Landmark क्या होता है – लैंडमार्क कैसे बनाये जानिए हिंदी में

दोस्तों जब हमें किसी पते पर जाना होता है तब हम कंपलीट एड्रेस पूछने के साथ-साथ लैंड मार्क के बारे में भी पूछते हैं परंतु बहुत सारे लोगों को LandMark Kya Hota Hai के बारे में पता ही नहीं होता है। अगर आपको भी लैंडमार्क के बारे में पता नहीं है कि लैंडमार्क किसे कहते हैं? तो आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से किसी विषय पर विस्तार पूर्वक जानकारी बताने वाले हैं।

किसी भी एड्रेस को पूरी तरीके से वेरीफाई करने का कार्य लैंडमार्क ही करता है। अगर आपको किसी जगह का एड्रेस नहीं पता है परंतु आपको वहां का लैंडमार्क पता है तो आप आसानी से लैंडमार्क कर पहुंच सकते हो क्योंकि कई सारे लोकल लोगों को उनके लैंडमार्क के बारे में पूरा पता होता है और लैंड मार्क बहुत पॉपुलर होता है। आज आप इस विषय पर जानकारी को जानने के लिए नीचे दी गई जानकारी को बिल्कुल भी मिस ना करें और 1-1 जानकारी को ध्यान से पढ़ें ताकि आपको लैंडमार्क से संबंधित जानकारी के बारे में सब कुछ पता हो। 

Landmark क्या होता है 

लैंडमार्क एक इंग्लिश शब्द है और इसका हिंदी में मतलब ‘स्थलचिह्न होता है। अगर आप किसी जगह पर रहते हो तो आपके नजदीकी कोई ना कोई ऐसा लैंडमार्क होगा जो बहुत ही पॉपुलर होगा जिसके बारे में सभी लोग जानते हैं। लैंडमार्क को बेसिकली किसी जगह की पहचान के लिए जाना जाता है और जो जगह को चिन्हित करता है वही लैंडमार्क कहलाता है। 

चलिए अब हम इसे थोड़ा उदाहरण के जरिए समझने का प्रयास करते हैं। मान लीजिए आप आगरा में किसी जगह पर रहते हो अब आगरा इतना बड़ा है कि किसी को आप की लोकेशन के बारे में आखिर कैसे पता चलेगा ऐसे में आप सामने वाले को अपना कंपलीट एड्रेस बताने के साथ साथ कोई लैंडमार्क भी बताओगे। अब सामने वाला आपके बताए जगह तक तो आ जाएगा। 

Landmark Kya Hota Hai

अब एग्जैक्ट आपके पास आने के लिए उसे लोकल एरिया में जाने के बाद लोगों से आपके द्वारा बताए गए लैंडमार्क के बारे में पूछना होगा। लोकल लोगों को उनके अगल-बगल के सारे लैंडमार्क के बारे में जानकारी होती है और आप किसी से भी आप का लैंडमार्क क्या है इसके बारे में जान सकते हो और आप उस एड्रेस तक लैंडमार्क की हेल्प से पहुंच सकते हो यहां तक कि अब गूगल में भी लैंडमार्क हमें देखने को मिल गया है।

इसे भी पड़े

Landmark की जरूरत क्यों पड़ती है

दोस्तों लैंडमार्क की जरूरत किसी भी जगह तक पहुंचने के लिए पढ़ती है। लैंडमार्क कोई बनाता नहीं है बल्कि लैंडमार्क बन जाता है। उदाहरण के रूप में अगर आपके एरिया में कोई बहुत ही पॉपुलर रेस्टोरेंट या फिर किसी भी चीज की दुकान है जिसके बारे में आपके लोकल लोगों को बहुत ही अच्छी तरीके से पता है तो आपका लैंडमार्क वही दुकान या फिर वही रेस्टोरेंट कहलायेगा। इसके अलावा लैंडमार्क की जरूरत एड्रेस को वेरीफाई करने के लिए भी किया जाता है।

