अटल पेंशन योजना क्या है, इसके क्या फायदे हैं तथा इसमें कैसे आवेदन करें (पूरी जानकारी) 2020

अटल पेंशन योजना क्या है, इसके क्या फायदे हैं तथा इसमें कैसे आवेदन करें (पूरी जानकारी)

भारत की अधिकतर जनसँख्या असंगठित कामगारों की श्रेणी में आती है. ऐसे में कामगारों की वृद्धावस्था में आय की सुरक्षा चिंता का विषय है. जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि अटल पेंशन योजना एक पेंशन योजना है. यह योजना असंगठित कामगारों के दीर्घ जीवन सम्बन्धी समस्याओं को ख़त्म करने तथा उन्हें प्रोत्साहित करने हेतु बनायीं गयी है.

इस आर्टिकल में हम आपको अटल पेंशन योजना के बारे में सारी महत्वपूर्ण जानकारियाँ देने वाले हैं जैसे अटल पेंशन योजना क्या है, इसके लिए क्या योग्यता है, इसमें कैसे जुड़ते हैं तथा इसके क्या लाभ हैं इत्यादि.

अटल पेंशन योजना क्या है?

जैसा कि हमने आपको बताया कि Atal Pension Yojana (APY) एक पेंशन योजना है जिसकी शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 1 मई 2015 में की गई थी. इस योजना के तहत 60 साल की उम्र के बाद 1000 रूपये या 2000 रूपए या 3000 रूपए या 4000 रूपए या 5000 रूपए की न्यूनतम पेंशन ग्राहकों द्वारा योगदान के आधार पर दिया जाएगा.

इस योजना का लाभ कोई भी भारतीय नागरिक ले सकता है. इस योजना के तहत पात्रता की उम्र न्यूनतम 18 वर्ष से 40 वर्ष है और जब 60 वर्ष के हो जाते हैं तब यह पेंशन की राशि प्रतिमाह मिलने लगती है. अर्थात इसमें निवेश की न्यूनतम अवधि 20 वर्ष है.

इसमें जो निवेश रहता है वह आपकी पेंशन राशि और आपकी उम्र पर निर्भर करता है. जैसे कि आप 1000 रूपए महिना पेंशन चाहते हैं तो कम पैसे जमा करने होंगे वहीँ आपको 5000 रूपए महीने वाली स्कीम चाहिए तो आपको ज्यादा पैसे निवेश करने होंगे. बिलकुल ऐसे ही यदि आप 18 वर्ष की आयु से इस योजना से जुड़ते हैं तो आपको कम कम राशि निवेश करना होगा 60 वर्ष की आयु तक और यदि आप 40 वर्ष के हैं तो आपको थोड़ी ज्यादा राशि निवेश करना होगा 60 वर्ष की उम्र तक.

अटल पेंशन योजना के लिए पात्रता

  1. व्यक्ति भारत का नागरिक हो.
  2. व्यक्ति की आयु 18 वर्ष से 40 वर्ष तक हो.
  3. पोस्ट ऑफिस में बचत खाता अथवा किसी अन्य बैंक में बचत खाता होना चाहिए.
  4. व्यक्ति किसी सामजिक सुरक्षा योजना का सदस्य न हो.
  5. व्यक्ति आयकर दाता न हो.

अटल पेंशन योजना हेतु आवेदन कैसे करें?

दोस्तों जैसा कि हमने आपको बताया कि इस योजना के लिए क्या पात्रता होना अनिवार्य है. तो इस योजना के तहत आपको आवेदन करना है तो अपनी बैंक शाखा जाएँ और वहां से अटल पेंशन योजना का फॉर्म ले लेवें. फॉर्म को अच्छी तरह से भर लें तथा उसे बैंक में जमा कर दें.

इसमें आधार नंबर अथवा मोबाइल नंबर आवश्यक नहीं है लेकिन यदि आप चाहते हैं कि योजना तथा खाते की जानकारी आपको मिलती रहे तो मोबाइल नंबर अवश्य भरें.

योजना के पैसे जमा कैसे करें?

