Cricket In Hindi Name – क्रिकेट को हिंदी में क्या कहते हैं

cricket in hindi name क्रिकेट भारत के कुछ सबसे प्रचलित खेलों में से एक है अगर आप भारत के निवासी है तो अपने इलाके में इस खेल का आकर्षण अपने युवा लोगों के बीच देखा होगा। क्रिकेट एक बहुत ही पुराना खेल है जिसे अंग्रेज सभ्यता द्वारा भारत में शुरू किया गया था

आज केवल भारत ही नहीं विश्व के विभिन्न प्रकार के देश क्रिकेट की प्रतियोगिता में भाग लेते हैं और इतनी प्रचलिता होने के बावजूद बहुत कम लोग होंगे जिन्हें cricket in hindi name के बारे में जानकारी होगी अगर आप इस खेल के हिंदी अर्थ को समझना चाहते है तो हमारे इस लेख के साथ अंत तक बने रहे। 

आज से लगभग 150 साल पुराने क्रिकेट नाम के इस खेल को विश्व भर में विभिन्न प्रकार का नाम दिया गया है मगर इस खेल को भारतीय संस्कृति द्वारा हिंदी भाषा में क्या नाम दिया गया है यह बहुत कम लोगों को पता है। आज cricket in hindi name के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए इस खेल के हिंदी अस्तित्व की समझ लोगों के बीच जागृत की जाएगी। 

क्रिकेट खेला क्या है

आपको बता दें कि जिस अंग्रेज सरकार ने भारत पर और विश्व के विभिन्न देशों पर किसी जमाने में राज किया था उन्होंने ठंड के दिनों में धूप सेकने के लिए एक खेल की खोज भी की थी जिस खेल को अंग्रेजी में क्रिकेट का नाम दिया गया।

यह खेल भारत में 1844 में शुरू हुआ जब 3 फीट छोटी एक लकड़ी के टुकड़े को हाथ में पकड़ कर खिलाड़ी एक स्थान पर खड़े हो जाते थे और दूसरा खिलाड़ी एक छोटी सी केंद्र उनकी ओर उछलता था और सामने वाले व्यक्ति को अपने लकड़ी के टुकड़े से इस गेंद को इस तरह मारना था कि वह सीधे किसी व्यक्ति के हाथ में ना जाए और निर्धारित की गई सीमा को छू दे। 

जब इस खेल की शुरुआत हुई तो लोगों को यह काफी मजेदार लगा। इस खेल को अंग्रेजों ने भारत में भी बड़े उत्साह से खेला 1844 में शुरू किए गए इस खेल में विभिन्न प्रकार के परिवर्तन करने के बाद 1877 में अंतरराष्ट्रीय रूप से इस खेल का आयोजन करवाया जाने लगा। भारत देश भी 1877 से इस खेल में हिस्सा ले रहा है और विश्व के विभिन्न देशों के बीच क्रिकेट के खेल में अपनी एक अनूठी पहचान बनाए हुए हैं। 

cricket in hindi name

क्रिकेट के खेल के बारे में तो लगभग हर कोई जानता है मगर जिस प्रकार अंग्रेजी के प्रतीक शब्द का एक हिंदी तात्पर्य होता है उसी तरह क्रिकेट का हिंदी तात्पर्य क्या है यह बहुत कम लोग समझते है। इस संदर्भ में जानकारी एकत्रित करते हुए भारतीय स्थानीय इलाकों से हमें कुल 4 नाम पता चले है, जो हिंदी भाषा के है और क्रिकेट को संबोधित करते हैं – 

  • गोल गट्टम लकड़ बग्घम दे दना दन प्रतियोगिता। 
  • लंब दंड गोल पिंड धर पकड़ फेंक मार प्रतियोगिता। 
  • पकड़ दंडू मार मंडू दे दना दन प्रतियोगिता। 
  • गोल गट्टम लकड़ पट्टम दे दना दन प्रतियोगिता। 

आपको हम स्पष्ट रूप से यह बता देना चाहते हैं कि यह 4 नाम अधिकारिक तौर पर किसी पुस्तक या किसी अधिकारी क्षेत्र के कागज पर नहीं लिखी है इसे केवल स्थानीय लोगों के द्वारा बनाया गया है। 

इसे भी पड़े – 2022 में दुनिया का Sabse Accha फ्री Game कौन सा है

क्रिकेट बैट नेम इन हिंदी

जब आप क्रिकेट का खेल खेलने जाएंगे तब मुख्य तौर पर उसमें बॉल और बैट जैसे शब्द सुनने को मिलेंगे, जो इस खेल को खेलने के लिए काफी आवश्यक है। ऊपर इस खेल के बारे में चर्चा करने के दौरान हमने आपको लकड़ी के टुकड़े के बारे में बताया होगा जो इस खेल का एक अध्ययन नहीं सा है उसे ही बैट कहा जाता है। 

क्रिकेट बैट को हिंदी में क्या कहते है यह जानना आवश्यक है तो हम आपको बता दें कि इसे हिंदी भाषा में बल्ला कहा जाता है। अर्थात जिस लकड़ी के टुकड़े से आप किसी क्रिकेट के खेल में गेंद को मारते हैं उससे लकड़ी के टुकड़े को बल्ला कहकर संबोधित किया जाता है। 

