Keyboard क्या है-कीबोर्ड के प्रकार के बारे में हिंदी में जानिए

Keyboard kya hai  क्या आप जानते है कंप्यूटर के दो हाथ होते हैं, पहला हाथ Mouse को कहा जाता है और दूसरा हाथ Keyboard को, जिस तरह किसी इंसान का एक हाथ खराब हो जाए तो वो दुसरे हाथ से अपने आप को कंट्रोल कर सकता है वैसा ही सिस्टम है कंप्यूटर का है।

अगर किसी कारण से माउस खराब हो जाए तो कीबोर्ड कंप्यूटर को कंट्रोल करने में मदद करता है। आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे की Keyboard क्या है ? यह काम कैसे करता है और यह कितने प्रकार का होता है। हम आमतौर पर किस प्रकार का कीबोर्ड उपयोग करते है। यह सभी जानकारी आपको इस आर्टिकल में मिलेगी। तो आर्टिकल पूरा पढ़ें और जाने की Keyboard क्या है ?

Keyboard क्या है

कंप्यूटर में अलग-अलग तरह के यंत्र होते हैं उसमें कीबोर्ड नाम का एक यंत्र होता है जो हमारे द्वारा दी गई जानकारी कंप्यूटर में अपलोड करने का काम करता है आज कंप्यूटर इतना आवश्यक हो गया है कि हर किसी को कंप्यूटर और उसके यंत्र के बारे में पता होना चाहिए इसलिए सवाल उठता है आखिर Keyboard kya hai, इसके कितने प्रकार होते हैं और यह कैसे काम करता है अगर आप भी इस तरह के सवाल में उलझे हैं तो आज के लेख में हम इस संदर्भ में विस्तारपूर्वक जानकारी देने जा रहे हैं।

कीबोर्ड कंप्यूटर के एक महत्वपूर्ण क्या अंतर होता है जिसके जरिए हम अपनी सुविधा के अनुसार कंप्यूटर में जानकारी देते है, इस यंत्र के बारे में अच्छे से जानकारी होने पर ना केवल आप एक अच्छा कंप्यूटर खरीद पाएंगे बल्कि कंप्यूटर जैसे आवश्यक यंत्र के कार्यप्रणाली को भी समझ पाएंगे अगर आप कंप्यूटर के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं तो कीबोर्ड क्या है, इसके प्रकार और इससे जुड़ी अन्य जानकारियों को नीचे पढ़ें।

कीबोर्ड कैसे काम करता है

जैसा कि अब तक आप समझ चुके होंगे कि कीबोर्ड के अलग-अलग प्रकार होते है आज से कुछ साल पहले जब वायर कीबोर्ड बहुत अधिक प्रचलित हुआ, अगर उसकी बनावट को देखे तो उसके कार्य प्रणाली को अच्छे से समझ सकते है जिसमें पता चलता है कि कीबोर्ड में से निकला हुआ तार कंप्यूटर में सेट किया जाता है और उसके बाद कीबोर्ड का कोई बटन दबाने पर उसका असर हमें कंप्यूटर स्क्रीन पर देखने को मिलता है।

कीबोर्ड में अलग-अलग तरह के बहुत सारे बटन होते है प्रत्येक बटन कीबोर्ड में लगे हुए मदरबोर्ड से कनेक्ट होता है उसके बाद कीबोर्ड को कंप्यूटर से एक तार के जरिए जोड़ दिया जाता है जैसे ही हम कीबोर्ड में कोई बटन दबाते है उसका असर हमें कंप्यूटर स्क्रीन पर देखने को मिलता है।

मगर आजकल वायरलेस कीबोर्ड बहुत अधिक चल रहा है इस कीबोर्ड में कोई कार नहीं होता यह ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी के जरिए कंप्यूटर से जुड़ जाता है और कंप्यूटर के अंदरूनी हिस्से से डायरेक्ट ब्लूटूथ के जरिए कनेक्ट हो पाता है जैसे ही हम कीबोर्ड में कोई बटन दबाते है ब्लूटूथ के जरिए यह जानकारी कीबोर्ड कंप्यूटर को बताती है उसके बाद कंप्यूटर बताए गए बटन के अनुसार कार्य करता है।