जैसा कि हमने आपको बताया था कि इसमें आपको पैसे जमा करने होते हैं. अब सवाल ये है कि पैसे कहाँ जमा करने होते हैं. दोस्तों पैसे का योगदान ऑटो डेबिट के माध्यम से होता है अर्थात जितने पैसे आपके जमा होने हैं उन्हें खाते में रहने दें. वे पैसे आटोमेटिक बैंक द्वारा आपके खाते से डेबिट कर लिए जायेंगे.

पैसे जमा करने हेतु आप मासिक/ तिमाही/ छिमाही अंतराल चुन सकते हैं. यदि आप मासिक अन्तराल चुनते हैं महीने की शुरुआत से लेकर किसी भी दिन पैसे डेबिट कर लिए जाएंगे, तिमाही चुनते हैं तो तिमाही के पहले महीने के किसी भी दिन डेबिट हो जायेंगे और आप यदि छिमाही चुनते हैं तो छिमाही के पहले महीने के किसी भी दिन पैसे डेबिट हो जायेंगे.

कितनी राशि जमा करना होता है?

जैसा हमने बताया कि यह आधारित है व्यक्ति किस उम्र में इस योजना से जुड़ता है तथा इस पर भी आधारित है कि आप मासिक कितनी राशि चाहते हैं. यदि आप इसकी विस्तृत जानकारी देखना चाहते हैं तो नीचे दी हुई लिंक से चार्ट द्वारा इसकी विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

Link

अटल पेंशन योजना के महत्वपूर्ण बिंदु :

  • ग्राहक की आयु 60 वर्ष पूर्ण होने पर प्रतिमाह पेंशन योजना से जुड़े बैंक खाते में पेंशन की रकम आना शुरु हो जाती है.
  • ग्राहक की मृत्यु हो जाने पर उसके पति/पत्नी को यह धनराशि दी जाती है.
  • पति/पत्नी दोनों की मृत्यु हो जाने पर जुड़ी हुई पेंशन की राशि Nominee को दी जाती है.
  • यदि व्यक्ति 60 वर्ष से पहले इस योजना से बाहर निकलना चाहता है तो उसे सरकार सह योगदान की राशि नहीं प्रदान की जायेगी लेकिन व्यक्ति को उसके द्वारा जमा की गई पूर्ण राशि तथा उसमें अर्जित आय बैंक के चार्जों को काटकर ग्राहक को दे दी जायेगी.
  • एक व्यक्ति सिर्फ एक ही अटल पेंशन योजना खाता खोल सकता है. एक से अधिक खाते वर्जित हैं.
  • ग्राहक एक वर्ष के दौरान एक बार पेंशन की राशि को बढ़ाने या घटाने में सक्षम होता है.
  • ग्राहक को खाते की सक्रियता, खाते में शेष राशि, योगदान आदि के बारे में अलर्ट मोबाइल एसएमएस द्वारा समय समय पर दी जाती है.
  • व्यक्ति को वर्ष में एक बार पोस्ट के माध्यम से खाते की भौतिक जानकारी व्यक्ति के पते पर भेजी जाती है.
  • स्थान परिवर्तन के मामले में भी ऑटो डेबिट बिना रुकावट होता रहता है.
  • ग्राहक अप्रैल के महीने में एक वर्ष में एक बार ऑटो डेबिट मोड को बदल सकता है अर्थात मासिक/ तिमाही/ छिमाही कर सकता है.
  • अंशदान में देरी होने की अवस्था में ग्राहक को अतिरिक्त शुल्क भी देना होता है. यह शुल्क प्रतिमाह प्रति 100 रूपए में 1 रूपए के हिसाब से लिया जाता है.

निष्कर्ष:

दोस्तों उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा बताई गयी अटल पेंशन योजना की जानकारी पसंद आई होगी. यदि आप भी इस योजना से जुड़ना चाहते हैं तो यह आपके लिए अच्छा अवसर हो सकता है. इस आर्टिकल के माध्यम से तो आपको इससे जुड़े सारे सवालों के जवाब मिल गए होंगे तथा इस योजना के बारे में सारी महत्वपूर्ण जानकारियां भी हमने यहाँ उपलब्ध कराया है.

इस आर्टिकल को सोशल मीडिया में शेयर करना न भूले जिससे कि हमारे देश के अन्य नागरिक भी इस योजना के बारे में समझ सकें तथा इसका लाभ ले सकें. यदि आपको योजना सम्बंधित कोई भी सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं.

 

Leave a Comment