क्रिकेट में बॉल का नेम

ऊपर बताई गई जानकारी को पढ़ने के बाद बॉल को हिंदी में क्या कहते हैं यह जानने का मन अवश्य हो रहा होगा तो हम आपको बता दें कि बॉल को हिंदी में गेंद कहते हैं। 

यह एक साधारण में गेंद की तरह नहीं होती है अंतरराष्ट्रीय खेल में गेंद का इस्तेमाल किया जाता है वह काफी मेहनत से बनाई जाती है जो बहुत मजबूत होती है। इसके अलावा आपको बता दें कि क्रिकेट का खेल खेलने के लिए आज हमारे बीच विभिन्न प्रकार के गेंद मौजूद है अपने इलाके में अक्सर बच्चे रबड़ की एक टपकने वाली गेंद के साथ इस खेल को बड़े उत्साह से खेलते हैं। 

इसे भी जाने – Who Is The King Of Ipl – आईपीएल का किंग कौन है 2022 में

क्रिकेट का आविष्कार कैसे हुआ

जैसा कि हमने आपको बताया आज से लगभग 400 साल पहले क्रिकेट खेल का आविष्कार ठंड के मौसम में धूप सेकने के लिए किया गया था। इस खेल को सबसे पहले ब्रिटेन के राजकुमार प्रिंस एडवर्ड ने 1301 में शुरू किया था। घर के सामने साधारण तौर पर यह खेल एक छोटी सी लकड़ी के टुकड़े से और एक छोटे से गेंद के जरिए खेला जाता था उस राज महल के लोगों को यह खेल इतना पसंद आने लगा कि कई सालों बाद जब इंग्लैंड के लोगों को ठंड के मौसम में यह खेल खेलने की आदत हो गई तो 1727 में Charles Linux वह पहले व्यक्ति बने जिन्होंने इस खेल के नियम को सूचीबद्ध किया। 

उसके बाद धीरे-धीरे अंग्रेज जिस जगह जाते थे वह इस खेल को खेला करते थे। 1844 में यह खेल अंग्रेजो के द्वारा सर्वप्रथम भारत में खेला गया उस वक्त इस खेल में बड़े अजीब से नियम हुआ करते थे धीरे-धीरे नियम में बहुत परिवर्तन करने के बाद 1877 में वह क्रिकेट खेल सबके समक्ष आया जिसे आज आप देख रहे हैं। 

आज विश्व का तीसरा सबसे प्रचलित खेल क्रिकेट बन चुका है और भारत में क्रिकेट सबसे प्रचलित खेल के रूप में कई सालों से लोगों के दिल पर राज कर रहा है। आज से तकरीबन 400 साल पहले इंग्लैंड की गलियों में शुरू हुआ यह खेल आज भारत के युवाओं का धड़कन बन चुका है। 

क्रिकेट इन हिंदी नेम? से संबंधित पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न एवं उनके उत्तर

यहां पर हमने क्रिकेट को हिंदी में क्या कहते हैं? से संबंधित आप लोगों द्वारा पूछे जाने वाले कुछ अन्य महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर दिए हुए हैं एक बार इन प्रश्नोत्तर को भी जरूर पढ़े।

Q. भारत में क्रिकेट का खेल कब शुरू हुआ?

भारत में क्रिकेट का खेल 1844 में शुरू हुआ।

Q. क्रिकेट का पहला अंतर्राष्ट्रीय मुकाबला कब शुरू हुआ?

वैसे तो इस खेल का अंतरराष्ट्रीय मुकाबला 1877 में शुरू हुआ मगर इंग्लैंड के अलावा इस खेल को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कोई खास देशों के साथ नहीं खेला जाता था। जिस वनडे मैच को आप आज अपने टीवी और मोबाइल में देख रहे हैं वह सबसे पहले 5 जनवरी 1971 को इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था।

Q. क्रिकेट को हिंदी में क्या कहते हैं?

क्रिकेट को हिंदी में गोल गट्टम लकड़ बग्घम दे दना दन प्रतियोगिता और लंब दंड गोल पिंड धर पकड़ फेंक मार प्रतियोगिता कहा जाता है।

Q. आज क्रिकेट कहां कहां खेला जाता है?

आज क्रिकेट भारत पाकिस्तान अफगानिस्तान बांग्लादेश ऑस्ट्रेलिया श्रीलंका साउथ अफ्रीका जैसे विभिन्न देशों में खेला जाता है और सभी देशों के खेल को देखकर यह अनुमान लगाया जाता है कि भारत इस खेल में सबसे अच्छा है।

निष्कर्ष

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को Cricket In Hindi Name के बारे में विस्तार पूर्वकजानकारी प्रदान की हुई है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा प्रस्तुत की गई आज की यह महत्वपूर्ण जानकारी आपके लिए काफी ज्यादा उपयोगी साबित होगी और आपको यह जानकारी आसानी से समझ में भी आ गई होगी।

अगर आपको हमारी आज की यह जानकारी पसंद आई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि अन्य लोगों को भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में आप के जरिए पता चल सके एवं उन्हें ऐसा ही महत्वपूर्ण लेख पढ़ने के लिए कई और बार-बार भटकने की भी बिल्कुल भी आवश्यकता ना हो।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमती समय हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.