Alu Full Form In Hindi – ए एल यू को हिंदी में क्या कहते हैं

Alu Full Form In Hindi जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं कंप्यूटर किसी एक हार्डवेयर पार्ट्स से नहीं बना है बल्कि कई सारे अलग-अलग पार्ट से कंप्यूटर का निर्माण हुआ है। कंप्यूटर में बहुत सारे अलग-अलग पार्ट होते हैं और जिस में से सबसे महत्वपूर्ण पार्ट ए एल यू भी होता है इसे कंप्यूटर का पावर हब भी कहा जाता है। 

आज हम अपने इस महत्वपूर्ण लेख में कंप्यूटर के इसी महत्वपूर्ण पार्ट के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान करने वाले हैं और आपको आज के इस लेख में ए एल यू का फुल फॉर्म हिंदी में क्या होता है? के बारे में भी जानकारी मिलेगी। 

एवं ए एल यू का क्या क्या महत्व होता है? के बारे में भी आप इसी लेख के माध्यम से जानकारी जानोगे। अगर आपको आज के इस महत्वपूर्ण लेख के बारे में जानना है तो ऐसे में आपको हमारा यह लेख शुरू से लेकर अंतिम तक जरूर पढ़ना चाहिए क्योंकि आज आपको कंप्यूटर के इस महत्वपूर्ण भाग के बारे में पूरी विस्तृत जानकारी मिलने वाली है। 

Alu Full Form – ए एल यू का फुल फॉर्म क्या है 

कई सारे लोगों को ए एल यू का फुल फॉर्म जानना होता है परंतु उन्हें इस का फुल फॉर्म पता नहीं होता तो चलिए हम आपको बताते हैं का फुल फॉर्म क्या होता है। ए एल यू का फुल फॉर्म “Arithmetic Logical Unit ” होता हैं। जिसका हिंदी में प्रोनॉन्सिएशन ‘अर्थमैटिक लॉजिकल यूनिट’ के रूप में कर सकते हो।

Alu Full Form In Hindi – ए एल यू का हिंदी में फुल फॉर्म

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया ए एल यू कंप्यूटर का एक अभिन्न अंग है तो चलिए अब हम अब ए एल यू का हिंदी में फुल फॉर्म क्या होता है? के बारे में जान लेते हैं। इसका हिंदी में फुल फॉर्म इसे हम हिंदी भाषा में ‘अंकगणित तर्क इकाई‘ कहते हैं। ‘अंकगणित तर्क इकाई’ को ही इसका हिंदी फुल फॉर्म कहा जाता हैं।

ए एल यू क्या है

अर्थमैटिक लॉजिकल यूनिट कंप्यूटर के प्रोसेसर का एक अभिन्न अंग है अगर यह ना हो तो कंप्यूटर किसी भी प्रकार के ऑपरेटिंग कमांड को पूरा नहीं कर पाएगा। सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट अर्थात सीपीयू में मुख्यता 3 भाग होते हैं, उन तीनों भागों में से एक भाग अर्थमेटिक लॉजिकल यूनिट (ALU) भी होता है। इसके अलावा सीपीयू के जो अन्य दो भाग हैं वो कण्ट्रोल यूनिट तथा मेमोरी यूनिट हैं। 

ए एल यू किसे कहते हैं

सीपीयू के मुख्यतः तीन अलग-अलग भाग्य होते हैं जिसमें से ए एल यू इसका एक अभिन्न भाग है। अर्थमैटिक लॉजिकल यूनिट एक प्रकार से इलेक्ट्रिक सर्किट होता है और इसका मुख्य कार्य कंप्यूटर में जब हम किसी भी प्रकार का गणना का काम करते हैं जैसे कि जोड़ना, घटाना, गुणा, भाग करना आदि  इसके जरिए यह सभी कार्य संभव हो पाते हैं अगर कंप्यूटर में ए एल यू ना हो तो इस प्रकार के  सभी कमांड अधूरे रहेंगे और कंप्यूटर इन कमांड को समझ नहीं पाएगा और ना ही उसे ऑपरेट कर पाएगा।

