GNP Ka Full Form – जीएनपी का फुल फॉर्म क्या है

GNP Ka Full Form – इससे पहले आपको बता दें कि इस शब्द का इस्तेमाल देश की प्रगति को नापने के लिए किया जाता है। आपको यह बात मालूम होनी चाहिए कि कोई देश कितना प्रगति कर रहा है या कितना सम्पन्न है यह उसकी अर्थव्यवस्था से अंदाजा लगाया जाता है। 

इस क्षेत्र में अर्थशास्त्रियों ने कुछ नियम और सूत्र बनाए हैं जिनका इस्तेमाल करके कोई देश अपनी संपूर्ण अर्थव्यवस्था को समझ सकता है और उस में कितनी बढ़ोतरी आ रही है या कितना नुकसान हो रहा है इसे भी समझ पाएगा जिसके लिए GDP, GNP, NNP जैसे शब्द बनाए गए है। आप किसी भी देश के नागरिक हों आपको gnp ka full form या इस तरह के शब्द से जुड़ी अन्य जानकारी के बारे में पता होना चाहिए। 

बता दें कि यह सभी शब्द अलग अलग किस्म की जानकारी देते हैं इन सब का फुल फॉर्म और किस शब्द का तात्पर्य क्या होता है यह मालूम होना बेहद आवश्यक है जिसे समझाते हुए gnp ka full form और इससे जुड़ी विभिन्न प्रकार की जानकारी आपको इस लेख में विस्तार पूर्वक और सरल भाषा में दी जाएगी। 

GNP कहां से आया

जब हम देश की प्रगति को नापने का प्रयास करते हैं तो देश की अर्थव्यवस्था को समझने के लिए जीएनपी एक महत्वपूर्ण शब्द बन जाता है जिसकी उत्पत्ति ऐसे ही अन्य शब्दों के साथ देश की अर्थव्यवस्था को समझने के लिए हुई थी। 1935 से 1944 के बीच में अमेरिका के एक महान अर्थशास्त्री जिनका नाम साइमन था, उन्होंने सबसे पहले जीडीपी एंड जीएनपी जैसे शब्दों का इस्तेमाल करके देश की अर्थव्यवस्था को समझने और समझाने का प्रयास किया था। 

इस घटना के बाद इस शब्द का इस्तेमाल करके हर देश अपनी अर्थव्यवस्था को समझने और उसे नापने का प्रयास करने लगा। मुख्य रूप से जीएनपी यह दर्शाता है कि एक खास सीमा वाले क्षेत्र के भीतर कितना अधिक उत्पाद हुआ है अर्थात किसी देश की सीमा के अंदर उसके लोगों ने कितने प्रोडक्ट या सर्विस का उत्पादन किया है जिससे देश को फायदा हो सकता है। 

ऐसे ही कुछ अन्य शब्द होते हैं जैसे जीडीपी और एनएनपी और इन सभी शब्दों का जब मूल्यांकन किया जाता है तो देश की अर्थव्यवस्था सही है या खराब इसका अंदाजा लगाया जाता है जो मुख्य रूप से देश की प्रगति को दर्शाता है। 

GNP Ka Full Form

GNP का फुल फॉर्म Gross National Product होता है। जिसे हिंदी में हम सकल राष्ट्रीय उत्पाद कहते हैं। 

इसका मतलब होता है कि किसी राष्ट्र में कितनी मात्रा में किसी वस्तु या सेवाओं का उत्पादन किया जा रहा है। किसी खास सीमा के भीतर किए गए उत्पाद से देश को कितना मुनाफा हो रहा है यह जानने की विस्तृत प्रणाली GNP को दर्शाती है। 

GNP क्या होता है?