इसे भी जाने

 Keyboard के प्रकार

कीबोर्ड कितने प्रकार के होते हैं ? Keyboard के layout के अनुसार

दोस्तों आज के समय में अनेक प्रकार के कीबोर्ड उपयोग में लिए जाते हैं। आज अनेक तरह के नए तकनीक के कीबोर्ड मौजूद है। लेकिन अगर हम इनके Layout के अनुसार विभजित करें तो यह मुख्य तौर पर दो तरह के होते हैं।

  1. QWERTY Keyboard Layout
  2. Non QWERTY Keyboard Layout

Qwerty Keyboard layout क्या है ?

आम तौर पर सबसे ज्यादा उपयोग में लिया जाने वाला कीबोर्ड QWERTY लेआउट Keyboard है। दुनिया में सबसे ज्यादा इसी का उपयोग किया जाता है। QWERTY Layout Keyboard को चार भागों में बांटा गया है या हम कह सकते हैं की इसे चार अलग-अलग Layout के साथ बनाया गया है। यह इस तरह है –

QWERTY – इस तरह के Layout कीबोर्ड सबसे ज्यादा उपयोग में लिए जाते हैं, आप अपने कीबोर्ड लेआउट में पहले 6 अक्षर देख सकते हैं आपको (Q,W,E,R,T,Y )लिखा नजर आएगा। यह आमतौर पर हम सभी भारतीय उपयोग करते है और विश्व के अन्य देशों में भी इसका उपयोग किया जाता है।

QWERTZ – इस कीबोर्ड उपयोग सबसे ज्यादा जर्मन (मध्य यूरोप) में किया जाता है। इसमें कीबोर्ड की पहली लाईन में Q,W,E,R,T,Z लिखा देखने को मिलेगा। माना जाता है की जर्मन भाषा में Y से ज्यादा Z का उपयोग किया जाता है।

AZERTY- इस कीबोर्ड लेआउट को फ्रेंच (फ्रांस) के लोग सबसे ज्यादा उपयोग करते है। इस कीबोर्ड की पहली लाइन के अक्सर A,Z,E,R,T,Y होते है। यानि Q और W को A और Z से Replace कर दिया गया है। यह फ्रांस के लोगों का सबसे पसंदीदा कीबोर्ड लेआउट है।

QZERTY – यह कीबोर्ड Layout इटली के लोगों के लिए बनाया गया है। इसमें कीबोर्ड की पहली लाईन में W की जगह Z को Replace कर दिया गया है। स्वीटजरलैंड और इटालियन भाषा का प्रयोग करने वाले लोग QZERTY Keyboard Layout का उपयोग सबसे ज्यादा करते हैं।

Non QWERTY Keyboard Layout क्या है ?

यह QWERTY कीबोर्ड लेआउट से बिलकुल अलग तो नहीं है पर इसमें उन अक्षरों को ज्यादा अहमियतता दी गई है जो सबसे ज्यादा उपयोग में लिए जाते है। यह यूजर के डाटा इनपुट स्पीड को बढाने के लिए बनाया गया कीबोर्ड Layout है। इसे मुख्य तीन भागो में बांटा गया है जैसे –

Dvorak – इस कीबोर्ड का अविष्कार अमेरिका के रहने वाले August Dvorak ने 1930 में किया था। इसे यूजर की Fingers Movements कम करने के डिजाईन किया गया है। यह QWERTY कीबोर्ड से आसान और जल्दी डाटा टाइप करने वाला कीबोर्ड होता है। हालाँकि इसका उपयोग हमारे भारत में बहुत कम होता है। इसमें उन अक्षरों को मध्य में रखा जाता है जो सबसे ज्यादा उपयोग किये जाते हैं। जैसे अगर हम P को सबसे ज्यादा उपयोग करते है तो P को मध्य में रखा जाएगा। इनका उपयोग ज्यादातर वैज्ञानिक या एक्स्प्रिमेंट कार्यशालाओं में होता है।