ALU का कार्य

जैसा कि इसके फुल फॉर्म सही पता चलता है कि इसका मुख्य कार्य गणित के क्षेत्र में होता है। दोस्तों कंप्यूटर में जितने भी मैथमेटिकल से जुड़े हुए कार्यों को किए जाते हैं उन सभी कामों को इसी प्रोसेसिंग यूनिट के माध्यम से पूरा किया जाता है और हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ए एल यू के माध्यम से कंप्यूटर में आप जोड़, घटाव, गुणा तथा भाग आदि को कर सकते हो

अगर कंप्यूटर में ए एल यू ना हो तो आप कभी भी मैथमेटिकल से संबंधित काम को नहीं कर सकते हो। इससे यह पता चलता है कि ए एल यू का मुख्य कार्य कंप्यूटर में गणितीय कार्यों को अंजाम देने का ही होता है। इसके अलावा ए.एल.यू के द्वारा तार्किक कार्यों को भी किया जाता है जैसे दो संख्याओं के बीच तुलना करना तथा यह बताना कि कौन सी संख्या बड़ी है, कौन सी संख्या छोटी है तथा कौन सी संख्या बराबर है, अंकगणित से संबंधित सभी कार्यों को अर्थमेटिक लॉजिकल यूनिट (ALU) के द्वारा ही किया जाता है। 

कंप्यूटर में ए एल यू का महत्व

अब चलिए कंप्यूटर में हम ए एल यू के महत्व को समझ लेते हैं। जिसकी जानकारी हमने नीचे पॉइंट के माध्यम से आप को समझाने का प्रयास किया हुआ है।

  • जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं कंप्यूटर को हिंदी में संगणक कहा जाता है मतलब की कंप्यूटर  गणना करने के लिए जाना जाता है और इसीलिए कंप्यूटर की गणना को सटीक बनाने हेतु ए एल यू का महत्व बहुत ही ज्यादा है।
  • कंप्यूटर के जितने भी घटक हैं तथा कंप्यूटर की जितनी भी इकाइयां हैं वह सभी कंप्यूटर के अलग-अलग कामों को करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है परंतु ए एल यू भी कंप्यूटर के सभी महत्वपूर्ण इकाइयों में से एक है इसके बिना कंप्यूटर का कोई वजूद नहीं है।
  • वाणिज्य से जुड़े क्षेत्रों तथा बैंकिंग से जुड़े सेक्टरों में कम्प्यूटरों का प्रयोग ALU के द्वारा की संभव हो पाया हैं।
  • अर्थमैटिक लॉजिक यूनिट के प्रमुख कार्यों को देखकर यह आसानी से कहा जा सकता है कि कंप्यूटर का आधार अर्थमैटिक लॉजिकल यूनिट अर्थात ए एल यू होता है। 

ए एल यू का प्रस्ताव पहली बार किसने रखा

अब जब हमने ए एल यू के बारे में इतनी महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे में जान लिया है तो सबसे पहले आप हमें इसका प्रस्ताव पहली बार किस के माध्यम से रखा गया इसके बारे में भी जान लेना चाहिए  क्योंकि अगर इसका प्रस्ताव नहीं रखा गया होता तो शायद आज कंप्यूटर में ए एल यू की महत्वता नहीं होती और हम कंप्यूटर में गणितीय कार्यों को सटीकता से नहीं कर पाते तो चलिए जानते हैं कि ए एल यू का प्रस्ताव सर्वप्रथम किसने रखा था। सर्वप्रथम ALU का प्रस्ताव सन 1945 ईस्वी में “गणितज्ञ जॉन वॉन न्यूमैन” ने दिया था।

ए एल यू और सीपीयू में अंतर

हमने देखा है कि कई सारे लोग सीपीयू और है या ए एल यू में काफी कंफ्यूज हो जाते हैं। अगर आपको भी ए एल यू और सीपीयू में क्या अंतर है यह समझना आसान नहीं लगता है तो कोई बात नहीं। माना कि कंप्यूटर में सीपीयू और ए एल यू अपने अपने स्थान पर बहुत ही महत्वपूर्ण कार्यों को अंजाम देते हैं परंतु इन दोनों का कार्य एक दूसरे से बिल्कुल अलग है। चलिए अब हम आप सभी लोगों को सीपीयू और ए एल यू में क्या अंतर है इसके बारे में समझाने का प्रयास करते हैं जिसकी जानकारी हमने नीचे पॉइंट के माध्यम से आपको बताई हुई है।