Landmark को किसने बनाया

लैंडमार्क को किसी ने नहीं बनाया बल्कि यह शब्द अपने आप ही इसके उपयोग के अनुसार लोकप्रिय होता गया। जब जगह का विस्तार होता चला गया और एक ही एरिया में अलग-अलग कस्बे, कॉलोनी और सोसाइटी  बनने लगी तब किसी पार्टिकुलर जगह को उसके लैंडमार्क के हिसाब से वेरीफाई करना या पहचानने के लिए लैंडमार्क के शब्द का उपयोग किया जाने लगा। हर किसी एरिया का अपना अपना लैंडमार्क होता है। आप अपने लैंडमार्क की सहायता से किसी को भी अपना पता बता सकते हो या फिर उसे समझा सकते हो।

Landmark के फायदे

चलिए अब लैंडमार्क होने के क्या-क्या फायदे हो सकते हैं? के बारे में जान लेते हैं। लैंडमार्क होने के फायदों के बारे में जानने के लिए नीचे दिए गए पॉइंट को ध्यान से और विस्तार से जरूर पढ़ें।

  • अगर आप किसी भी सामान की ऑनलाइन डिलीवरी करवाते हो तो आप लैंडमार्क के सहारे अपने सामान की डिलीवरी सीधे अपने घर तक प्राप्त कर सकते हो।
  • अगर किसी भी जगह का लैंडमार्क मालूम हो तो आप उस जगह को आसानी से ढूंढ सकते हो और आपको वहां तक पहुंचने में कठिनाई भी नहीं होगी।
  • अगर आपको किसी भी प्रकार का समूह इकट्ठा करना है तो आप लोगों को एक लैंडमार्क बताकर समूह को आसानी से इकट्ठा कर सकते हो।
  • अगर कोई व्यक्ति किसी एड्रेस पर जाकर भटक गया है तो आप उस व्यक्ति को उस जगह का लैंडमार्क पता करने के लिए कहें और इस प्रकार से उस व्यक्ति को आप आसानी से उसकी लोकेशन के लैंडमार्क का पता करके ढूंढ सकते हो।
  • लैंडमार्क का इस्तेमाल सबसे ज्यादा इंटरव्यू के दौरान किया जाता है।

इसे भी जाने

Landmark के नुकसान

चलिए अब हम लोग लैंडमार्क के अपने नुकसान के बारे में भी जान लेते हैं जिसकी जानकारी हमने पॉइंट के माध्यम से नीचे विस्तारपूर्वक से समझाई हुई है और आप इसके बारे में नीचे दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें।

  • अगर किसी को आपके लैंडमार्क के बारे में पता चल जाता है तो आपको गोपनीयता का खतरा हो सकता है।
  • अगर आप चाहते हो कि आप तक कोई व्यक्ति ना पहुंचे तो ऐसे में आप उसे अपना लैंडमार्क बिल्कुल भी ना बताएं अगर उसे आपका एड्रेस नहीं पता होगा परंतु आपके लैंडमार्क के बारे में पता होगा तो वह आप तक बिना एड्रेस के भी आसानी से पहुंच सकता है।
  • अगर आपके घर के आसपास कोई लैंडमार्क है तो आपके लैंडमार्क के जगह पर आपको भीड़ भाड़ या शोरगुल वाली जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।
  • लैंडमार्क की जगह जरा तक लोगों का इकट्ठा होना और वहां पर किसी विषय पर चर्चा होना जैसी चीजें होती रहती है जिसकी वजह से काफी शोरगुल वहां पर रहता है और अगर आप एक विद्यार्थी हो तो आपको इससे समस्या हो सकती है। 

Landmark का इस्तेमाल हम कैसे कर सकते है

landmark ka use kaise kare

हमने आपको ऊपर यहां बताया कि landmark kya hota hai लेकिन अब आपकी मन में यह सवाल उठ रहा होगा कि अगर हमें लैंड मार्क का इस्तेमाल करना होगा। तो हम कैसे अपने घर के बगल के लैंड मार्क का इस्तेमाल आसानी से कर सकते हैं। आइए नीचे बताते हैं कि आप किस रूप में अपने घर के बगल की किसी भी लैंड मार्क का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

अगर आप अपने घर के बगल का या फिर अपने मोहल्ले के किसी लैंड मार्क का इस्तेमाल करना चाहते हैं। तो कई रूपों में उनका इस्तेमाल कर सकते हैं और उस लैंडमार्क से आपको कई तरह के फायदे भी हो सकते हैं। 