Colemak – यह लैटिन-लिपि वर्णमाला का कीबोर्ड होता है, इसे Shai Coleman ने 2006 में बनाया था। यह QWERTY और Dvorak का सुधरा हुआ वर्जन है। आज अनेक बड़ी कंपनियां इसी कीबोर्ड का उपयोग करती है और मैक और लिनक्स में यह कीबोर्ड पहले से इनस्टॉल हुआ मिलता है। इसे यूजर लगातर बढ़ते जा रहे हैं।

Workman – Workman कीबोर्ड भी Non QWERTY कीबोर्ड है। इसका उपयोग सबसे ज्यादा प्रोग्रामिंग करने वाले करते हैं। यह उन्ही की भाषा के According बना होता है। अगर एक अच्छा सॉफ्टवेर प्रोग्रामर ( डेवलपर) किसी अच्छे कीबोर्ड का उपयोग करता है तो वह Workman कीबोर्ड का ही उपयोग करता है। यह समान्य से कुछ अलग होता है।

आज कितने प्रकार के Keyboard उपलब्ध है ?

जरूरत के हिसाब से कीबोर्ड बनाये जा रहे है, आज मार्किट में अनेक तरह के कीबोर्ड हमें देखने को मिल सकते हैं। यदि आप लैपटॉप या कंप्यूटर पर काम करते हो तो आपने नार्मल कीबोर्ड QWERTY का ही उपयोग किया होगा। पर आपको जानकार हैरानी होगी की आपको Gaming, Programming और अन्य कामों के लिए अलग-अलग कीबोर्ड मिल सकते हैं। आइये बाजार में उपलब्ध मुख्य Keyboard के बारें में जानते है –

Gaming Keyboard

जो कंप्यूटर पर रोजाना गेम खेलते है उनके लिए कीबोर्ड कंपनियों ने अलग-अलग कीबोर्ड बना रखे है। इन कीबोर्ड पर गेम से संबधित कुछ Key’s होती है जो उनका गेम आसान कर देती है। एक Gaming Keyboard की कीमत 1000 से 20,000 रूपए तक होती है। यह कीमत डिपेंड करती है की आप कौनसा गेम खेलते हैं।

लैपटॉप कीबोर्ड

वैसे तो आमतौर पर लैपटॉप keyboard QWERTY वर्जन का ही होता है, पर आज कल अलग-अलग कंपनियां कुछ एक्स्ट्रा keys भी शामिल कर रही है।

Programming Keyboard

यदि आप प्रोग्रामिंग (डेवलपमेंट) के क्षेत्र में कार्य करते है तो आपको Workman Layout कीबोर्ड भी मार्किट में मिल जाएगा। यह आपके प्रोग्रामिंग के काम को आसान कर देगा। क्योंकि इसपर सभी Keys प्रोग्रामिंग से जुड़ी होती है।

Rollup Keyboard

जिन्हें लेटेस्ट टेक्नोलॉजी पसंद है वो यह Rollup Keyboard खरीद सकते है। यह रोल किया जा सकता है और इसे रोल करने के बाद यह कहीं पर भी आसानी से लेजाया जा सकता है। यह उन लोगों की सबसे ज्यादा पसंद है जो ज्यादा घूमना पसंद करते है। उन्हें यह Carry करने में आसान होता है।

Infrared Keyboard

यह आज की दुनिया का लेटेस्ट और सबसे ज्यादा आकर्षक कीबोर्ड है। इसकी लेजर लाईट टेबल पड़ती है तो टेबल पर कीबोर्ड बन जाता है। आप सिर्फ टेबल को टच करके ही कंप्यूटर में डाटा इनपुट कर सकते हैं। यह बहुत महंगा कीबोर्ड है।

