Login Or Sign In क्या होता है

Login Or Sign In आप इंटरनेट का इस्तेमाल करते वक्त है login और sign in जैसे शब्द देखे होंगे और आपके मन में कभी यह विचार भी आया होगा कि लॉगिन और साइन इन का क्या अर्थ होता है साथ ही क्यों किसी वेबसाइट पर लॉगिन लिखा रहता है तो कहीं दूसरी वेबसाइट पर साइन इन लिखा रहता है आज इन सभी सवालों का विस्तार पूर्वक जवाब इस लेख में दिया जाएगा। 

login और sign in इस इंटरनेट दुनिया के दो महत्वपूर्ण शब्द है। जिसके बारे में लगभग हर किसी को जानकारी होनी चाहिए मगर हर आम व्यक्ति इस दोनों शब्द का अर्थ है एक ही समझता है और ज्यादातर लोगों को लगता है कि अपना प्रोफाइल बनाने के लिए उन्हें इस प्रक्रिया का पालन करना होता है मगर यह सब गलत अवधारणाएं हैं आज के लेख में हम इसका सटीक अर्थ आप को समझाने जा रहे हैं। 

login और sign in की क्या जरूरत है

इससे पहले कि आप इन दोनों चीजों के बारे में समझे यह आवश्यक है कि इसकी आवश्यकता को जान लें कि आखिर इसके बिना क्यों काम नहीं चल सकता। अब इंटरनेट पर हम किसी भी जानकारी की तलाश करते हैं तो हमारे समक्ष विभिन्न प्रकार की वेबसाइट आती है उन वेबसाइट पर आपको लॉगिन और साइन इन करने का विकल्प मिलता है। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी जानकारी का अपनी सुविधा अनुसार इस्तेमाल करने के लिए उस वेबसाइट से अनुमति लेनी पड़ती है जो कार्य साइन इन और लॉगइन करके किया जाता है। 

ऐसा नहीं है कि इंटरनेट पर मौजूद सभी वेबसाइट को एक्सेस करने के लिए आपको लॉग इन ओर साइन इन करने की आवश्यकता पड़े मगर कुछ ऐसी वेबसाइट है जहां की जानकारी का अपने अनुसार इस्तेमाल करने के लिए आपको अनुमति लेनी पड़ती है और अपना ईमेल एड्रेस नाम जैसे कुछ चीज है इस वेबसाइट को बतानी पड़ती है और इसके लिए लॉगिन और साइन इन प्रक्रिया की आवश्यकता पड़ती है। 

लॉगिन और साइन इन क्या है – Login Or Sign In

सरल शब्दों में कहें किया एक प्रक्रिया है जिससे वेबसाइट का सरवर उस व्यक्ति के बारे में जानकारी एकत्रित करता है जो उस वेबसाइट का इस्तेमाल करने के लिए आता है। 

उदाहरण के तौर पर फेसबुक एक वेबसाइट है विभिन्न प्रकार की जानकारियां मौजूद है और वहां की किसी भी जानकारी को अपनी सुविधा अनुसार इस्तेमाल करने के लिए आपको फेसबुक के सरवर को अपने बारे में बताना होता है जिस प्रक्रिया को लॉगइन कहा जाता है। 

अब हम समझ गए होंगे कि अपने बारे में वेबसाइट के सर्वर को बताना ताकि वह सरवर वेबसाइट का इस्तेमाल करने आए यूजर के बारे में जानकारी एकत्रित कर सके और अपने मालिक को बता सके इस प्रक्रिया को लॉगिन और साइन इन कहते हैं मगर इन दोनों में क्या फर्क है और किस प्रकार इन दोनों का इस्तेमाल अलग-अलग जगह पर किया जाता है इस संबंध में नीचे जानकारी दी गई है। 

लॉगिन और साइन इन में क्या फर्क है

Login Or Sign In इन सभी बातों को समझने के बाद कई लोगों को लगता है कि लॉगिन और साइन इन में एक ही चीज है। ज्यादातर लोग इसके फर्क के बारे में नहीं जानते मगर आपको बता दें कि इंटरनेट की दुनिया में कोई भी चीज एक जैसी नहीं होती। लॉगिन और साइन इन दोनों का अलग-अलग अर्थ होता है अपनी सुविधा के अनुसार दोनों का इस्तेमाल विभिन्न जगहों पर किया जाता है। 

अगर हम बिना किसी टेक्निकल शब्द का इस्तेमाल किए कहे तो लोग इनका इस्तेमाल हो वहां किया जाता है जहां की वेबसाइट में आप बदलाव करना चाहते हो। जैसे आप किसी वेबसाइट पर गए और उसकी जानकारी का इस्तेमाल आप इस तरह से करेंगे की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी में बदलाव हो तो यहां आपको लॉगिन करने की आवश्यकता है ताकि अपने वेबसाइट पर किस तरह के बदलाव किए इन सभी चीजों को सरवर अपने पास कलेक्ट कर के रख सके। 

जब आप किसी वेबसाइट पर केवल जानकारी लेने के लिए जाना चाहते हैं और वहां के किसी भी चीज में बदलाव नहीं कर सकते तो साइन इन करने की आवश्यकता पड़ती है। 

और भी सरल शब्दों में कहें तो लॉगिन करने से आपने वेबसाइट पर क्या क्या जानकारियां ली और किस तरह से वेबसाइट का इस्तेमाल किया सरवर के बोट्स से उन सभी जानकारियों को रिकॉर्ड करते हैं वहीं अगर आप साइन इन करते हैं तो आप क्या कर रहे हैं इसकी जानकारी सरवर के पास नहीं होती। 

