EMI full form in hindi | ई एम आई क्या है | फायदे नुक्सान

Rate this post

EMI full form in hindi :- EMI का इस्तमाल आज कल हर कोई कर रहा है। मगर इसके फूल फॉर्म का इस्तमल न होने के कारण जादा तर लोग नहीं जानते की EMI क्या है। अगर आप नही जानते है EMI के बारे में तो आप बिल्कुल सही जगह पर है। EMI full form in hindi के अलावा और भी जानकारी दी गई है। 

EMI का इस्तमल अपने कोई समान खरीदने के लिए किया होगा, मगर क्या अपने कभी सोंचा है की EMI का फूल फॉर्म क्या होता है, अगर नहीं तो EMI से जुड़े सारे सवालों के जवाब आपको इस लेख मे मिल जाएंगे। 

इस लेख में हम आपको बता रहे हैं कि EMI के फुल फॉर्म होते हैं, इसके क्या लाभ है और क्या नुकसान हैं, आप इसे कैसे भर सकते हैं, और यह सारी जानकारियां लेने के लिए आपको इस लेख के साथ अंत तक बने रहना होगा। 

EMI Full Form in Hindi में जाने

EMI का फुल फॉर्म – EQUATED MONTHLY INSTALLMENT होता है। 

आसान भाषा में जब आप किसी चीज के लिए मासिक पैसा देते हो या हर महीने कुछ पैसा देते हो तो इसे ही हम EMI कहते हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी मगर EMI का केवल एक full form नहीं होता है इसके बहुत सारे फुल फॉर्म होते हैं जो नीचे बताए गए हैं। 

आज के समय में बहुत सारे लोग मासिक किस्त पर सामान खरीद लेते हैं और इसीलिए  EQUATED MONTHLY INSTALLMENT, EMI का आम तौर पर यह फूल फ्रॉम बन गया है। 

EMI के कुछ और फुल फॉर्म  

 हमने आपको EMI का वो फुल फॉर्म बताया है जो ज्यादातर लोग साधारण तौर पर इस्तेमाल करते हैं मगर इसके अलावा ईएमआई का और फुल फॉर्म भी है जो आपको नीचे बताया जा रहा है कृपया ध्यान से पढ़िए। 

Some More Full Form of EMI 

  • EMI – Electromagnetic Inference.
  • EMI – Equated Monthly Installment.
  • EMI – Electric and Musical Instrument.
  • EMI – Electromagnetic Interference.
  • EMI – Equal Monthly Installment.
  • EMI – Equated Monthly Instalment.
  • EMI – Electronic Money Institution

EMI  क्या होता है?

 ऊपर आपको जो फुल फॉर्म बताया गया है वह EMI का फुल फॉर्म है मगर वह ज्यादा प्रचलित नहीं है साधारण तौर पर आम भाषा में लोग ईएमआई का मतलब मासिक किस्त या – EQUATED MONTHLY INSTALLMENT  समझते हैं।

 इसे साधारण भाषा में आप ऐसे समझ सकते हो –  जब आप बैंक से या कहीं से भी कुछ पैसे उधार लेते हो और भी उधार देने वाली संस्था या व्यक्ति उसके ऊपर कुछ ब्याज लगाता है, और कुछ समय के बाद आप ब्याज के साथ हूं पूरा पैसा लौटा देते हो।

 बस इसी तरह जब आप पूरा पैसा हर महीने की किस्त में बताओगे तो इसे ईएमआई (EMI) कहते हैं।

 इसे और सरल भाषा में इस तरह से समझ सकते हो कि जब आपके पास पैसा नहीं है और आपको कोई  सामान खरीदना है तो आप वह सामान खरीद सकते हो बदले में बैंक आप की जगह पर पैसा दे देगा और आप बैंक को कुछ समय के बाद धीरे-धीरे करके वह पैसा चुका सकते हो उसके लिए बैंक आपसे कुछ प्रतिशत की ब्याज लेगा।

 इसके लिए बैंक आपको एक कार्ड देता है जिस कार्ड का इस्तेमाल करके आप बैंक को यह बात सकते हो कि यहां पर आप बैंक के पैसे का इस्तेमाल किए हो और इस पैसे को आप 3 महीने, 6 महीने, 8 महीने,  12 महीने, में धीरे-धीरे लौटा दोगे।

जितना जल्दी आप EMI लौटोगे आपको उतना काम ब्याज देना पड़ेगा। 

EMI  कैसे भरते हैं?

