E Commerce Kya Hai – ई-कॉमर्स वेबसाइट से शॉपिंग कैसे करें 2021

Rate this post

E Commerce Kya Hai इसके बारे में लोगों को बताने की जरूरत नहीं है क्योंकि ज्यादातर लोग आप  ई-कॉमर्स के माध्यम से ही शॉपिंग करना पसंद करते है। मगर फिर भी कई सारे लोगों को आज तक ई-कॉमर्स के बारे में जानकारी नहीं है। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में ई-कॉमर्स के बारे में पूरी  विस्तृत जानकारी प्रदान करने वाले हैं।

 ई-कॉमर्स ने हमारे हमारे जीवन में शॉपिंग करने के नजरियों को पूरी तरीके से बदल रखा है। आज हमें घर से बाहर निकलने की जरूरत नहीं है हम जो समाज चाहे अपने घर बैठे ऑर्डर कर सकते है और उसकी होम डिलीवरी प्राप्त कर सकते है। ई-कॉमर्स के विकास से  ऑनलाइन शॉपिंग में रिवोल्यूशन आ चुका है। 

आज के इस आर्टिकल में आप सभी लोगों को ई-कॉमर्स क्या होता है? और इ कॉमर्स बिज़नेस के कितने प्रकार होते है? और इतना ही नहीं ई-कॉमर्स से शॉपिंग कैसे करें? इस विषय पर आपको विस्तार से जानकारी मिलने वाली है। कुल मिला जुला कर आज का यह आर्टिकल आपके लिए  ई-कॉमर्स से संबंधित बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है। 

ई कॉमर्स क्या है (What is e-commerce in Hindi?)

ऑनलाइन घर बैठे किसी भी प्रकार की वस्तु को आर्डर करने से लेकर उसके होम डिलीवरी और इतना ही नहीं उसकी ऑनलाइन पेमेंट तक के सारे काम ई-कॉमर्स के जरिए आसानी से किए जा सकते है। हम आपको ई-कॉमर्स की ज्यादा डिफिकल्ट परिभाषा नहीं बताएंगे हम आपको इसे बहुत ही आसान शब्दों में बचाने का प्रयास करेंगे। 

एक ऐसा प्लेटफार्म जिसका घर बैठे उपयोग करके हम किसी भी प्रकार की अपने आवश्यकता अनुसार वस्तु को ऑर्डर कर सकते है और उसके भुगतान एवं डिलीवरी से संबंधित सभी प्रकार की सुविधाएं घर बैठे प्राप्त कर सकते है। ऐसे प्लेटफार्म को हम ई-कॉमर्स प्लेटफार्म के नाम से जानते है। 

आज के समय में फ्लिपकार्ट से लेकर ऐमेज़ॉन और भी कई सारी कंपनियां ई-कॉमर्स की सुविधाएं हमें प्रदान करती है। ई-कॉमर्स ने हमारे जीवन में शॉपिंग के नजरिए को पूरी तरीके से बदल दिया। आप हमें घर से बाहर किसी भी प्रकार की वस्तुओं को खरीदने के लिए जाने की आवश्यकता नहीं है। 

अपने हर एक प्रकार की आवश्यकता की वस्तु को घर बैठे ही ऑर्डर कर सकते है और इतना ही नहीं ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर अब भुगतान संबंधित कई सारी अन्य सुविधाएं भी उपभोक्ताओं को प्रदान की जा रही है।

इसे भी पड़े- Gmail Id Kaise Banaen 10 स्टेप में | मोबाइल में जीमेल आईडी कैसे बनाएं?।

  ई-कॉमर्स बिजनेस के प्रकार – Types of E-Commerce in Hindi?

ई-कॉमर्स की सुविधा हर एक ग्राहकों तक आसानी से पहुंच सके इसके लिए इ कॉमर्स बिज़नेस के कुछ प्रकार निर्धारित किए गए है और उनकी जानकारी सरकार से नीचे हमने विस्तृत रूप से बताई हुई है। 

1. Business-to-Business (B2B)

इस प्रकार के अंतर्गत कोई भी कंपनी या फिर बिजनेस सेवा प्राप्त करने के लिए ग्राहकों के बजाय किसी दूसरे कंपनी या बिजनेस से हेल्प लेती है। उदाहरण के रूप में आप डायरेक्टरी वेबसाइट को ले सकते है।  इस प्रकार के बिजनेस के अंतर्गत डायरेक्टरी वेबसाइट और कंपनी या फिर बिजनेस वाले क्लाइंट को भी फायदा पहुंचता है पहला कंपनी या बिजनेस अपने प्रोडक्ट या सर्विस का प्रचार करवा सकती है और दूसरा डायरेक्टरी वेबसाइट को इस प्रकार से क्लाइंट भी मिलते रहते हैं।

