुल फॉर्म होता है।

Modem Full Form – “Modulation-Demodulation”.

यह डिवाइस Modulation और Demodulation, दोनों करने में सक्षम है, इसलिए इसका नाम “मॉडेम” (Modem) रखा गया।

मॉडेम कैसे काम करता है

अगर आप जानना चाहते हो कि मॉडेम कैसे काम करता है? तो इसके लिए आपको इसके कार्यों को समझना होगा। जब आप इसके कार्यों को समझ जाओगे तो आपको आसानी से समझ में आ जाएगा कि मॉडेम आखिर कार्य कैसे करता है।

Modulation के समय Modem कंप्यूटर के Digital Signal को Analog में बदलता है, जो फोन लाइन पर Transmit होता है। इसका ठीक उल्टा Demodulation के दौरान होता है, जब Modem, Telephone Line से Analog Signal प्राप्त कर इसे कंप्यूटर के Digital Signal में परिवर्तित करता है।

अगर साधारण शब्दों में इसके कार्य को समझे तो मॉडेम (Modem) का प्रयोग लाइन की सहायता से दो Computers को जोड़ने के लिए होता है। Internet प्रयोग करने के लिए कंप्यूटर तथा फोन लाइन के साथ Modem का होना अत्यंत आवश्यक होता है।

मॉडेम का आविष्कार किसने किया

जब आपने मॉडेम के बारे में इतना जान लिया तो अब आपके मन में सवाल उठता होगा कि आखिर Modem Ka Avishkar Kisne Kiya? तो हम आपकी जानकारी के लिए आपको बता देगी, 1962 में, Bell 103 ने AT&T Corporation द्वारा पहला मॉडेम जारी किया गया था।

इतना ही नहीं फिर इसके बाद 56K Modem का आविष्कार 1996 में “Dr. Brent Townshend” ने किया था “ब्रेंट टाउनसेंड” वह व्यक्ति है जिन्होंने 56K Bit/Sec Modem बनाने के लिए विचार किया था और फिर उनका यह विचार सफल भी रहा।

मॉडर्न कितने प्रकार का होता है

अब चलिए हम मॉडेम के प्रकार के बारे में जानकारी दे देते हैं। अगर आप बाजार में जाओगे मॉडेम लेने के लिए तो आपको कितने प्रकार के मॉडल उपलब्ध मिलेगी इसके बारे में आपको तो पता होना ही चाहिए ताकि आप अपने आवश्यकता और सुविधा अनुसार मॉडेम की खरीदारी कर पाओ। अब चलिए हम मॉडेम के प्रकार के बारे में विस्तार से जान लेते हैं जिसकी जानकारी इस प्रकार से नीचे विस्तृत रूप में बताई गई है।

External Modem

यह एक बॉक्स होता है, जो मॉडेम के Circuit को कंप्यूटर के बाहर रखता है। यह कंप्यूटर से एक USB cable या फिर Firewire की सहायता से जुड़ता है। इस प्रकार के मॉडल में थोड़ा इंटरनेट स्पीड अच्छा मिलता है। 

Internal Modem

यह एक सर्किट बोर्ड होता है जो कंप्यूटर के Expansion Slot में प्लग होता है। आजकल मॉडेम PC Card के रूप में आते हैं, जो Laptop में होता है। इसे मोबाइल फोन से Connect करके Data Transmit कर सकते है। इस प्रकार का मॉडल भी बहुत ही ज्यादा बेहतरीन मॉडेम होता है और इंटरनेट की स्पीड भी इसमें हमें अच्छी खासी मिल जाती है। 

Fax Modem

इस Modem का प्रयोग, कंप्यूटर को Fax Machine के रूप में कर सकते हैं। इस तरह के मॉडेम का प्रयोग कर Fax Exchange किया जा सकता है। इस प्रकार के मॉडेम में आप आसानी से सेक्स संबंधित कामों को अच्छे गुणवत्ता वाले क्वालिटी के साथ बहुत ही कम समय में कर सकते हैं।

मॉडेम का उपयोग कहां कहां पर किया जाता है

अब चलिए हम आपको बताते हैं कि मॉडेम का उपयोग कहां कहां पर किया जाता है। जिसके बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी नीचे बताई गई है।

Data compression

मॉडर्न का उपयोग डाटा कंप्रेशन के रूप में भी किया जाता है डाटा कंप्रेशन का तात्पर्य सही मात्रा में और एक सिग्नल क्वॉलिटी के साथ इंटरनेट उपलब्ध करवाना होता है और डाटा को फोन लाइंस के माध्यम से भेज देता है दूसरे कंप्यूटर तक इस बीच में इंटरनेट कनेक्शन में कोई भी बाधा मॉडेम के जरिए उपलब्ध नहीं होती है।

Error correction

जब आप कहीं इंटरनेट की सहायता से डाटा भेजते हो तो उस समय बहुत ज्यादा फिक्र होती है कि हमारा डाटा सही से पहुंचेगा या फिर नहीं या फिर बीच में किसी भी प्रकार का एयर तो नहीं आ जाएगा। अगर आप वही मॉडेम का उपयोग करते हो तो आपको इस प्रकार की टेंशन को लेने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि मैडम इंटरनेट कनेक्शन में और डाटा ट्रांसफर करने के दौरान किसी भी प्रकार की रुकावट उपलब्ध नहीं करता और एयर होने का चांस बिल्कुल 99.99 प्रतिशत ही होता है।

