Bharat Ka Antim Governor General kaun Tha – भारत के अंतिम गवर्नर जनरल कौन थे

नमस्कार दोस्तों अगर आप भारत के अंतिम Governor General के बारे में जानना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पर आए हैं। भारत के लगभग सभी एग्जाम में इस टॉपिक से प्रश्न पूछे जाते हैं। हालांकि यह टॉपिक थोड़ा कन्फ्यूजन भरा रहता है क्योंकि भारत के Governor General का पद आज से कई साल पहले अंग्रेजों के शासन काल में प्रमुख पद माना जाता था।

अंग्रेजों को भारत छोड़े कई साल बीत चुका है फिर भी Governor General के बारे में भारतीय इतिहास में पढ़ाया जाता है। इसीलिए आज हम इस पोस्ट के माध्यम से Bharat Ka Antim Governor General Kaun Tha, Governor General क्या होता है और स्वतंत्र भारत के प्रथम व अंतिम Governor General कौन थे के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं। अगर आप एग्जाम की तैयारी करते हैं तो इस पोस्ट को पढ़कर अपनी जानकारी को बढ़ा सकते हैं।

भारत के अंतिम Governor General के बारे में जानने से पहले आइए जानते है कि आखिर Governor General क्या होता है।

Governor General क्या होता है?

भारत पर जब ईस्ट इंडिया कंपनी के द्वारा शासन की शुरुआत किया जा रहा था तो पूरे भारत को सुचारू रूप से चलाने के लिए एक सर्वोच्च प्रशासनिक पद का निर्माण किया गया जिसे Governor General कहा जाता था। स्वतंत्रता प्राप्त होने तक गर्वनर जनरल के पद पर सिर्फ अंग्रेजो का अधिकार था। वर्तमान भारत में जिस तरह से प्रधानमंत्री का पद होता है उसी तरह ईस्ट इंडिया कंपनी के शासन में Governor General का पद होता था। Governor General का काम प्रशासनिक सेवा संभालना और ईस्ट इंडिया कंपनी के द्वारा दिए जाने वाला दिशा निर्देश को पूरे भारत में लागू करवाना होता था।

भारत का प्रथम Governor General 1833 ईस्वी में लार्ड विलियम बेंटिक को बनाया गया था जिनके शासन काल में कोई भी युद्ध नही लड़ा गया था। 

इसे भी पढ़े –

Bharat Ka Antim Governor General Kaun Tha?

भारत का अंतिम Governor General लॉर्ड कैनिंग थे, जिन्होंने 28 फ़रवरी 1856 से 1 नवम्बर 1858 तक Governor General के पद पर कार्यरत रहे। भारत के अंतिम Governor General लॉर्ड कैनिंग का जन्म 14 दिसम्बर 1812 को लंदन (इंग्लैंड) में हुआ था तथा इनकी मृत्यु 17 जून 1862 को हुआ था। इन्ही के शासनकाल में 1857 का विद्रोह हुआ था इस विद्रोह के बाद से ही भारत का शासन ईस्ट इंडिया कंपनी के हाथों से लेकर ब्रिटिश सरकार के हाथों में दे दिया गया था। 

ब्रिटिश सरकार ने भारत में शासन की शुरुआत करने के लिए ईस्ट इंडिया कंपनी के द्वारा नियुक्त किया गया सर्वोच्च पद Governor General को समाप्त कर दिया और उनकी जगह पर सर्वोच्च पद के रूप में वायसराय पद की शुरुआत किया गया। लॉर्ड कैनिंग को भारत का पहला वायसराय बनाया गया था जिनका कार्यकाल 1858 ईस्वी से 1862 ईस्वी तक था।

जब 1947 में भारत आजाद हो गया था तो ब्रिटिश शासन ने एक बार फिर से वायसराय के पद को समाप्त करते हुए आजाद भारत के संविधान निर्माण होने तक Governor General के पद लागू कर दिया था।

स्वतंत्र भारत के अंतिम Governor General कौन थे?