2. Business-to-Consumer (B2C)

इस प्रकार के बिजनेस के अंतर्गत कोई भी कंपनी या फिर उद्योगपति अपने सभी प्रकार के सेवाओं और प्रोडक्ट को इंटरनेट की सहायता से ग्राहकों तक पहुंचाता है और ग्राहक सीधे कंपनी के संपर्क में आकर अपने मन पसंदीदा सर्विस या पर प्रोडक्ट को ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

 इस प्रकार का बिजनेस आज के समय में बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय होता चला जा रहा है और आने वाले समय में इस प्रकार के बिजनेस का भविष्य बहुत ही ज्यादा उज्जवल है। इस बिजनेस में ग्राहक और कंपनी दोनों को ही फायदा होता है। अमेजॉन और फ्लिपकार्ट जैसी बड़ी कंपनियां इस बिजनेस की एक सबसे बड़ी विशाल उदाहरण है।

3. Consumer-to-consumer (C2C)

 इस प्रकार के बिजनेस को आप क्लाइंट से क्लाइंट की डील कह सकते है। इस प्रकार के बिजनेस में ज्यादातर कोई भी कंजूमर अपने किसी भी प्रकार के सर्विस या अपने प्रोडक्ट को किसी और कंजूमर को बेचने का काम करता है। ज्यादातर इस प्रकार के बिजनेस में सेकंड हैंड और पुराने सामान ही बेचे जाते हैं।

 अगर हम इस प्रकार के बिजनेस के उदाहरण के रूप में किसी कंपनी का वेबसाइट का नाम ले तो क्विकर और ओएलएक्स इस प्रकार के बिजनेस में अपना महारत हासिल कर चुकी है। अभी इसी प्रकार के और भी कंपनियां मार्केट में आ रही है। इसमें एक कस्टमर से दूसरे कस्टमर को फायदा होता है।

4. Consumer-to-Business (C2B)

इस प्रकार के बिजनेस के अंतर्गत सीधे कंजूमर बिजनेसमैन या फिर कंपनी को कांटेक्ट करता है और उसके रिक्वायरमेंट को पूरा करने के बाद अपने हिसाब से पेमेंट लेता है। मतलब अगर आप किसी कंपनी या फिर बिजनेस के ओनर है और आपको कंपनी के किसी भी प्रोडक्ट या सर्विस से संबंधित कोई सर्विस चाहिए तब इसके लिए आप अपवर्क और फ्रीलांसर जैसे वेबसाइट पर अपने रिक्वायरमेंट पोस्ट करेंगे और फिर वहां से सीधे आपको आपके वर्क से संबंधित लोग मिल जाएंगे और फिर इस प्रकार से आपके रिक्वायरमेंट भी पूरी होगी और साथ ही में काम ढूंढ रहे उस कंज्यूमर की भी रिक्वायरमेंट जो कि काम की है वह पूरी हो जाएगी।

ई-कॉमर्स वेबसाइट से शॉपिंग कैसे करें

चलिए ऑनलाइन शॉपिंग करने के लिए भी हम प्रोसेस को जान लेते है। वैसे तो ऑनलाइन शॉपिंग कैसे करते है? इसकी जानकारी सबको होगी। मगर हम आपको यहां पर एक बार इसकी यहां पर प्रोसेस बताना चाहते हैं ताकि जिन को नहीं मालूम है उनको भी इसका प्रोसेस पता चल सके और वह ऑनलाइन शॉपिंग आसानी से कर सके।

1. ऑनलाइन ई-कॉमर्स वेबसाइट का चयन करें

आप ऑनलाइन शॉपिंग करने के लिए सबसे पहले किसी भी प्रकार के ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट का चयन करें जो भी आपको वेबसाइट पसंद हो उसका आपको चयन कर लेना है।

2. ई-कॉमर्स वेबसाइट पर विजिट करें

ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट का चयन करने के बाद आपको उसके आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर विजिट करना है और वहां पर उसके होम पेज को ओपन कर लेना है।