अगर कोई ऐसा व्यक्ति आपसे मिलने आ रहा है जो आपका घर नहीं जानता है। तो आप उसको उस लैंड मार्क पर बुला सकते हैं क्योंकि वह लैंड मार्क आपके इलाके की प्रसिद्ध जगह है। आपके मोहल्ले के किसी भी व्यक्ति से अगर वह लैंड मार्क के बारे में पूछेगा। तो कोई भी व्यक्ति उसको उस लैंड मार्क का रास्ता बता देगा और वह व्यक्ति वहां पर जाकर आपसे मिल सकता है। 

अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं और ऑनलाइन शॉपिंग के माध्यम से कोई वस्तु मांगते है। तो डिलीवरी बॉय आपसे यही पूछता है कि आप आसपास के किसी ऐसे जगह के बारे में बताएं जो काफी प्रसिद्ध हो और अगर हम उस इलाके में उस जगह के बारे में किसी से पूछे तो वह हमें आसानी से बता दे। ताकि हम आपका सामान आप तक आसानी से पहुंचा सके। 

इसके अलावा अगर आप कभी किसी ऐसे व्यक्ति के घर पर जा रहे हैं और आपको उसका घर नहीं पता है। तो आप भी लैंड मार्क का इस्तेमाल कर सकते हैं और उस व्यक्ति के घर का पता लगा सकते हैं। 

इस तरह से आप और भी कई रूपों में अपने घर के आस-पास के लैंड मार्क का इस्तेमाल कर सकते हैं और किसी भी वैसे व्यक्ति को अपने घर बुला सकते हैं। जो आपका घर नहीं देखा है। 

Landmark कैसे बनाये

ज्यादातर लैंडमार्क को बनाया नहीं चाहता है या अपने आप ही बन जाता है परंतु कहीं कहीं जगह पर लोग अपनी सहूलियत के लिए भी लैंडमार्क का निर्माण करते हैं। लैंडमार्क का निर्माण कोई भी कर सकता है। लैंड मार्क के निर्माण के लिए बस हमें समूह इकट्ठा करना है और जहां पर भी इसे बनाना है उस जगह को कोई नाम देकर फेमस कर देना है इस प्रकार से लैंडमार्क कोई भी व्यक्ति कहीं पर भी अपनी सहूलियत के अनुसार बना सकता है। 

Landmark क्या होता है से संबंधित प्रश्न

यहां पर हमने लैंड मार्क किसे कहते है से संबंधित आप लोगों द्वारा पूछे जाने वाले कुछ अन्य महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर दिए हुए हैं एक बार इन प्रश्नोत्तर को भी जरूर पढ़े।

Q. Landmark को हिंदी में क्या कहते है?

लैंडमार्क को हिंदी में ‘स्थलचिह्न’ कहते हैं।

Q. Landmark का यूज़ क्या है?

लैंडमार्क का यूज़ किसी भी जगह तक पहुंचने के लिए या फिर किसी भी एड्रेस को वेरीफाई करने के लिए खास तौर से किया जाता है।

Q. घर के आस-पास लैंडमार्क का निर्माण कैसे कर सकते है?

अगर हमारे घर के आस-पास कोई ऐसी जगह नहीं है जो काफी प्रसिद्ध है। तो हम अपने घर के आस-पास वैसे जगह को लैंडमार्क बना सकते हैं जो सभी जगहों से अलग है।

निष्कर्ष

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को Landmark Kya Hota Hai से संबंधित विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई आज कि यह महत्वपूर्ण जानकारी आपके लिए काफी ज्यादा यूज़फुल साबित होगी और आपको यह जानकारी आसानी से समझ में भी आ गई होगी।

अगर आपको हमारी आज की यह महत्वपूर्ण जानकारी पसंद आई हो या फिर आप के लिए जरा सा भी उपयोगी साबित हुई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि आप जैसी अन्य लोगों को भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में पता चल सके एवं उन्हें ऐसा ही महत्वपूर्ण लेख को पढ़ने के लिए कहीं और जाने की भी बिल्कुल भी आवश्यकता ना हो।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमती समय शुभ हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.