How to Transfer Data/mb to Other mobile । voda,idea,jio,airtel

एक सिम ऑपरेटर से दूसरे सिम ऑपरेटर में डाटा को किस प्रकार भेज सकते हैं।

आज चाहे देखा जाए तो वह छोटा बच्चा हो या फिर एक 60 साल का वृद्ध आदमी हर किसी के हाथ में आपको एक में एक चीज जरूर दिखाई देगी वह है स्मार्टफोन यानी कि मोबाइल। स्मार्टफोंस की वजह से आज हर व्यक्ति इतना खोया हुआ रहता है कि वह अपने आसपास क्या हो रहा है वह सब कुछ भूल जाता है। खैर यह तो बात रही स्मार्टफोन की लेकिन जो आज हम आपको बताने जाने वाले हैं वह है डाटा ट्रांसफर एक सिम से दूसरे सिम ऑपरेटर में यानी कि आपको इस प्रकार की दिक्कत अपने मोबाइल में जरूर आई होगी।

आपको भी कभी कोई जरूरी चीज अपने फ्रेंड को भेज नहीं रही होगी और आप ऐसा नहीं कर पाए तो क्या आप खुश होंगे। ऐसे में हर व्यक्ति सबसे पहले यही सीखना चाहता है कि आखिर यह डाटा ट्रांसफर दूसरी डाटा ट्रांसफर में सिम के द्वारा कैसे होता है तो चलिए जानते हैं इसके बारे में पूरी जानकारी-

हमें डाटा ट्रांसफर की जरूरत क्यों पड़ती है :-

देखिए हर कोई व्यक्ति यही चाहता है कि जो वह देखता है यदि उसे वह चीज पसंद आई तो वह यह चाहेगा कि आगे वाले को भी यह मैं उसके साथ शेयर करूं और उसके भी दिखाओ कि वाकई में यह कितना मजेदार और रोचक है।ऐसे में व्यक्ति को इस प्रक्रिया को पूरा करने के लिए डाटा ट्रांसफर करना है की प्रक्रिया जानने होती हैं लेकिन नहीं जाने पाने के कारण हम यह सहन नहीं कर पाते हैं।यदि आप अपने ऑफिस में अपने बॉस को कोई फाइल सेंड करनी हो तो भी इसी टाटा एमबी ट्रांसफर का उपयोग किया जाता है।लेकिन यदि आप इसको नहीं जानते हैं तो आपको कहीं प्रकार की आर्थिक और अन आवंटित परेशानियां हो सकते हैं।

सबसे पहले हम आपको यह बता देते हैं कि इन मोबाइल ऑपरेटरों में एक दूसरे के साथ ऑनलाइन डाटा किस प्रकार शेयर करते हैं।

1. डाटा का ट्रांसफर एयरटेल के ऑपरेटर से एयरटेल तक:-

इसके लिए सबसे पहले आपको अपना एयरटेल का नंबर डालना है और उसके बाद गो विकल्प पर क्लिक कर देना है। इस प्रकार आप बड़ी ही आसानी से अपना सर्विस एक्टिवेट कर लेंगे और एयरटेल टू एयरटेल डाटा बैलेंस अपनी फैमिली वालों और अपने दोस्तों के साथ आसानी से शेयर कर पाएंगे।

2. डाटा का ट्रांसफर आईडिया के ऑपरेटर से आइडिया तक :-इसके लिए सबसे पहले आपको आईडिया की ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा और उसके बाद आप यहां पर क्लिक कर सकते हैं।वेबसाइट पर पहुंचने के बाद आपको अपने प्रीपेड कस्टमर का प्लान प्रीपेड सेलेक्ट करना है और उसके बाद पोस्ट पर है तो पोस्ट पर क्लिक करना है।इसके बाद आपके सामने एक सर्कल का चयन होगा उस पर क्लिक करने के बाद आपका इंटरनेट पैक एक्टिवेट हो जाएगा और आप डाटा ट्रांसफर कर पाएंगे।

3. डाटा का ट्रांसफर रिलायंस के ऑपरेटर से रिलायंस तक :-

रिलायंस के सभी ग्राहकों के लिए यह खुशखबरी है कि रिलायंस ने हाल ही पोस्टपेड कस्टमर के लिए लांच की है।लेकिन उसी के साथ दूसरी तरफ प्रीपेड कस्टमर के लिए काफी दुख भरी बात है कि यह सर्विस अभी तक रिलायंस ने अपने प्रीपेड कस्टमर के लिए लांच नहीं करी।ऐसे में केवल रिलायंस के पोस्टपेड कस्टमर ही अपना डाटा ट्रांसफर कर पाएंगे प्रीपेड कस्टमर नहीं।