जीएनपी को पूर्ण रूप में सकल राष्ट्रीय उत्पाद कहा जाता है। जिसका तात्पर्य है किस देश के लोग जब किसी वस्तु या सेवा कव्वे पार करते हैं या उत्पादन करते हैं तो उससे देश को कितना मुनाफा हो रहा है। 

इसे सरल शब्दों में ऐसे समझ सकते हैं कि अगर कोई व्यक्ति भारत में रहकर किसी वस्तु या सेवा का उत्पादन करता है तो इसके लिए वह भारत को टैक्स देता है और अपना व्यापार आगे बढ़ाता है जिससे भारत को मुनाफा होता है। दूसरी तरफ अगर कोई व्यक्ति विदेश में रह रहा है और विदेश में रहकर कोई व्यापार या कोई काम कर रहा है जिससे मिलने वाली तनख्वाह के बाद वह अपना टैक्स भारत भेज रहा है तो उसके विदेश में काम करने से भारत को मुनाफा हो रहा है जिसे हम जीएनपी में जोड़ते है। 

फिर आप यह भी समझिए कि अगर कोई विदेशी कंपनी भारत में रहकर किसी तरह का व्यापार कर रही है और अपना मुनाफा अपने देश पहुंचा रही है तो इस कंपनी कि जो खर्च है उसे सरकार जीएनपी में से घटा देगा।  

GNP क्या है और कैसे निकालते है

किसी भी देश में एक निश्चित समय अवधि के दौरान  या एक वित्तीय वर्ष में देश के नागरिक के द्वारा कितनी वस्तुओं या सेवाओं का उत्पादन किया गया जिससे देश को मुनाफा हुआ यह GNP दर्शाता है। 

आपको यह भी समझने की आवश्यकता है कि किसी एक वित्तीय वर्ष में देश की सीमा के अंदर उत्पाद हुए किसी भी वस्तु या सेवा के अंतिम मैट्रिक मूल्य को हम जीडीपी कहते हैं। एक देश के अंदर विदेशी कंपनियां भी काम करती है इस वजह से विदेशी कंपनी के द्वारा दी जाने वाली वस्तु या सुविधा के अंतिम मैट्रिक मूल्य को जीडीपी में जोड़ा जाता है। 

अब हम यह जानते हैं कि देश की कंपनी के तरफ से अगर किसी चीज का उत्पाद किया जाएगा तो उससे देश को सीधा मुनाफा होगा मगर किसी विदेशी कंपनी के तरफ से अगर ऐसा किया जाएगा तो वह सारा पैसा विदेश चला जाएगा हमारे देश को कुछ टैक्स मिलेगा। यह सब जीडीपी में शामिल किया जाता है मगर केवल भारत देश के नागरिक के तरफ से कितनी वस्तु या सेवा का उत्पाद किया गया जिससे देश को मुनाफा हुआ है उसे हम जीएनपी कहते हैं। 

सरल शब्दों में जब आप जीडीपी के बारे में सुनते हैं तो उसमें विदेशी कंपनी के द्वारा वस्तु और सुविधाओं के उत्पाद के लाभ को जोड़ा जाता है इस वजह से किसी देश की असली अर्थव्यवस्था या प्रगति को समझने के लिए आपको जीएनपी पता करना चाहिए जिसमें केवल देश के नागरिक के द्वारा उत्पादित की जाने वाली वस्तु का लाभ जोड़ा जाता है और GNP से विदेशी कंपनियों के लाभ को घटा दिया जाता है। 

GDP क्या है और कैसे निकालते है

GDP का फुल फॉर्म Gross Domestic Product होता है। जिसे हिंदी में सकल घरेलू उत्पाद कहा जाता है। 

जैसा कि हमने आपको बताया किसी एक वित्तीय वर्ष में देश की सीमा के अंदर जितनी भी वस्तु में बन रही है चाहे वह देश की कंपनी के द्वारा बनाई जा रही हो या किसी विदेशी कंपनी के द्वारा बनाई जा रही हो इन सभी वस्तु या सेवाओं के अंतिम मूल्यांकन को जीडीपी कहते हैं। 

जब कोई विदेशी कंपनी किसी देश में आकर अपनी सुविधा या वस्तु के जरिए व्यापार करती है तो इसका मुनाफा विदेशी देश को अधिक होता है मगर जीडीपी का हिसाब करते वक्त हम देश में उत्पादित तक हर वस्तु या सुविधा के लाभ को जोड़ते हैं जिसमें विदेशी कंपनी के द्वारा दिए गए लाभ को भी जोड़ दिया जाता है। 