 आज का समय इंटरनेट का समय है आपको पता भी नहीं चलेगा और आपके बैंक से ईएमआई कट जाएगा यह बहुत ही सरल काम है जिसके लिए आपको ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं होती है।

 लोगों का अक्सर यह सवाल होता है कि EMI भरने के लिए कहा जाए, या EMI कैसे भरें,  यह बड़ा ही सरल काम है इसके लिए आपको कहीं जाने या किसी से बात करने की जरूरत नहीं होती है जब आप कोई सामान EMI पर खरीदते हो तो वहां आपको बैंक की पासबुक और कुछ डिटेल्स देना होता है जिसके बाद एक निश्चित तारीख को EMI अपने आप आपके बैंक से कट जाती है।

आपको कोई सामान ईएमआई (EMI) पर खरीदना होगा तो वहां EMI का एक ऑप्शन होगा जिस पर क्लिक करते ही आपसे कुछ डिटेल्स मांगे जाएंगे आप डिटेल जैसे ही भर देंगे आप EMI पर वह सामान ले सकते हैं।

 हर महीने की एक निश्चित तारीख को आपके बैंक से महीने की किस्त कटेगी आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि उस तारीख को आपके बैंक में पर्याप्त बैलेंस मौजूद हो।  अगर किसी कारण से EMI नहीं कटती है तो आपको इसके लिए पेनल्टी (Fine) भरना पड़ेगा, हो सकता है कि आपका खरीदा हुआ सामान भी वापस ले लिया चाहे इसलिए यह जरूरी है कि आप निश्चित तारीख को अपने बैंक में पर्याप्त बैलेंस रखें ताकि आपको किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े।

इसे भी पड़े –

How to Pay By Emi Online Amazon Flipkart

 ईएमआई (EMI) के फायदे

 आज के समय में हमें किसी सामान की जरूरत होती है और हम उसे नहीं ले पाते हैं उस वक्त यह बहुत ही अच्छा ऑप्शन है। EMI के कुछ फायदे हैं जो आपको पता होने चाहिए जिन्हें हमने नीचे बताया है कृपया ध्यान से पढ़ें।

  • किसी भी सामान को आसानी से कभी भी खरीद सकते हैं।
  • किसी सामान को खरीदने के लिए किसी से उधार लेने से अच्छा है EMI का इस्तेमाल करें, इसमें धोखाधड़ी का खतरा भी बहुत कम होता है।
  •  कहीं बाहर ऑफर निकलता है बिना कैसे भरे।
  •  अगर आप समय पर किस्त भरते हैं तो आप का क्रेडिट स्कोर बढ़ता है।
  •  आप बिना पैसे के भी सामान खरीद सकते हैं जिससे चोरी का खतरा कम होता है।

EMI  के नुकसान

 हम जानते हैं इस दुनिया में किसी चीज का अगर फायदा है तो उस चीज का नुकसान भी जरूर होगा EMI भी ऐसी ही चीज है इसके कुछ नुकसान के बारे में नीचे बताया गया है उसे पढ़ें।

  • EMI  के कारण लोग अक्सर बहुत महंगा सामान खरीद लेते हैं जिसका किस्त नहीं चुका पाते और परेशानी में फंस जाते हैं।
  •  अगर आप महीने का किस्त नहीं चुका पाते हो तो कंपनी आपका सामान आपसे छीन कर ले जा सकती है।
  •  समय पर किस्त ना भरने पर आपको एक्स्ट्रा सर्विस टैक्स भी देना पड़ता है।
  •  अगर आपकी EMI कंपनी ट्रस्टेड नहीं है तो आपको बहुत ज्यादा नुकसान हो सकता है।

 आज आपने EMI full form in hindi क्या सीखा?

 आज हमने आपको ईएमआई फुल फॉर्म के साथ साथ आपको EMI बारे में यह बताया कि यह क्या होती है, आप EMI कैसे भर सकते हैं, EMI पर समान कैसे खरीदे और EMI के फायदे और नुकसान के बारे में भी बताया गया। 

अब EMI पर सामान लेना अच्छा है या बुरा यह समझना आपके हाथ में है हमने नुकसान और फायदा दोनों के बारे में आपको बताया है अगर आप EMI full form in hindi के अलावा और सब भी अच्छे से समझ चुके हैं, तो इस लेख को शेयर करें और comment कर के अपने विचार हमे बताए।

Share on:

मेरा नाम Deepak Yadav है। मैं इस Kaisekarehelp.com Blog और Kaise kare help youtube चैनल का Founder हूँ। हमारा इस kaisekarehelp.com Blog को बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषी लोगों को Internet से जुड़ी जानकारी प्रदान करवाना है। यहाँ आपको शिक्षा, तकनिकी, कंप्यूटर और मेक मनी से जुड़ी हर तरह की जानकारी अपनी मातृ भाषा Hindi में मिलने वाली है।

Leave a Comment