4.डाटा ट्रांसफर वोडाफोन के ऑपरेटर से वोडाफोन तक:-

वोडाफोन कंपनी में अभी हाल ही में अपने पोस्टपेड कस्टमर के लिए यह सुविधा लॉन्च कर दी है लेकिन दुख की बात है कि प्रीपेड कस्टमर के लिए अभी भी यह सुविधा उपलब्ध नहीं है।

5.डाटा का ट्रांसफर जिओ के ऑपरेटर से जिओ तक:-

जिओ के हाल ही में 2018 और 19 में धमाका मचाते हुए डाटा ट्रांसफर के पूरे सिस्टम को ही बदल डाला है। प्रीपेड कस्टमर और प्री पोस्टपेड कस्टमर दोनों के लिए बड़ी ही आसानी से ऐप के जरिए पूरा डाटा का ट्रांसफर कर सकते हैं।

डाटा को ट्रांसफर करते समय रखने वाली सावधानियां :-

सर्वप्रथम आप एक बात की गांठ बांधी लेकर बैलेंस या फिर डाटा ट्रांसफर करने से पहले इन सभी नीचे दी गई बातों पर जरूर अमल करें।

1. आप जिस व्यक्ति को डाटा या फिर बैलेंस ट्रांसफर कर रहे हैं सबसे पहले आप चेक कीजिए कि उनके मोबाइल नंबर सही है या फिर नहीं।बहुत बार नंबर की मिला नहीं करने से गलत नंबर होने के कारण आपके द्वारा भेजा गया पूरा का पूरा डाटा दूसरे मोबाइल के पास चला जाता है जो आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है।

2. हमारे द्वारा बताए गए तरीकों से ही टाटा को ट्रांसफर करें अन्य किसी भी प्रकार के तरीकों से यदि आपने डाटा शेयर किया तो आपका डाटा चोरी या फिर किसी खतरे में पड़ सकता है।

3. इसके अलावा मोबाइल ट्रांसफर करने वाले इन्हीं तरीकों से कुछ लोग चोरी-छिपे आपके मोबाइल से भी बैलेंस निकाल सकते हैं तो ऐसे में यदि आपके मोबाइल में किसी भी प्रकार की कोई भी ओटीपी आती हैं तो आप उसे कभी भी किसी के साथ शेयर ना करें।

4. सबसे और खास जरूरी बातें हैं कि आप अपने डाटा को हमेशा अच्छी सिक्योरिटी में रखे और कहीं भी किसी भी सोशल मीडिया या फिर सोशल साइट पर यूं ही ना डाल दें। क्योंकि डाटा का चोरी होना कोई रोचक बात नहीं है बल्कि यह गैरकानूनी और खतरनाक है।

5.दो और तरीके हैं जिनके जरिए भी आप मोबाइल का बैलेंस और डाटा ट्रांसफर कर सकते हैं जिनमें से आप कम डाटा शेयर करें।

  • दो से ₹5 या फिर 2 से 5 एमबी डाटा शेयर करना।

  • 5 से ₹10 या फिर 5 से 25 एमबी डाटा शेयर करना

6. एक और बात आप यह हमेशा ध्यान रखें कि आप जिस सामने वाले को भेज रहे हैं कुछ भी डाटा तो सामने वाले का ऑपरेटर और आपका ऑपरेटर एक समान होना चाहिए अलग अलग नहीं होना चाहिए यानी कि एयरटेल है तो एयरटेल होना चाहिए वोडाफोन है तो वोडाफोन होना चाहिए।अलग-अलग प्रकार के ऑपरेटर होने पर किसी भी प्रकार की कोई भी प्रक्रिया नहीं होती और आपका डाटा बीच में ही अटक सकता है।

अतः इस प्रकार आप हमारे द्वारा बताई गई इन सभी तरीकों से अपने एक सिम ऑपरेटर से दूसरे सिम ऑपरेटर में आप मोबाइल बैलेंस और मोबाइल डाटा शेयर या भेज सकते हैं। तो आप बिना किसी देरी के अब बड़े ही जोश के साथ अपने फ्रेंड्स अपनी फैमिली के साथ डाटा शेयर कीजिए और उन्हें भी सिखाइए कि वह किस प्रकार अपने डेटा को भी हमारे साथ शेयर कर सकते है।

अधिक जानकारी के लिए देखे हमारा यूट्यूब चैनल…..

Leave a Comment