  • अगर कंप्यूटर में ए एल यू इकाई ना हो तो कंप्यूटर में गणितीय कार्यों को करना नामुमकिन है।
  • वही कंप्यूटर में दिए गए कमांड को कंप्यूटर की भाषा में पहुंचाने एवं उसका आउटपुट देने के लिए सीपीयू जिम्मेदार होता है।
  • कंप्यूटर में अगर सीपीयू ना हो तो कंप्यूटर में किसी भी प्रकार के कमांड को नहीं दिया जा सकता है क्योंकि बिना सीपीयू के हमारा कंप्यूटर कोई भी कमांड नहीं समझेगा।
  • अगर कंप्यूटर में अर्थमैटिकल कार्यों को करने की आवश्यकता ना हो तो ए एल यू की भी कोई जरूरत नहीं होगी।
  •  कंप्यूटर को कम समय में तीव्रता से और सटीकता से गणना करने के लिए जाना जाता है अर्थात ए एल यू के बिना कंप्यूटर इन कार्यों को नहीं कर सकता है।
  • जब हम कंप्यूटर में किसी भी प्रकार के अर्थमैटिकल कमांड को देते हैं तो सीपीयू उस कमांड को कंप्यूटर को अपनी भाषा में इनपुट देता है फिर उसके बाद कंप्यूटर हमें हमारे द्वारा दिए गए  ए एल यू के कमांड को समझता है और फिर उसके बाद सीपीयू को इसका सही और सटीक आउटपुट प्रदान करता है।
  • कंप्यूटर में सीपीयू और ए एल यू दोनों की महत्वपूर्ण पार्ट होते हैं इनके बिना कंप्यूटर मात्र एक  टीवी स्क्रीन की तरह ही काम करेगा।

क्या ALU एक हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर है

कई सारे लोग ए एल यू को कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर के दृष्टिकोण से देखते हैं और कई सारे लोग इसे एक  कंप्यूटर में हार्डवेयर के रूप में देखते हैं और शायद इसीलिए इंटरनेट पर लोग ए एल यू सॉफ्टवेयर है या फिर हार्डवेयर इसके बारे में जानकारी जानना चाहते हैं। हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ए एल यू एक प्रकार से एक अंकगणित-तर्क इकाई (ALU) एक कंप्यूटर प्रोसेसर (CPU) का हिस्सा है जो अंकगणित और तर्क संचालन करता है। आधुनिक सीपीयू में बहुत शक्तिशाली और जटिल ALU होते हैं। ALU के अलावा, आधुनिक CPU में एक कंट्रोल यूनिट (CU) होती है।

ए एल यू फुल फॉर्म इन हिंदी से संबंधित पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न एवं उनके उत्तर

ए एल यू का हिंदी में अर्थ क्या होता है? से संबंधित हमने यहां पर आप लोगों द्वारा पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्नों को उठाया है और उनका सटीक उत्तर यहां पर दिया है कृपया इन्हें जरूर पढ़े।

Q. ए एल यू का फुल फॉर्म क्या होता है?

ALU का फुल फॉर्म “Arithmetic Logical Unit ” होता हैं।

Q. ए एल यू का जनक किसे कहा जाता है?

इसका जनक महान गणितज्ञ जॉन वॉन न्यूमैन को कहा जाता है।

Q. ए एल यू का कंप्यूटर में कहां उपयोग किया जाता है?

ए एल यू का कंप्यूटर में अर्थ मैट्रिक के लिए किया जाता है।

Q. क्या कंप्यूटर में ए एल यू का उपयोग अनिवार्य है?

कंप्यूटर में ए एल यू का उपयोग अनिवार्य है अगर आपको किसी भी प्रकार की गणना को करना है तो।

निष्कर्ष

आज हमने अपने इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को Alu Full Form In Hindi के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा प्रस्तुत की गई आज की यह जानकारी इस विषय पर आपको आसानी से समझ में भी आई होगी और आपके काम की भी होगी।

ए एल यू का हिंदी में अर्थ? के ऊपर आधारित हमारा यह लेख अगर आपको पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी प्रकार के सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि आप जैसे ही अन्य लोगों को भी इस महत्वपूर्ण विषय पर आप के जरिए जानकारी पता चल सके एवं उन्हें इस प्रकार की जानकारी को पढ़ने के लिए कहीं और भटकने की बिल्कुल भी आवश्यकता ना हो।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेखकों अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमती समय शुभ हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.