इसे भी पढ़े

 Keyboard के शॉर्टकट कीस

कीबोर्ड में अलग-अलग तरह के बहुत सारे बटन होते है उसमें कुछ शॉर्टकट की भी होती है अगर आपको कोई काम करना होता है तो कुछ शॉर्टकट बटन को दबाने से आपका काम तुरंत हो जाता है इस तरह के कौन से शॉर्टकट की हैं इसकी एक संक्षिप्त सूची नीचे दी गई है उन सब को याद रखें ताकि कीबोर्ड चलाने में आपको आसानी हो – 

Ctrl + U – Select किये गए text को underline करने के लिए।

Ctrl + Y – पिछले action को दोहराने के लिए।

Ctrl + Z – अपनी अंतिम क्रिया को उलटने (undo) करने के लिए।

Ctrl + D – इंटरनेट ब्राउज़र में खुले हुए page को bookmark करती है।

Ctrl + F – खुले हुए document पर find box को open करती है।

Ctrl + I    – Select किये गए text को italics font में convert करती है।

Ctrl + K – Selected text में hyperlink insert करने के लिए।

Ctrl + N – Open किये हुए सॉफ्टवेयर में नया blank document खोलने के लिए।

Ctrl + O – नई फाइल open करने के लिए।

Ctrl + A – Page के सभी content को select करने के लिए।

Ctrl + C – Select किये गए text को copy करने के लिए।

Ctrl + V – Copy किये गए item को पेस्ट करने के लिए।

Ctrl + X – Select किये गए text को हटाने या कट करने के लिए।

Ctrl + P – Document के खुले हुए page को print करने के लिए।

Ctrl + S – Document को save करने के लिए।

FAQ’s About Keyboard kya hai

Q. कंप्यूटर के कीबोर्ड में कितने बटन होते हैं ?

एक साधारण कंप्यूटर कीबोर्ड में 104 बटन हो सकते हैं।

Q. कीबोर्ड में Function Keys कितनी होती है ?

12 होती है, F1 से F12 तक।

Q. कीबोर्ड में कितने Numeric Keys होते है ?

10 Numeric Keys होते हैं।

Q. कीबोर्ड में Alphabetic Keys कितने होते हैं ?

26 alphabetic keys होते हैं

Q. Keyboard में कितने Symbols होते हैं ?

QWERTY कीबोर्ड में लगभग 40 सिम्बल्स होते हैं।

Q. भारत में सबसे ज्यादा उपयोग कौनसा कीबोर्ड किया जाता है ?

भारत में QWERTY कीबोर्ड का उपयोग सबसे ज्यादा होता है।

Q. कीबोर्ड का आविष्कार किसने किया था?

कीबोर्ड का आविष्कार अमेरिकी वैज्ञानिक Christopher Latham Sholes ने 1868 में किया था।

Q. कीबोर्ड की कीमत कितनी होती है?

एक साधारण कीबोर्ड की कीमत ₹200 होती है वहीं एक हाई क्वालिटी की बोर्ड की कीमत ₹10000 तक भी होती है।

Q. कौन सा कीबोर्ड सबसे अच्छा होता है?

अगर आप कंप्यूटर चलाना सीख रहे हैं और टाइपिंग प्रैक्टिस के लिए कीबोर्ड चाहते हैं तो ₹200 का वायर कीबोर्ड सही हो सकता है इसके अलावा अगर आप कीबोर्ड पर रोजाना अपने व्यवसाय या नौकरी से जुड़े कार्य करना चाहते है तो अपनी सुविधा के अनुसार वायरलेस कीबोर्ड का चयन कर सकते हैं।

निष्कर्ष

उम्मीद है आप कीबोर्ड क्या है ? के बारें में अच्छे से समझ गये होंगे। यदि आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी है तो अपने आस-पड़ोस और दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें। आपका कंप्यूटर या कीबोर्ड से संबधित कोई सवाल है तो आप हमसे पूछ सकते हैं। हम जल्द ही आपके सवालों का जवाब देंगे।

1 Comment

  1. धन्यवाद आपने की बोर्ड के बारे में अच्छी जानकारी दी इससे Key Board के बारे में काफी कुछ सीखने को मिला

Leave a Reply

Your email address will not be published.