Modem speed

अगर आपको बहुत ही खराब क्वालिटी का इंटरनेट उपलब्ध होता है और आप इंटरनेट के खराब कनेक्शन की वजह से अपने काम को नहीं कर पाते हो या फिर आपके काम को करने में आपको बहुत ज्यादा समय लग जाता है तो ऐसे में आप मॉडेम का यूज़ करिए आपको मॉडेम के जरिए हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्शन उपलब्ध होगा जिससे आप अपने सभी प्रकार के इंटरनेट से जुड़े हुए कार्यों को अच्छे से और जल्दी-जल्दी कर पाओगे।

राउटर और मॉडेम में क्या अंतर होता है

एक राउटर और मॉडेम के बीच यह अंतर है कि एक मॉडेम आपको इंटरनेट से जोड़ता है और एक राउटर आपके डिवाइस में इंटरनेट कनेक्शन वितरित करता है। राउटर की इतनी क्षमता नहीं होती है कि वह अपने आप से आपको इंटरनेट कनेक्शन से जोड़ सकें। एक मॉडेम आपको वाइड एरिया नेटवर्क (WAN) या इंटरनेट से जोड़ने की हाई क्षमता रखता है। 

दूसरी ओर, एक राउटर आपके उपकरणों को आपके लोकल एरिया नेटवर्क (LAN) या वाईफाई नेटवर्क से सिर्फ जोड़ने की क्षमता रखता है और यह आपके डिवाइसेस को एक दूसरे के साथ वायरलेस तरीके से संचार करने देता है। अगर हम साधारण शब्दों में राउटर और मॉडेम के बीच का अंतर समझे तो हम आपको बता दें कि मॉडेम आपके लिए इंटरनेट कनेक्शन का एक प्रवेश द्वार होता है और वही राउटर आपके केवल डिवाइसेस के लिए एक सेंट्रल हब है।

FAQ About Modem Kya Hai

Q: मॉडेम का इस्तेमाल क्या होता है?

ANS  मॉडेम एक ऐसी डिवाइस है जिसकी सहायता से हम इंटरनेट को आसानी से हाई स्पीड के साथ एक्सेस कर पाते हैं और इतना ही नहीं हम मॉडेम के जरिए आसानी से डाटा ट्रांसफर भी बिना एरर के कर सकते हैं।

Q: क्या एक मॉडेम इंटरनेट के जरिए हमारा कोई भी डाटा स्टोर कर सकता है?

ANS  मॉडेम किसी भी प्रकार के डाटा को स्टार्ट नहीं कर सकता है क्योंकि इसके बाद जरा सा भी स्पेस नहीं होता है।

Q: क्या मॉडेम का और राउटर का उपयोग एक साथ किया जा सकता है?

ANS आधुनिक तकनीक के हिसाब से देखा जाए तो आपको राउटर की आवश्यकता नहीं होगी केवल मॉडेम की सहायता से ही आप अपने इंटरनेट से जुड़े कार्यों को कर सकते हो और इतना ही नहीं डाटा ट्रांसफर के संबंधित कार्यों को भी आप मॉडेम के सहायता से ही कर सकते हो।

Q: क्या बिना मॉडेम के इंटरनेट कनेक्शन कंप्यूटर में एक्सेस किया जा सकता है?

ANS आप अपने मोबाइल के हॉटस्पॉट को ऑन करके और अपने कंप्यूटर में वाई फाई के फीचर को ऑन कर के बिना मॉडेम के भी इंटरनेट एक्सेस कर पाते हो परंतु अगर आपको हाई स्पीड का इंटरनेट कनेक्शन चाहिए तब ऐसे में आपको मॉडेम का यूज करना ही होगा।

Q: मॉडेम कहां से खरीद सकते हैं?

ANS आजकल ऑफलाइन मार्केट में मॉडेम आसानी से मिल जाता है और जैसा चाहो वैसा मैडम आपको ऑफलाइन मार्केट में अलग-अलग प्राइस रेंज के हिसाब से मिल जाएगा। अगर आप ऑनलाइन इसे ऑर्डर करना चाहते हो तो अमेजॉन और फ्लिपकार्ट जैसे वेबसाइट से आप अपने मनपसंद के मॉडेम को आर्डर कर सकते हो ऑनलाइन स्टोर में भी मॉडेम आपको आसानी से मिल जाएगा।

निष्कर्ष

आज के इस महत्वपूर्ण लेख में हमने आप सभी लोगों को Modem Kya Hai? और मॉडेम का आविष्कार किसने किया? के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान की हुई है। हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई आज की यह जानकारी आपके लिए काफी ज्यादा मॉडेम से संबंधित यूज़फुल और हेल्पफुल रही होगी। अब आपको मॉडेम से संबंधित कहीं और जानकारी सर्च करने की आवश्यकता नहीं होगी।

अगर आपको आज का हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि आप के माध्यम से अन्य लोगों को भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में पता चल सके और उन्हें इस जानकारी के बारे में जानने हेतु कहीं और भटकने की आवश्यकता ना हो। 

इसके अलावा अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो। हमारे इस लेख को शुरू से अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद और आपका कीमती समय शुभ हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.