3. अपने किसी भी प्रकार के प्रोडक्ट का चुनाव करें

अब आपको जो भी प्रोडक्ट लेना है आपको उसका वहां पर चुनाव का लेना है और इसके बाद आपको वहीं पर शॉप नाउ या फिर बाय नाउ का एक ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करना होगा।

4. एड्रेस डिलीवरी का चयन करें

इसके बाद आप जहां पर भी प्रोडक्ट की डिलीवरी चाहते है उसका आपको विस्तृत एड्रेस लिखना होगा और  साथ ही में आप सभी को अपने आसपास की कोई जानी-मानी लोकेशन के बारे में भी वहां पर लिखना है और अपना मोबाइल नंबर और कोई एक और अल्टरनेट मोबाइल नंबर वहां पर दर्ज करें।

5. पेमेंट ऑप्शन का चुनाव करें

प्रोडक्ट के ऑर्डर के लिए आपको वहां पर कई सारे पेमेंट के ऑप्शन दिखाई देंगे और आपको उनमें से कोई भी एक अपनी सुविधा अनुसार पेमेंट ऑप्शन का चुनाव का लेना है।

 6. शिपिंग कंफर्म करें

पेमेंट ऑप्शन का चुनाव करने के बाद आपको यहां पर अपना शिपिंग कंफर्म कर देना है और इससे आगे आपको अपना पेमेंट कंफर्म करने के लिए आपको एक नया इंटरफ़ेस दिखाई देगा।

7. पेमेंट कंफर्म करें

पेमेंट कंफर्म करने के बाद आपका प्रोडक्ट आर्डर हो जाएगा और आपके प्रोडक्ट को कुछ ही घंटों के अंदर अंदर ई-कॉमर्स वेबसाइट प्लेस कर देगी। इन सभी की जानकारी आपको ई-कॉमर्स वेबसाइट या एप्लीकेशन में दिखाई देगी और साथ ही में आपको इसका कन्फर्मेशन आपके ईमेल पर भी आएगा और इसके अतिरिक्त आपके मोबाइल नंबर पर भी इसका कन्फर्मेशन भेज दिया जाता है।

इसे पड़ना न भूले – Flipkart Axis Bank Credit Card kaise apply karen

ई-कॉमर्स वेबसाइट और एप्लीकेशन के बेनिफिट – Advantages of e-commerce in Hindi

दोस्तों ई-कॉमर्स एप्लीकेशन और वेबसाइट के बहुत सारे फायदे है और उनमें से कुछ फायदा के बारे में हमने यहां पर जानकारी दी हुई है।

  • ई-कॉमर्स वेबसाइट और एप्लीकेशन के सुविधा के लांच हो जाने की वजह से हमारे जीवन में काफी ज्यादा आराम हो चुका है क्योंकि अब हमें शॉपिंग करने के लिए कहीं बाहर दूर जाने की आवश्यकता नहीं सब कुछ अब मोबाइल फोन पर संभव है।
  • जो लोग इस प्रकार के व्यापार को करना चाहते है आजकल इस प्रकार के व्यापार की मांग है और अपना बहुत ही न्यूनतम निवेश में ऑनलाइन ई कॉमर्स का स्टार्टअप शुरू कर सकते हैं।
  •  कई सारे आकर्षक शॉपिंग करने पर हमें ऑफर और कैशबैक भी प्राप्त होते हैं।
  •  आज के समय में तो फेस्टिव सीजन चल रहा है और इसकी वजह से कई सारी ई-कॉमर्स वेबसाइट ने अपने ग्राहकों के लिए भारी ऑफर लांच कर रही है जिसमें ग्राहकों को 70% से लेकर  80% का डिस्काउंट प्रदान किया जा रहा है।
  • अपनी सुविधा और अपने मर्जी के अनुसार हम शॉपिंग करने के बाद पेमेंट करने की आजादी पाते हैं।
  • आप प्रोडक्ट और उनके कीमत की तुलना भी कई सारी अन्य ई-कॉमर्स वेबसाइट पर कर सकते है और अपने मुताबिक डील प्राप्त कर सकते हैं।
  • लगभग सभी प्रकार के इ कॉमर्स वेबसाइट पर हमें इसी रिटर्न पॉलिसी मिलती है प्रोडक्ट पसंद ना आने पर या फिर प्रोडक्ट में कोई डिफेक्ट मिलने पर हम अपने प्रोडक्ट को आसानी से रिटर्न कर सकते है और उसके जगह पर रिप्लेसमेंट भी पा सकते है। इसके अतिरिक्त अगर आप प्रोडक्ट से  सर्टिफाइड नहीं है तो आप प्रोडक्ट वापस करके अपना पैसा भी हंड्रेड परसेंट गारंटी के साथ प्राप्त कर सकते हैं।