इसे भी पड़े – Account In Hindi – अकाउंट का मतलब क्या होता है

साइन इन और लॉगिन इस्तेमाल कैसे करते हैं

अब तक जैसा कि आप समझ गए होंगे कि लॉगइन का इस्तेमाल कहां करते हैं और साइन इन का इस्तेमाल कहां करते हैं यह आवश्यक है कि इनके इस्तेमाल करने की प्रक्रिया को भी आप सही तरीके से समझ पाए। 

अगर इस प्रक्रिया को उदाहरण के साथ हम समझाएं तो आई नैना का विकल्प आप गूगल पर देखे होंगे तात्पर्य है कि गूगल पर आप जानकारी एकत्रित कर सकते हैं मगर उस वेबसाइट पर किसी भी प्रकार का बदलाव अपने हिसाब से नहीं कर सकते इस वजह से गूगल पर साइन इन का विकल्प होता है। 

ठीक उसी तरह जीमेल पर भी आपको साइन इन का विकल्प दिखेगा क्योंकि आप किसी को कौन सा मेल भेज रहे हैं इस बात की जानकारी गूगल के पास नहीं होती अर्थात आप जीमेल की वेबसाइट का इस्तेमाल करके जानकारी में किस प्रकार का परिवर्तन कर रहे हैं इस बात को वेब साइट का सर्वर स्टोर नहीं कर रहा तो यहां आप साइन इन करेंगे। 

बिल्कुल ऐसे ही एक दूसरे उदाहरण में अगर देखें तो फेसबुक पर जवाब जाते हैं तो आप अपने हिसाब से कुछ चीजों को फेसबुक पर डालते हैं जिससे वेबसाइट में बदलाव होता है जब आप अपनी मर्जी से किसी वेबसाइट की जानकारी में बदलाव करते हैं तो यहां लॉगिन किया जाता है। 

उम्मीद करते हैं इससे आप इतना तो समझ गए होंगे कि अगर किसी वेबसाइट पर लॉगिन लिखा हुआ दिखे तो इसका सीधा तात्पर्य है कि वह वेबसाइट आपके द्वारा की गई सभी हरकतों को स्टोर कर रहा है। वहीं अगर किसी वेबसाइट पर साइन इन लिखा हुआ है तो इसका अर्थ है कि उस वेबसाइट पर आप जो भी जानकारियां दे रहे हैं वेबसाइट उनमें से केवल आपके नाम और ईमेल आईडी को छोड़कर कुछ भी एकत्रित नहीं कर रहा। 

लॉगिन और साइन इन क्या होता है? से संबंधित पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न एवं उनके उत्तर

यहां पर हमने लॉगइन एवं साइन इन क्या होता है? से संबंधित आप लोगों द्वारा पूछे जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर दिए हैं एक बार इन प्रश्नोत्तर को जरूर पढ़ें। 

Q. लॉगइन का क्या अर्थ होता है?

लॉगइन का अर्थ होता है कि आपके द्वारा किया गया परिवर्तन वेबसाइट को बदल रहा है इस वजह से आप किसी वेबसाइट पर कौन सी जानकारी साझा कर रहे हैं या किस तरह की जानकारी का इस्तेमाल कर रहे हैं इसके लिए आप की जानकारियों को वह वेबसाइट स्टोर कर रही है यहां लॉगइन किया जाता है।

Q. साइन इन कहां किया जाता है?

इंटरनेट पर मौजूद एक ऐसी वेबसाइट जो आपके द्वारा किए गए किसी भी बदलाव को स्टोर नहीं कर रही है और आपके द्वारा किए गए किसी भी परिवर्तन से उस वेबसाइट को कोई फर्क नहीं पड़ता तो ऐसी परिस्थिति में आप को साइन इन करने को कहा जाता है।

Q. लॉगिन और साइन इन में कौन ज्यादा सिक्योर है?

लॉगइन का अर्थ होता है कि आप की जानकारी किसी वेबसाइट में स्टोर की जा रही है और साइन इन का सीधा अर्थ है कि आपकी जानकारी किसी वेबसाइट में स्टोर नहीं की जा रही है इस वजह से आम जनता के लिए साइन इन ज्यादा सिक्योर माना जाता है।

Q. साइन इन और लॉगिन का इस्तेमाल कहां किया जाता है?

किसी भी वेबसाइट की जानकारी का इस्तेमाल करने के लिए लॉगिन और साइन इन का इस्तेमाल किया जाता है मगर इंटरनेट पर मौजूद सभी वेबसाइट में लॉगिन और साइन इन का विकल्प नहीं होता।

निष्कर्ष

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को Login Or Sign In क्या होता है? के बारे में पूरी विस्तार पूर्वक से सरल शब्दों के साथ जानकारी प्रदान की हुई है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा प्रस्तुत किया गया आज का यह महत्वपूर्ण लेख आपके लिए काफी उपयोगी सिद्ध हुआ होगा।

अगर आपको हमारा आज का यह महत्वपूर्ण लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि आप जैसे ही अन्य लोगों को भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में आप के जरिए पता चल सके एवं उन्हें ऐसे ही महत्वपूर्ण लेख को पढ़ने के लिए कहीं और इधर उधर भटकने की बिल्कुल भी आवश्यकता ना हो।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख कों अंतिम तक पढ़ने के लिए आपको बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमती समय शुभ हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.