स्वतंत्र भारत के अंतिम Governor General सी राजगोपालाचारी थे। वे 1948 से 26 जनवरी 1950 तक स्वतंत्र भारत के अंतिम Governor General के पद पर आसीन रहे। वे भारत के इतिहास में एकमात्र भारतीय  Governor General बने थे जिनका पूरा नाम चक्रवर्ती राजगोपालाचारी था। इनका जन्म 9 दिसंबर 1878 हो हुआ था जबकि इनकी मृत्यु 25 दिसंबर 1972 को चेन्नई में हुआ था।

Governor General और वायसराय में क्या अंतर है।

  • भारत में जब ईस्ट इण्डिया कम्पनी शासन में था तो उनके सर्वोच्च पद को Governor General कहा जाता था जबकि ईस्ट इण्डिया कम्पनी के हाथो से ब्रिटिश सरकार शासन में आया तो Governor General के पद को समाप्त कर दिया और वे वायसराय को सर्वोच्च पद के रूप में स्थापित किया।
  • Governor General ईस्ट इण्डिया कम्पनी को प्रतिनिधित्व करता था जबकि वायसराय सीधे इंग्लैंड के क्राउन (Queen) को प्रतिनिधित्व करता था।
  • भारत के अंतिम Governor General लॉर्ड विलियम बेंटिक को ही भारत का प्रथम वायसराय बनाया गया था।

Governor General से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

Q. भारत के अंतिम गवर्नर जनरल कौन थे?

भारत के अंतिम गवर्नर जनरल लॉर्ड कैनिंग थे! जिन्होंने 28 फ़रवरी 1856 से 1 नवम्बर 1858 तक गवर्नर जनरल के पद को संभाला था इसके बाद वायसराय के पद पर विराजमान हुए थे।

Q. भारत के प्रथम Governor General कौन थे?

भारत के प्रथम Governor General लार्ड विलियम बेंटिक थे जिन्होंने 1833 में कार्यभार संभाला था।

Q. स्वतंत्र भारत का प्रथम Governor General कौन था?

स्वतंत्र भारत का प्रथम Governor General माउंटबेटन थे जिन्होंने 1947 से 1948 तक Governor General का कार्यकाल संभाला था।

Q. भारत के प्रथम भारतीय Governor General कौन थे?

भारत के प्रथम व एकमात्र भारतीय Governor General सी राजगोपालाचारी थे जिन्होंने 1948 से 26 जनवरी 1950 तक भारत के Governor General के पद पर कार्यरत रहे।

Q. भारत के प्रथम वायसराय कौन था?

भारत में 1857 के विद्रोह के बाद Governor General के पद को समाप्त करके वायसराय पद को बनाया गया इसलिए भारत के अंतिम Governor General लॉर्ड विलियम बेंटिक ही भारत के प्रथम वायसराय भी थे।

Q. स्वतंत्र भारत में Governor General का पद कब समाप्त किया गया?

स्वतंत्र भारत में Governor General का पद 26 जनवरी 1950 से समाप्त कर दिया गया क्योंकि इसी दिन भारतीय संविधान को लागू किया गया था।

निष्कर्ष :-

इस पोस्ट को अंत तक पढ़ने के बाद हम आशा करते हैं कि आपको “Bharat Ka Antim Governor General Kaun Tha” से सम्बंधित जानकारी लाभदायक लगी होंगी। इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब आसान शब्दों में देने की कोशिश की है।

इस पोस्ट में Bharat Ka Antim Governor General Kaun Tha के अलावा Governor General क्या है और प्रथम गवर्नर जनरल कौन थे इत्यादि टॉपिक के बारे में विस्तार से बताया गया है।

अगर आप इस जानकारी से संतुष्ट है तो आप अपने सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इस पोस्ट को शेयर जरूर करें ताकि आपके दोस्तो को भी Governor General क्या है के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.