ई-कॉमर्स वेबसाइट और एप्लीकेशन के नुकसान – Disadvantages of E-commerce in Hindi

ई-कॉमर्स के कुछ नुकसान भी है और उनकी जानकारी इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है।

  • कभी-कभी हमें ऑनलाइन शॉपिंग करने के बाद प्रोडक्ट में डिफेक्ट मिल जाता है और इससे ग्राहक पर बिल्कुल नेगेटिव असर पड़ता है।
  • प्रोडक्ट की डिलीवरी के लिए हमें लंबा समय वेट करना पड़ता है और कई बार तो डिलीवरी में हफ्ते और 10 दिन का भी समय लग जाता है।
  • कई मायनों में कई सारे ई-कॉमर्स वेबसाइट पर शॉपिंग करना सुरक्षित नहीं रहता और इससे हैकिंग का खतरा बना रहता है।
  • ज्यादातर आज भी ग्राहकों को ई-कॉमर्स वेबसाइट पर विश्वास नहीं होता है क्योंकि कई सारी अन्य समस्याएं भी हमें ई-कॉमर्स वेबसाइटों पर फेस करने को मिलती है।

read also- How to Pay By Emi Online Amazon Flipkart

FAQ about E-Commerce kya hai

Q: भारत में ई कॉमर्स कंपनी सबसे पहले कौन सी थी?

ANS सबसे पहले ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन आई थी और आज भी अमेजॉन हमारे देश में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में सबसे नंबर वन ई-कॉमर्स कंपनी बनी हुई है।

Q: ई-कॉमर्स का भविष्य?

ANS आज के समय में ई-कॉमर्स का व्यापार बहुत ही विस्तृत हो चुका है और कई गुना विस्तार व्यापार का हुआ है। आने वाले समय में ई-कॉमर्स बिजनेस का भविष्य बहुत ही सुनहरा है।

Q: ई-कॉमर्स कंपनी हमारे भारत में कौन-कौन सी है?

ANS  अमेजॉन, फ्लिपकार्ट, शोपिफाई, मिंत्रा और इतना ही नहीं स्नैपडील जैसी कई सारी कंपनियां हमारे देश में ई कॉमर्स की लिस्ट में सबसे टॉप पर हैं।

Q: क्या आज के समय में ई-कॉमर्स कंपनियों के वेबसाइट और एप्लीकेशन के जरिए शॉपिंग करना सुरक्षित?

ANS नई ई कॉमर्स कंपनियों पर विश्वास नहीं कर सकते है परंतु हां आज भी हमारे देश में बहुत सारे ई-कॉमर्स कंपनियां पुरानी है और उन पर लोगों का विश्वास बना हुआ है। अर्थात हम एक बार को कह सकते है कि आज के समय में ई-कॉमर्स वेबसाइट और एप्लीकेशन के जरिए शॉपिंग करना पहले के मुकाबले सुरक्षित है।

Q: ई-कॉमर्स पर शॉपिंग करने का सबसे बड़ा फायदा क्या है?

ANS ई-कॉमर्स के जरिए शॉपिंग करने पर हमें कई सारे आप पर मिलते है और फेस्टिव सीजन पर तो  70% से लेकर 80% के ऊपर तक का डिस्काउंट मिलता है।

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने आप सभी लोगों को E Commerce Kya Hai ? और ई-कॉमर्स से शॉपिंग कैसे करें? इस विषय पर विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान की हुई है। उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई  आज की यह जानकारी आपके लिए काफी हेल्पफुल रही होगी।

 अगर आपको आज का हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। ताकि उन लोगों को भी आप के जरिए इस रोचक जानकारी के बारे में पता चल सके।

 अगर आपके मन में आज के इस विषय से संबंधित कोई भी सवाल या फिर सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते है। आर्टिकल शुरू से लेकर अंत तक पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद और आपका कीमती समय शुभ हो। 

Share on:

मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं?, आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। धन्यवाद Gmail ID - [email protected]

Leave a Comment