मृत्यु प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं । How to Apply for Death Certificate in Hindi

मृत्यु प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं । How to Apply for Death Certificate in Hindiहमारे देश में कई प्रकार के प्रमाण पत्र बनाए जाते हैं जैसे कि मृत्यु प्रमाण पत्र जन्म प्रमाण पत्र आदि कई प्रकार के प्रमाण पत्र बनाए जाते हैं। इन प्रमाणपत्रों का कहीं ना कहीं जरूर उपयोग होता है। जैसे कि जन्म प्रमाण पत्र का प्रयोग यदि हम किसी भी सरकारी जॉब या गैर सरकारी जॉब को प्राप्त करने के लिए अप्लाई करते हैं तो हमसे मांगा जाता है।

ऐसे ही कई कार्यो के लिए मृत्यु प्रमाण पत्र भी जरूरी होता है। आज हम इस लेख के माध्यम से आपको बताने वाले हैं , कि मृत्यु प्रमाण पत्र का क्या लाभ है , इसका क्या महत्व है और मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें। यदि आप मृत्यु प्रमाण पत्र से संबंधित जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं , तो हमारे द्वारा लिखे गए इस महत्वपूर्ण लेख को अंत तक अवश्य पढ़े।

मृत्यु प्रमाण पत्र क्या है ? ( What is death certificate in Hindi )

जैसा कि हम सभी जानते हैं , जन्म प्रमाण पत्र जन्म के कुछ दिनों बाद मनाया जाने लगता है , क्योंकि इसकी बहुत ही आवश्यकता होती है। इसी प्रकार मृत्यु के बाद 21 दिन के अंदर है , आपको मृत व्यक्ति का सर्टिफिकेट बनवाना होता है। मृत्यु पंजीकरण अधिनियम 1959 के अनुसार , भारत में मृत्यु प्रमाण पत्र कानून व्यवस्था के अधीन ही किया जाता है। मृत्यु प्रमाण पत्र इसलिए बनाया जाता है , ताकि सरकार मृतकों के आंकड़ों को रख सके। मृत्यु दर का अनुमान इन्हीं आंकड़ों के अनुसार लगाया जाता है।

मृत्यु प्रमाण पत्र का महत्व क्या है ? ( What is importance of death certificate in Hindi )

मृत्यु प्रमाण पत्र की मदद से हम देश की शिशु मृत्यु दर , मृत जन्म दर , सफल शिक्षा इत्यादि के दर को मापा जाता है। इसके अलावा भी मृत्यु दर के अनेक कार्य होते हैं।

मृत्यु प्रमाण पत्र के लाभ क्या है ? ( What is profits of of death certificate in Hindi )

  • मृत्यु प्रमाण पत्र संपत्ति उत्तराधिकार के लिए उपयोग कर सकते है।
  • इसी के साथ पेंशन , बीमा आदि के मामलों को संपूर्ण करने के लिए उपयोग कर सकते हैं।
  • इसकी मदद से हम संपत्ति के दावों से छुटकारा प्राप्त कर सकते हैं।
  • भूमि के नामांतरण के लिए भी मृत्यु प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है।

मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें ?  How to Apply for Death Certificate in Hindi  –

How to Apply for Death Certificate in Hindi

  • यदि आप मृतकों का मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाना चाहते हैं , तो इसके लिए आपको सबसे पहले इसकी आधिकारिक वेबसाइट http://164.100.181.16/citizenservices/login/login.aspx पर जाना होगा।
  • आप जैसे ही इस वेबसाइट को ओपन करते हैं तो आपके सामने एक आवेदन फॉर्म आ जाता है।
  • इस आवेदन फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारियों को आप को बड़ी ही ध्यान पूर्वक से भरना होता है।
  • इस फॉर्म को भरते समय आप जिस नंबर का यूज किए होते हैं , आपको उसी नंबर पर एक ओटीपी आता है , आपको उस ओटीपी को भरना होता है।
  • इतनी प्रोसेस को पूरा करने के बाद आपको सीधे सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना होता है , आप जैसे ही submit के बटन पर क्लिक करते हैं , तब मृतक का मृत्यु प्रमाण पत्र बंद कर तैयार हो जाता है।

निष्कर्ष :-

यदि आपके परिवार के किसी भी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो आप उनका मृत्यु प्रमाण पत्र अवश्य बनवा ले। मृत्यु प्रमाण पत्र से आप अपने जमीनी संबंधी किसी भी कार्य को कर सकते हैं। मृत्यु प्रमाण पत्र से आप पेंशन बीमा आज ही संबंधित किसी भी कार्य को बड़ी आसानी से निपटा सकते हैं। इन सभी कार्यों को करने के लिए आपके पास मृतक का मृत्यु प्रमाण पत्र होना अति आवश्यक है। मृत्यु प्रमाण पत्र के माध्यम से ही जमीनों का नामांतरण होता है।

FAQ :-

  1. प्रश्न :- मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के लिए क्या हमें किसी भी प्रकार का शुल्क देना होता है ?

    उत्तर :- जी नहीं मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के लिए हमें किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं देना होता है।
  2. प्रश्न :- मृत्यु प्रमाण पत्र के माध्यम से हम कौन से कार्य कर सकते हैं ?

    उत्तर :- मृत्यु प्रमाण पत्र के माध्यम से हम बीमा पेंशन संपत्ति का उत्तराधिकार अधिकारियों को निपटा सकते हैं।
  3. प्रश्न :- मृत्यु प्रमाण पत्र के अंतर्गत चलाया जाता है ?

    उत्तर :- मृत्यु प्रमाण पत्र मृत्यु पंजीयन अधिनियम 1959 के अनुसार कानून की देखरेख में चलाया जाता है।

How can I know my account balance by missed call | kisi bhi Bank Ka aacout balanace or mini statement kaise pata kare miss call se ?

सीएससी क्या होता है , csc certificate download kaise kare

1 thought on “मृत्यु प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं । How to Apply for Death Certificate in Hindi”

  1. Mera nam bablu he Meri umr 24 sal me bareilly ka Rene balahu men High School Kar rakha h. Me kek midl cilas femli se hu

    Reply

Leave a Comment