इसे निकालने के लिए देश के अर्थशास्त्री देश में जितने भी कंपनी व्यापार चल रहे हैं उनके द्वारा कितने वस्तु को बनाया जा रहा है और कौन सी सुविधाएं दी जा रही है सबको जोड़ दिया जाता है। 

इसे भी पड़े – Newspaper Full Form – न्यूज़ पेपर का हिंदी में फुल फॉर्म

NNP क्या है और कैसे निकालते है

NNP का Net National Product कहा जाता है। इसे हिंदी में शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद कहा जाता है। 

किसी एक वित्तीय वर्ष में देश की कंपनी की लागत में जितनी कमी आती है हम उसे शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद कहते है। सरल शब्दों में कहें तो अगर कोई कंपनी किसी वस्तु या सेवा को प्रदान करने के लिए किसी मशीन का इस्तेमाल करती है और उस मशीन की कीमत 1 साल में घट जाती है तो उस मशीन की कीमत जितनी कम हुई है हम उसे जीएनपी से घटा देते है और यह nnp बन जाता है। 

उदाहरण से अगर इस प्रक्रिया को समझाएं – मान लीजिए आपने किसी वस्तु का निर्माण करने के लिए एक मशीन खरीदा जिसकी कीमत ₹5000 है मगर 1 साल के अंदर जब आपका सामान बनकर तैयार हुआ तो उस मशीन की कीमत ₹4000 हो गई। ऐसी परिस्थिति में सरकार ने जितना भी जीएनपी हिसाब किया होगा उसमें से ₹1000 घटा देगी और इसके बाद अगर सरकार को फायदा होता है तो उसे एनएनपी कहा जाएगा। 

एक आम भाषा में यह समझ लीजिए कि किसी सामान का दाम जब घट जाता है तो उससे जुड़े जितने व्यापार चल रहे थे उन सब की लागत कम हो जाती है जो एक तरह का मुनाफा है तो सरकार को ऐसी परिस्थिति में कितना मुनाफा होता है उसे एनएनपी कहा जाता है। 

NNP निकालने के लिए कुछ सूत्र होते है जैसे – 

  • NNP = Gross National Product – Depreciation
  • NNP = Market Value of Finished Goods + Market Value of Finished Services – Depreciation 

जीएनपी का फुल फॉर्म? से संबंधित पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न

यहां पर हमने जीएनपी का फुल फॉर्म क्या होता है? से संबंधित पूछे जाने वाले कुछ अन्य महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर दिए हुए हैं और यह प्रश्न आप लोगों द्वारा ही पूछे जाते हैं इसीलिए एक बार आपने प्रश्नोत्तर को जरूर पढ़ें।

Q. gnp ka full form?

GNP का फुल फॉर्म Gross National Product होता है।

Q. GNP से क्या पता चलता है?

GNP से पता चलता है कि देश के नागरिकों के द्वारा कितने वस्तु और सुविधाओं का उत्पादन किया गया जिससे देश को मुनाफा हुआ।

Q. GDP से क्या पता चलता है?

GDP से पता चलता है कि किसी देश में कितने प्रकार के वस्त्र और सुविधाओं का उत्पादन किया जा रहा है जिसमें देश की कंपनी और विदेशी कंपनियों का योगदान होता है।

Q. NNP का फुल फॉर्म क्या है?

NNP का फुल फॉर्म Net National Product होता है। जिसे शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद कहते हैं।

निष्कर्ष

हमने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को GNP Ka Full Form से संबंधित विस्तारपूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई आज कि यह महत्वपूर्ण जानकारी आपके लिए काफी ज्यादा उपयोगी और लाभकारी सिद्ध हुई होगी।

अगर हमारा यह लेख आपके लिए जरा सा भी उपयोगी लगा हो या फिर आपके लिए लाभकारी साबित हुआ हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूलें ताकि आप जैसे कि अन्य लोगों को भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में आप के जरिए पता चल सके एवं उन्हें ऐसा ही महत्वपूर्ण लेख पढ़ने के लिए कहीं और बार-बार भटकती बिल्कुल भी आवश्यकता ना हो।

अगर आपके मन में हमारे आपके इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमतीसमय शुभ हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.